fbpx
हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

नए भारत के निर्माण में गुजरात सबसे आगे

हम सभी उन संस्कारों से पले-बढ़े हैं जिनमें देश के लिए कुछ भी कर गुजरने का जज़्बा सिखाया जाता है। देश के विकास के प्रति मोदी जी का समर्पण इसका प्रत्यक्ष उदाहरण हैं। पिछले 5 वर्षों में मा. श्री नरेंद्र मोदी जी ने जिस तरह से देश को आगे बढ़ाया है उससे यह स्पष्ट है कि भारत देश अपने सबसे अच्छे दौर से गुज़र रहा है। साल 2014 में मिली प्रचंड जीत के बाद से ही श्री मोदी जी ने देश का कायापलट करने का काम शुरू कर दिया था। जन-धन खाता, उज्ज्वला योजना, उजाला योजना, फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी न जाने कितनी ही सफल योजनाएं हैं जिन्होंने सरकार को उन गरीब व्यक्तियों के घर तक पहुंचा दिया है जिन तक पहले की सरकारें कभी पहुंच ही नहीं सकी थीं। इन योजनाओं की सफलता कागजी नहीं है, इन्हें ज़मीन पर भी देखा जा सकता है। गुजरात राज्य इसका सबसे बड़ा उदाहरण है और शायद यही कारण है कि 2019 के आम चुनावों में गुजरात ने दूसरी बार लगातार 26 सीटें श्री मोदी की झोली में दे दीं। इतना ही नहीं पूरे देश से जो अपार समर्थन और प्यार भाजपा को मिला है वह अप्रतिम है। यह सच में ‘नया भारत’ है।

हम ऐसे नए भारत की ओर बढ़ रहे हैं जो महात्मा गांधी और देश के अन्य महान सपूतों के सपनों का भारत होगा। हम एक ऐसे नए भारत के निर्माण का सपना संजोए हुए हैं जिसमें नई से नई तकनीक का नेतृत्व भारत कर रहा होगा। एक ऐसे नए भारत का निर्माण, जो विश्व की एक मजबूत अर्थव्यवस्था बनकर उभरे और एक ऐसा नया भारत, जो आर्थिक स्तर के साथ-साथ सामाजिक स्तर पर भी मजबूत हो। गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मैं यह पूरी जिम्मेदारी के साथ कह सकता हूं कि गुजरात नए भारत के निर्माण में सबसे आगे है। आज इन्फ्रास्ट्रक्चर से लेकर एग्रीकल्चर और इकॉनमी से लेकर सोशल इंजीनियरिंग तक हर क्षेत्र में गुजरात सरकार नए सिरे से काम कर रही है। गुजरात में अधिक से अधिक उद्योग आए, न केवल आए बल्कि गुजरात को ही वे अपना केंद्र बनाए इसके लिए गुजरात सरकार समय-समय पर प्रगतिशील नीतियां लाती रहती हैं। आप सभी ने इसके परिणाम देखे भी हैं। गुजरात, देश के विकास में सबसे महत्वपूर्ण योगदान देने वाले राज्यों में से एक है। मेरे साथ-साथ यह हर गुजरातवासी के लिए भी बहुत ही सम्मान की बात है कि उनका राज्य नए भारत के निर्माण में सर्वाधिक योगदान दे रहा है।

नए भारत के लिए हमनें ‘नए गुजरात’ का नारा दिया है। इस नए गुजरात में हमनें उन सभी बिंदुओं को ध्यान में रखा है जो नए भारत को लेकर मोदी जी के विचारों का केंद्र है। नए भारत को स्थिरता प्रदान करने के लिए मोदी जी ने 10 सूत्रों की बात की है। गुजरात इन सभी 10 सूत्रों पर पूरी प्राथमिकता से ध्यान दे रहा है। मोदी जी नवाचार याने इनोवेशन को बढ़ावा देने की बात करते हैं तो वहीं गुजरात ने स्टूडेंट स्टार्टअप इनोवेशन नीति लाकर इसमें एक कदम और आगे बढ़ा दिया है।

