हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

 एक बार एक छोटा लड़का जो बर्फ से ढकी पहाड़ी पर रहता था । 1 दिन के लिए नीचे मैदान में आया मैदान में बहुत गर्मी थी । लड़के ने सुंदर फरो का गर्म कोट पहना था । सूरज की गर्मी के कारण उसका ठंड भाग गया । उसने अपना गर्म कोट उतार कर फेंक दिया किन्तु कुछ ही देर में उसका शरीर पसीने से तरबतर हो गया ।

  उसे सूरज पर बड़ा गुस्सा आया । सूरज का कोई उपयोग नहीं है ,लड़के ने सोचा । वह लड़का बहुत क्रोधित हुआ तथा उसने सूरज को दंड देने का फैसला किया । वह एक तांत्रिक के पास गया और उसे एक जाल बनाने को कहा । अगली सुबह वह पहाड़ी की चोटी पर गया और जैसे ही सूरज ऊपर आया उसने उसे जाल में पकड़ लिया । उस दिन सूर्य उदय नहीं हुआ और जानवर अपने भोजन के लिए नहीं जा सके, उन्होंने देखा कि सूरज जाल में फंसा है ।

  तब उन्होंने चूहे को मना बुझा कर जाल काटने भेजा और उस समय चूहा बहुत बड़ा होता था । चूहे ने जाल को अपनी तेज दाँतो से काट दिया और सूरज को आजाद किया । सभी जानवर खुश हो गए लेकिन चूहा सूरज की गर्मी के कारण बहुत छोटा हो गया । यही कारण है कि चूहा अब भी बहुत छोटा है ।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: