स्वास्थ्य मंत्रालय: 2902 लोग कोरोना से संक्रमित, तबलीगी जमात की 30 फीसदी हिस्सेदारी

देश में कोरोना वायरस से हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस पर जानकारी दी गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि अब तक देश में संक्रमित लोगों की संख्या 2900 से ऊपर चली गई है जबकि 68 लोगों की मौत हो चुकी है और 183 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि हाल में कोरोना वायरस तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की वजह से तेजी से फैल रहा है। दिल्ली के निजामुद्दीन में शामिल हुए तबलीगी जमात के लोग देश के करीब 17 राज्यों में फैले हुए हैं। जिनमें तमिलनाडु, दिल्ली, राजस्थान, कर्नाटक, जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल, झारखंड और अंडमान निकोबार सहित कई राज्य शामिल है।
 तबलीगी जमात की वजह से कोरोना वायरस अब तेजी से फैल रहा है। शनिवार तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले 24 घंटों में 600 से ज्यादा मामले सामने आए है यह एक दिन में कोरोना से संक्रमित लोगों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। गृह मंत्रालय की तरफ से यह जानकारी दी गई कि लोगों की सुरक्षा को देखते हुए करीब 22000 लोगों को क्वैरेनटाइन किया गया है क्योंकि यह तबलीगी जमात के लोग है जो निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए थे और अब यह देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंच चुके हैं।
इस जमात के लोगों की वजह से राज्य सरकारों की चिंता बढ़ चुकी है क्योंकि इन सभी को ढूंढ कर निकालना राज्य सरकारों के लिए एक बड़ी चुनौती हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अब तक के संक्रमित लोगों को के आधार पर एक ग्राफ तैयार किया है जिसके तहत करीब 9 फ़ीसदी संक्रमित लोगों की उम्र 0 से लेकर 20 साल तक बताई जा रही है जबकि 42 फ़ीसदी संक्रमित लोगों की उम्र 21 साल से लेकर 40 साल तक है।  33 फ़ीसदी संक्रमित लोगों की उम्र 41 साल से लेकर 7 साल तक है जबकि 17 फ़ीसदी लोग 60 साल से अधिक के बताए जा रहे हैं।
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया की हालात को देखते हुए लोगों की जांच में तेजी लाई जा रही है और अब करीब हर दिन 10 हजार लोगों की जांच की जाएगी इसके लिए 30,000 से ज्यादा रिटायर्ड डॉक्टर को इसमें शामिल किया गया है और इसके लिए केंद्र सरकार ने जरूरी मेडिकल सामान राज्यों को भी भेजा है।

आपकी प्रतिक्रिया...