जानिए बिहार में किस किस को मिलेगा मुफ्त राशन और 1 हजार रुपया

केंद्र सरकार के साथ साथ राज्य सरकारें भी लगातार कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रही है। राज्य सरकारों का प्रयास है कि कोरोना पर जल्द से जल्द लगाम लगाई जा सके। महाराष्ट्र और पंजाब सरकार ने एहतियात के चलते राज्य में कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है क्योंकि महाराष्ट्र और पंजाब दोनों ही राज्य संक्रमण के मामले में आगे चल रहे है दोनों ही राज्यों में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के बाद अब बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार ने भी आम जनता के लिए राहत का ऐलान किया है। नीतीश सरकार ने मिडिया को संबोधित करते हुए बताया कि

लॉक डाउन क्षेत्रों में राशन कार्ड रखने वाले प्रत्येक परिवार को एक महीने के लिए राशन मुफ्त में दिया जायेगा। इसके साथ बाकी खर्च के लिए 1 हजार रुपया भी दिया जायेगा। वहीं सरकारी पेंशन का लाभ लेने वाले लोगों के लिए भी सरकार की तरफ से खुशखबरी है। पेंशनर को तीन महीने की पेंशन एक साथ देने का सरकार ने फैसला किया है। छात्रों को 31 मार्च के तक छात्रवृति भी मिल जायेगी जिससे उन्हे भी किसी भी तरह की परेशानी से नहीं गुजरना पड़ेगा।

 

आम जनता के साथ साथ नीतीश सरकार ने उन लोगों का भी खयाल रखा है जो इस मुश्किल घड़ी में लोगों की सेवा में लगे हुए है। बिहार सरकार की तरफ से राज्य में तैनात सभी डाक्टरों और चिकित्सा क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों को एक महीने का वेतन प्रोत्साहन राशी के रुप में दिया जायेगा।

बिहार सरकार के इस फैसले से जहां राज्य की जनता को राहत मिलेगी वहीं बाकी राज्यों के लिए यह एक सीख भी होगी कि मुश्किल की इस घड़ी में सरकार को किस तरह से जनता ख्याल रखना होता है। वहीं कोरोना के खतरे को देखते हुए बिहार सरकार ने 31 मार्च तक के लिए लॉक डाउन का निर्णय लिया है। नीतीश कुमार ने सभी से अपील करते हुए कहा था कि कोरोना वायरस से पूरी मानवजाति संकट में है और हमें इसका डट कर मुकाबला करना होगा इसलिए सभी से अपील है कि इस संकट की घड़ी में लोग संयम से काम लें और जब तक जरुरत ना हो घरों से बाहर ना निकलें। इससे ना सिर्फ आप सुरक्षित होंगे बल्कि आप का पूरा परिवार और समाज सुरक्षित रहेगा।

आपकी प्रतिक्रिया...