मोदी जी नौकरशाही में विश्वास करने की बात करते हैं और गुजरात भी नौकरशाही में विश्वास का पक्षधर है। एक सशक्त नौकरशाही कम समय में कई क्रांतिकारी बदलाव ला सकती है। गुजरात इसका उदाहरण है जहां नौकरशाही ने अपनी नीतियों और बेहतरीन प्रबंधन से कई चुनौतियों को अवसरों में बदला है।

अपने इस नए भारत के विजन में मोदी जी शिक्षा, स्वास्थ्य और पानी को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की बात कहते हैं और गुजरात भी उनके इस विचार का पूरा समर्थन करता है। समाज के हर वर्ग के बच्चे को शिक्षा मिले इसके लिए आरक्षण वर्ग के साथ-साथ गैर-आरक्षण वर्ग के प्रतिभावान छात्रों के लिए भी गुजरात सरकार ने कई सराहनीय पहल की हैं। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना और फी रेगुलेशन एक्ट ये ऐसे कुछ उदाहरण हैं जो शिक्षा के प्रति गुजरात सरकार की प्रतिबद्धता को दिखाते हैं।

गरीब से गरीब व्यक्ति तक हम स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने में सफल रहे हैं। एशिया का सबसे बड़ा सिविल अस्पताल गुजरात के अहमदाबाद में स्थित है। यह किसी भी सरकार के लिए गर्व की बात है कि स्वास्थ्य जैसे संवेदनशील मुद्दे को हमने बहुत ही कुशलता से हल किया है। राज्य सरकार की मा और मा अमृतम योजना तो सफल है ही लेकिन साथ ही साथ आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी भी सबसे अधिक गुजरात में ही हैं। जहां तक पानी की बात है तो आप जानते ही हैं, गुजरात एक कम पानी वाला राज्य है और ऐसे में वह पानी के महत्व को बहुत ही गंभीरता लेता है। यह गुजरात का जल प्रबंधन ही है कि गुजरात में बड़े प्राकृतिक जल स्रोत न होने के बावजूद राज्य के कोने-कोने तक पानी पहुंचाने का काम किया है। नर्मदा नहर, स्टेट वाइड बल्क पाइप लाइन योजना, सरदार सरोवर बांध, सुजलाम् सुफलाम् योजना, सौनी योजना और सुजलाम् सुफलाम् जल अभियान जैसी पहलों ने गुजरात को कम पानी वाले राज्य से जल रक्षित राज्य बना दिया है। नए भारत के निर्माण में हम उन सभी संभव पहलुओं पर ध्यान दे रहे हैं जिनसे एक सशक्त व एक आदर्श देश का निर्माण हो सके।

युवा किसी भी देश के भविष्य होते हैं और जब हम देश को बनाने की बात करते हैं तो ऐसे में यह ज़रूरी है कि उनकी भागीदारी सबसे अधिक हो। युवा शक्ति नए विचारों और नई ऊर्जा से भरपूर है। इसलिए हमें अपने वरिष्ठों के अनुभवों के इस्तेमाल के साथ-साथ युवाओं के नवाचार और ऊर्जा का भी समावेश करना चाहिए। अतः यह ज़रूरी है कि युवाओं को ऐसा मंच दिया जाए जहां वे अपने नवाचार को दिखा सकें, उसे परख सकें और उसे सफल बना सकें।

हमारा यह ‘नया गुजरात’ युवाओं की सोच के साथ चलने वाला गुजरात है। हमने युवाओं के लिए स्टूडेंट स्टार्टअप इनोवेशन प्रोग्राम और अप्रेंटिसशिप जैसी योजनाएं शुरू की हैं। जिनमें से एक, युवाओं को उनके नवाचारों को परखने व निखारने का एक मंच देती है तो वहीं दूसरी युवाओं को मौजूदा तकनीक के लिए प्रशिक्षित करती है। इस तरह से हम एक ही समय में युवाओं को दो तरह से सशक्त बना रहे हैं।

