देश के वीरों को राष्ट्रपति ने किया सम्मानित, मरणोपरांत मिले सम्मान पर परिवार वालों की आखें हुई नम

देश के लिए अपना तन और मन न्यौछावर करने वाले वीर जवानों को आज राष्ट्रपति भवन में सम्मानित किया गया। इस सम्मान समारोह में ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्तमान सहित कई लोगों को सम्मानित किया गया। कई जवान के परिवार वालों को मरणोपरांत सम्मान दिया गया जबकि बाकी लोगों को उनके वैभवशाली और वीरतापूर्ण कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। हम दो ऐसे पड़ोसी देशों से घिरे हुए हैं जो हमेशा हमले की घात लगाकर बैठे रहते हैं ऐसे में हमारे जवान बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और अपनी जान की परवाह किये बिना ही देश की रक्षा करते हैं। देश के ऐसे ही वीर जवानों को आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों सम्मानित किया गया। 
27 फरवरी 2019 को पाकिस्तानी विमान को मार गिराने वाले ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्तमान को वीर चक्र से सम्मानित किया गया। पाकिस्तानी विमान का पीछा करते हुए वह पाक सीमा में प्रवेश कर गये थे जिसके बाद एक पाकिस्तानी मिसाइल उनके विमान को हिट कर दिया और अभिनंदन पाकिस्तानी सेना के गिरफ्त में आ गये। हालांकि भारत सरकार की सूझबूझ की वजह से अभिनंदन को बहुत जल्द भारत वापस बुला लिया गया। इस दौरान अभिनंदन ने अपना धैर्य और साहस नहीं खोया और पाकिस्तान में भी भारत का गौरव ऊंचा रखा। इस घटना के समय अभिनंदन विंग कमांडर थे जिसके बाद उनका प्रमोशन कर उन्हें ग्रुप कमांडर बना दिया गया। 
जम्मू कश्मीर में सेना से लोहा लेने वाले शहीद वीर जवान नायब सूबेदार सोमबीर को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति ने सोमबीर की मां और पत्नी को शौर्य चक्र देकर सम्मानित किया। सोमबीर की मां और पत्नी को वीरता के पुरस्कार को ग्रहण करने पर गर्व था लेकिन कहीं ना कहीं सोमबीर की कमी जरूर महसूस हो रही थी। 
मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल को भी मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। मेजर ढौंडियाल आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गये थे। राष्ट्रपति ने उनकी मां और पत्नी को शौर्य चक्र प्रदान कर सम्मानित किया। 
प्रकाश जाधव को भी मरणोपरांत दूसरा सबसे बड़ा शांतिकालीन वीरता पुरस्कार कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया। प्रकाश जाधव ने जम्मू कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान उन्हें बहुत दूर तक खदेड़ा था लेकिन इस दौरान गोली लगने से वह शहीद हो गये। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रकाश जाधव की पत्नी को कीर्ति चक्र देकर सम्मानित किया।  
इसके साथ ही पूर्वी सेना कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान (सेवानिवृत्त), इंजिनियर इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह, दक्षिणी नौसेना कमांडर वाइस एडमिरल अनिल चावला को परम विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया। पूर्वी वायु कमांडर एयर मार्शल दिलीप पटनायक को अति विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति भवन में हुए इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित तमाम नेतागण मौजूद रहे। प्रधानमंत्री की तरफ से भी सभी को शुभकामनाएं दी गयी। 

आपकी प्रतिक्रिया...