हत्यारा सेल्फ डिफेंस में मास्ट्रेट था

कैमरे जैसी दिखने वाली गन उसने खुद बनाई जिसे कोई पहचान नहीं सका।
शिन्जो आबे की मृत्यु की खुशियाँ चीन की सोशल मीडिया पर मनाई जा रही हैं, समझा जा सकता है आखिर कौन चाहता था उनकी मौत।
शिन्जो और मोदी की QUAD बनाने में मुख्य भूमिका थी चीन तब से उन्हें अपना शत्रु मानता है।
जो यहाँ केवल मोदी की आलोचना में व्यस्त हैं क्या वे जानते हैं मोदी ने अपनी जान की कितनी बोलियाँ खुद लगा रखी हैं? उसपर भी जब लोग उनकी सुरक्षा को लेकर उपहास उड़ाते हैं तब मुझे बेहद दुःख होता है लेकिन आश्चर्य नहीं होता। ये देश ऐसा ही है श्रद्धांजलि में आँसू बहाने वाला और प्रकट में उपहास उड़ाने वाला।

शिन्जो वे व्यक्ति थे जिन्होंने चीन से खुले तौर पर विरोध दिखाया।
अब सोचिए मोदी कितनों के निशाने पर हैं?

अभी लंदन में मोदी मोस्ट वांटेड की तस्वीर लगाकर प्रदर्शन किया गया, कौन जाने कोई सिरफिरा मन में क्या लिए बैठा हो?
बुरे राजनीतिक व्यक्तियों के असेसिनेशन कम होते हैं, ज्यादातर उन्हें ही रास्ते से हटाया जाता है जो अपराधियों को नुकसान पहुंचा रहे होते हैं।
बहरहाल शिन्जो अपना कर्तव्य निभा कर चले गए कम से कम जापान उन्हें एक बेहतर शासक के रूप में याद रखे और विश्व उन्हें गुंडे चीन को खुले तौर पर नुकसान पहुंचाने के लिए याद रखे

……..उनके लिए यही सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी
ॐ शांति 🙏

 

आपकी प्रतिक्रिया...