आखिर विपक्ष क्यों नहीं चलने दे रहा सदन? क्यों हो रही जनता के पैसों की बरबादी?

बजट सत्र के चौथे और पांचवें दिन भी विपक्षी दलों ने संसद को नहीं चलने दिया संसद के दोनों सदन विरोध प्रदर्शन के चलते स्थगित करने पड़े कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों ने मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और अमित शाह का इस्तीफा मांगा। शुक्रवार को लोकसभा हंगामे के चलते 2 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी। राहुल गांधी तमाम पार्टी नेताओं के साथ सदन के बाहर प्रदर्शन कर रहे है।

विपक्षी दलों का कहना है कि जब तक दिल्ली हिंसा को लेकर सरकार जवाब नहीं दे देती तब तक सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी जाएगी वहीं विपक्षी दलों के विरोध से राज्यसभा में स्पीकर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू काफी दुखी हैं उन्होंने विरोध कर रहे सांसदों को फटकार लगाते हुए कहा की यह सदन है कोई बाजार नहीं आपको इस की गरिमा का ख्याल रखना होगा

उधर लोकसभा स्पीकर पिछले 2 दिनों से लोक सभा में उपस्थित ही नहीं हो रहे हैं क्योंकि हाल ही में सदन के अंदर महिला सांसद के साथ हुई धक्का-मुक्की को लेकर वह काफी दुखी हैं लोकसभा स्पीकर ओम बिरला की जगह उनके सहयोगियों ने लोकसभा की कार्यवाही की उन्होंने बताया कि ओम बिरला लोकसभा में हो रहे विरोध के चलते उपस्थित नहीं हो रहे हैं क्योंकि जिस तरह से सदन के अंदर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है यह सदन की गरिमा के खिलाफ है जनता के पैसे से चलने वाला सदन और जनता के लिए चुनकर आने वाले प्रतिनिधि अगर ऐसा करेंगे तो देश का विकास कैसे होगा

लोकसभा स्पीकर की तरफ से यह कहा गया कि होली के बाद दिल्ली हिंसा पर चर्चा की जाएगी सरकार भी विपक्ष के सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है लेकिन विपक्ष सुनने को तैयार नहीं है उन्हें दिल्ली हिंसा पर तुरंत जवाब चाहिए। 

वही देश में बढ़ते कोरोनावायरस के खतरे को लेकर गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने राज्यसभा में जानकारी दें और बताया कि देश कोरोनावायरस से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है हालांकि इस दौरान भी विपक्षी दलों का विरोध प्रदर्शन जारी था विपक्षी दल कोरोनावायरस पर बात करने को तैयार नहीं है उन्हें सिर्फ दिल्ली हिंसा पर बात करनी है ऐसा शायद इसलिए भी है क्योंकि दिल्ली हिंसा से कहीं ना कहीं चुनावी खिचड़ी भी रख सकती है जबकि कोरोनावायरस से अभी किसी भी तरह का राजनीतिक फायदा होता नजर नहीं आ रहा है जबकि देश के अंदर कोराना वायरस का खतरा भी तेजी से बढ़ रहा है इसलिए फिलहाल कोरोना वायरस पर सरकार चिंतित है।

आपकी प्रतिक्रिया...