केजरीवाल की पीएम मोदी से शिष्टाचार मुलाकात

राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से संसद भवन में मुलाकात की। पहले से निर्धारित इस मुलाकात में मोदी और केजरीवाल के बीच दिल्ली दंगों और कोरोना वायरस को लेकर चर्चा हुई। इस मुलाकात के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बाहर आकर मीडिया से बात की और बताया कि प्रधानमंत्री से उनकी मुलाकात अच्छी और सार्थक रही। दोनों नेताओं ने दिल्ली दंगों और कोरोना वायरस को लेकर बात की। साथ ही केजरीवाल ने दंगों के दौरान दिल्ली पुलिस के कार्यों की सराहना की। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने दंगों के दौरान सही समय पर हालत पर काबू कर लिया अन्यथा हालात और भी बुरे हो सकते थे।

दिल्ली पुलिस लगातार हालात पर काबू पाने में लगी हुई है। पुलिस लोगों से घर-घर जा कर मुलाकात कर रही है और अपील कर रही है कि आप सभी शांति और भाई चारा बनाए रखे। केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से अपील की है कि दिल्ली दंगों के लिए जो भी जिम्मेदार हो, चाहे वह किसी भी पार्टी का हो, कितना भी बड़ा आदमी हो, उस पर कार्यवाही जरूर होनी चाहिए। ताकि समाज में एक अच्छा संदेश जा सके और गुनहगार बचना नहीं चाहिए।

केजरीवाल ने दिल्ली के विकास को लेकर भी मोदी सरकार से सहयोग मांगा है। जिस पर केंद्र ने सहमति जता दी और दिल्ली के विकास के लिए हर संभव मदद देने का वादा किया।

इसके साथ ही केजरीवाल ने दुनिया भर में बढ़ रहे कोरोना वायरस की समस्या को देखते हुए चिंता व्यक्त की। हाल फिलहाल में दिल्ली में भी कोरोना वायरस के मरीज देखने को मिल रहे हैं, जिसने दिल्ली सरकार की चिंता बढ़ा दी है फिलहाल के लिए पीड़ितों को निगरानी में रखा गया है और उनके इलाज की पूरी व्यवस्था की गई है।

इसे पहले सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सरकार पूरी तरह से तैयार है। जो भी लोग कोरोना वायरस वाले संक्रमित देशों से भारत में आ रहे हैं उनकी पूरी जांच की जा रही है और जिस में भी लक्षण नजर आ रहे हैं उनको अलग निगरानी में रखा जा रहा है।

फिलहाल दिल्ली दंगों के बाद केजरीवाल की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के और भी कई मायने निकाले जा रहे हैं। हालांकि अभी तक इस पर कुछ भी साफ नहीं हो पाया है कि इस मुलाकात के पीछे की असली वजह क्या है?  क्या केजरीवाल की मुलाकात सिर्फ शिष्टाचार मुलाकात है या फिर केजरीवाल सरकार किसी और मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री से मुलाकात कर रहे है?

आपको बता दें कि सोमवार को ही केजरीवाल सरकार ने केंद्र के विरोध में विपक्षी दलों के साथ मोर्चा खोला था और दिल्ली दंगों के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। साथ ही विपक्षी दलों ने अमित शाह का इस्तीफा भी मांगा था।

आपकी प्रतिक्रिया...