‘नए गुजरात’ का आने वाला दौर हर ग़रीब, वंचित और महिलाओं को सशक्त करने वाला होगा। सबको घर, सबको बिजली और किसानों की आय को दोगुना करने जैसे लक्ष्य हमने इस नए गुजरात के लिए तय किए हैं। हमारा नया गुजरात जाति, धर्म और संप्रदाय से कहीं आगे होगा। हम एक ऐसे नए गुजरात का निर्माण कर रहे हैं जहां शांति और भाईचारा अपने चरम पर हो।

हम देश की युवा शक्ति के सपने को पूरा करने वाले नए गुजरात का निर्माण कर रहे हैं। नारी शक्ति की आकांक्षाओं को पूरा करने वाले नए गुजरात का निर्माण कर रहे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि हमारे प्रयास ग़रीबों को सशक्त बनाएंगे और मध्यम वर्ग की आकांक्षाओं को पूरा करेंगे।

लोगों को बुनियादी सुविधाएं देने के साथ-साथ हम लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने का भी काम कर रहे हैं। गुजरात सरकार का ‘गुजरात स्प्रिंट टू 2022’ नामक अभियान हमारे इस विजन को और अधिक मजबूत करेगा। इस संकल्पना से हम लोगों तक उनके अधिकारों, उनकी ज़रूरतों, यहां तक कि उनके दैनिक जीवन में कैसे बड़ा बदलाव ला सकें, इस पर भी ध्यान दे रहे हैं। हम काम कर रहे हैं कि कैसे हम वैश्विक मानकों के अनुसार गुजरात के हर व्यक्ति को एक बेहतरीन जीवनशैली प्रदान करें।

मेरा लक्ष्य है कि साल 2022 तक हम अपने लोगों को सभी बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ उनके जीवन में आनंद व शांति की एक नई ज्योति जलाए। गुजरात सरकार केवल सरकारी योजनाओं और घोषणाओं तक ही सीमित नहीं है। हमने हमेशा कोशिश की है कि हमारी पहुंच आम से आम नागरिक तक हो।

सुशासन, राजनीतिक स्थैर्य और प्रगतिशील समाज ये कुछ ऐसे महत्वपूर्ण कारक हैं जो गुजरात को दूसरे राज्यों से सबसे खास बनाते हैं। उच्च स्तर के बुनियादी ढांचे में तो गुजरात बेहतर है ही और अब सहयोगी बुनियादी ढांचे में भी हम श्रेष्ठ बनने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। मैं नए भारत के निर्माण में गुजरात की ओर से योगदान स्वरूप बेहतर जीवनशैली और काम करने के लिए बेहतर राज्य का तोहफा देना चाहता हूं।

गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में, गुजरात के नागरिक के रूप में और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपने राज्य की आन, बान और शान के लिए अपना पल-पल न्यौछावर कर दूं। सार्वजनिक जीवन के इतने वर्षों में मैंने इसी सोच के साथ काम किया है। एक जनप्रतिनिधि होने के नाते यह हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम समाज के हर एक वर्ग को साथ लेकर आगे बढ़े। विकास के हर पैमाने पर खरे उतरने की कोशिश करें। हम सभी को इसी सोच के साथ आगे आना होगा।

हर एक राज्य के ऐसे कृत संकल्पों से ही एक सशक्त व आदर्श देश का निर्माण संभव है। हर राज्य को एक-दूसरे के साथ मिलकर छोटी-छोटी बाधाओं को पार करते हुए एक भारत, श्रेष्ठ भारत के निर्माण पर ध्यान देना चाहिए। यह हम सभी के लिए एक बहुत बड़ा अवसर है कि देश को हम कुछ दे जाए। इसलिए हमें इसे एक बड़े परिप्रेक्ष्य में देखना होगा।

मेरी सरकार की अब तक की प्रतिबद्धताओं, योजनाओं और उन पर अमल से मैं आश्वस्त हूं कि नए भारत के निर्माण में हमने जो लक्ष्य तय किए हैं, उन सभी को हम तय समय में पूरा कर लेंगे। मुझे पूरा विश्वास है कि हमारे सपनों के नए भारत में हम एक आदर्श राज्य बनकर उभरेंगे।

 लेखक गुजरात के मुख्यमंत्री हैं।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: