प्रधानमंत्री ने सरपंचो को दिया आत्मनिर्भरता का संदेश, किसान को बताया अन्नदाता

  • मोदी ने पंचायती राज दिवस के मौके पर दिया सरपंचों को संदेश
  • ई स्वराज पोर्टल और स्वामित्व योजना ऐप का किया उद्धाटन
  • मोदी ने कहा कि गांव, जिला और राज्य बनें आत्मनिर्भर 
  • महामारी में किसान को बताया अन्नदाता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचायती राज दिवस के मौके पर देश के तमाम सरपंचों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित किया और उन्हें पंचायती राज दिवस के लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री ने सभी से बात करते हुए यह बताया कि पूरा देश कोरोना की महामारी से जूझ रहा है इसलिए सभी को कदम से कदम मिलाकर चलना होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरपंचों से बात करने से पहले ई स्वराज पोर्टल मोबाइल ऐप और स्वामित्व योजना ऐप का शुभारंभ किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने इन दोनों ऐप के बारे में जानकारी भी दी और इसे गांव के लिए बहुत ही उपयोगी बताया। प्रधानमंत्री ने स्वामित्व योजना की जानकारी देते हुए बताया किसके माध्यम से गांव में संपत्ति को लेकर पैदा होने वाले विवाद अब खत्म हो जाएंगे। इसके तहत ड्रोन के माध्यम से सभी गांव में हर संपत्ति की मैपिंग की जाएगी इसके बाद उस संपत्ति के मालिक को मालिकाना प्रमाण पत्र दिया जाएगा जिससे भविष्य में होने वाले विवाद हमेशा के लिए खत्म हो जाएंगे। सरकार द्वारा दिये गये स्वामित्व वाले मालिकाना प्रमाण पत्र से आप लोन भी ले सकते हैं। जानकारी के मुताबिक इस योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, कर्नाटक, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश में सबसे पहले शुरू की जाएगी इसके बाद बाकी राज्यों में भी इसकी शुरुआत होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा लांच किए गए ऐप के माध्यम से गांव की जनता को सरपंच के कामकाज की जानकारी मिलती रहेगी  और इससे पारदर्शिता भी आयेगी, गांव का सरपंच किसी भी तरह का घोटाला नहीं कर पायेगा। गांव की जनता को इस बात की जानकारी होगी कि सरपंच के पास कितना फंड है और कहां पर क्या काम चल रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी बहुत से गांव इंटरनेट से नहीं जुड़े है उसे भी जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है ताकी संरपंच भी अपनी जानकारी सरकार से आसानी से साझा कर सके।
देश में जारी महामारी पर प्रधानमंत्री ने किसानों की जमकर तारीफ की और कहा कि किसानो का अथक परिश्रम हमेशा याद किया जायेगा। मोदी ने कहा कि इस महामारी के समय में किसान ही पूरे देश का अन्नदाता है जब बड़ी से बड़ी कंपनियां और उद्योग धंधे बंद हो गए तभी किसान पूरे देश का पेट पाल रहा है और किसी को भी अनाज, दूध, दही और फल की कमी नहीं हो रही है। इस महामारी के दौरान सभी को यह समझ आ गया कि सिर्फ अनाज ही सबसे महत्तवपूर्ण है आप बाकी सभी के बिना रह सकते हो लेकिन जीवन के लिए अन्न सबसे ज्यादा जरुरी है और उसके बिना एक दिन भी नहीं रहा जा सकता।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान आत्मनिर्भरता वाले शब्द पर जोर दिया और सभी सरपंचों से कहा कि अब गांव को भी आत्मनिर्भर होना चाहिए, प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना ने हमें आत्मनिर्भर होना बता दिया। एक आत्मनिर्भर व्यक्ति ही जल्दी सफलता प्राप्त करता है जबकि दूसरे पर आश्रित लोग ज्यादातर विफल होते हैं। मोदी ने कहा कि गांव, जिला और राज्य सभी को आत्मनिर्भर होना चाहिए।

This Post Has One Comment

  1. AMOL P

    yes

आपकी प्रतिक्रिया...