10 वर्ष में तैयार हुई दुनिया की सबसे लम्बी अटल रोहतांग टनल, जानिए क्या है टनल की खूबी?

 


अटल टनल से सीमा पर पहुंच होगी आसान

भारत ने एक और कीर्ति अपने काम कर लिया। भारत दुनिया में पहला देश हो गया जिसने 10 हजार फीट से अधिक की ऊंचाई पर 9.02 किमी लम्बी एक टनल का निर्माण किया है जिसका नाम अटल रोहतांग टनल रखा गया है। यह हिमाचल के कल्लू के मनाली में तैयार की गयी है। इस पर पिछले करीब 10 सालों से काम चल रहा था लेकिन बड़ा प्रोजेक्ट होने की वजह से इसमें समय ज्यादा लगा। इस टनल का देश के विकास और सुरक्षा दोनों में अहम योगदान होगा और इसी को ध्यान में रखकर इसे तैयार किया गया है। इस टनल के माध्यम से LAC तक पहुँचना अब आसान होगा और अब इसके द्वारा ही चीन की सीमा पर तैनात जवानों को ज्यादा सुविधा मिल सकेगी। इससे पहले सर्दियों में होने वाली भारी बर्फ बारी के दौरान लोगों का रास्ता बंद हो जाता था लेकिन उन्हे अब इससे निजात मिल जायेगी। 
 
25 सितंबर को होगा उदघाटन!
अटल रोहतांग टनल का उदघाटन ऐसे समय में किया जा रहा है जब भारत और चीन के बीच विवाद अपनी चरम सीमा पर है और दोनों ही देश हालात सुधारने के लिए बैठकें कर रहे है। जानकारी के मुताबिक इसी महीने की 25 तारीख को पीएम मोदी इस टनल का उदघाटन कर सकते है। इस टनल का उपयोग स्थानीय लोगों के साथ साथ सेना भी कर सकेगी। इससे ना सिर्फ जवानों को सीमा तक पहुंचाने में आसानी होगी बल्कि इससे जरिये जवानों  तक जल्दी से सामान और गोला बारुद भेजा जा सकेगा। 
 
टनल बनाने में 800 करोड़ की बचत
वहीं इस टनल के नाम एक और उपलब्धि शामिल हुई है कि यह अपने तय बजट से कम में तैयार हो गयी और इसका पूरा क्रेडिट प्रोजेक्ट के इंजिनियर्स को जाता है। प्रोजेक्ट की शुरुआत के दौरान इसका बजट कुल 4 हजार करोड़ तय किया गया था लेकिन बाद में प्रोजेक्ट के इंजिनियर्स ने इसमें कुछ बदलाव किया और इसे पूरे प्रोजेक्ट को 3200 करोड़ में ही तैयार कर दिया यानी कुल 800 करोड़ रुपये बचा लिये गये हालांकि ऐसा बहुत की कम देखने को मिलता है जब तय बजट से कम में काम पूरा किया गया हो। देश में जितने भी प्रोजेक्ट तैयार होते है उसमें से 90 प्रतिशत प्रोजेक्ट की लागत अंत में बढ़ ही जाती है और समय भी बढ़ जाता है। अटल टनल के प्रोजेक्ट से 800 करोड़ की बचत की गयी है जिसका उपयोग अब इसकी देखभाल में खर्च किया जायेगा। 


अटल रोहतांग टनल पर एक नजर- 
टनल की शुरुआत 28 जून 2010
प्रोजेक्ट – बार्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन
10040 फीट की ऊंचाई पर बना है यह टनल
टनल की कुल लम्बाई- 9.02 किमी 
टनल की कुल चौड़ाई- 10 मीटर (33 फीट) 
 
बार्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन ने किया टनल का निर्माण
BRO की देखरेख में इस टनल का निर्माण पिछले 10 सालों से चल रहा है। इस महत्त्वपूर्ण प्रोजेक्ट पर 24 घंटे काम चल रहा है जिससे यह जल्द से जल्द पूरा हो सके लेकिन इंजीनियरों की मानें तो इस प्रोजेक्ट के दौरान कई बाधाएं भी आयी थी क्योंकि पहाड़ी क्षेत्र की वजह से काम करना आसान नहीं था लेकिन इस प्रोजेक्ट को पूरा करना भी बार्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन (BRO) के लिए गर्व की बात होगी। इंजीनियरों का कहना है कि इसके अनुभव का फायदा उन्हे मनाली-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर बनने वाली 4 महत्त्वपूर्ण सुरंगों पर मिलने वाला है क्योंकि इन सभी सुरंगो में काफी कुछ समान होगा। 

आपकी प्रतिक्रिया...