Covid19: देश में अनलॉक और बढ़ता संक्रमण


सभी के मन में एक सवाल आता है कि जब देश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या लाख के नीचे थी तब पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ था लेकिन जब कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या लाखों में पहुंच चुकी है तब पूरे देश में तेजी से अनलॉक की प्रक्रिया जारी है और धीरे धीरे सब कुछ खोला जा रहा है। राजनीति में कई विपक्षी दलों के नेताओं ने यह सवाल उठाया भी था कि सरकार की तरफ से तेजी से बाजारों को क्यों खोला जा रहा है हालांकि यह अलग बात है कि विपक्ष तो सवाल उठाता ही है चाहे सरकार कितना भी सही काम क्यों ना करें।
 
समय के साथ साथ कोरोना का असर भी कम होता जा रहा है और इसकी पुष्टि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी अपने एक बयान में की थी कि कोरोना जितना बढ़ता जायेगा उसका असर उतना ही कम होता जायेगा। वर्तमान में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 60 लाख से अधिक है लेकिन मृतकों की संख्या उसकी तुलना में बहुत कम है। सरकार के पास बाजारों को भी संभालने की ज़िम्मेदारी है जिससे अगर अनलॉक की प्रक्रिया शुरु नहीं होती है तो बेरोज़गारी और जीडीपी दोनों ही निचले स्तर पर आ जायेंगे और देश की अर्थव्यवस्था भी बिगड़ सकती है। 
 
कोरोना के बीते काल पर नजर डालें तो ऐसा लगता है कि अब हम यह लड़ाई लगभग जीत चुके है और एक नये जन्म के साथ फिर से वापसी कर रहे है लेकिन हमें अभी भी पूरी सावधानी के साथ ही बाहर निकलना चाहिए क्योंकि थोड़ी लापरवाही भी जानलेवा साबित हो सकती है। सरकार की तरफ से भी बार बार इस बात का जिक्र किया जाता है कि बिना मास्क कोई भी बाहर ना निकले इसके साथ ही वृद्ध और गर्भवती महिलाओं को भी बाहर निकलने के लिए मना किया जाता है। इसके साथ ही हमें इस बात को भी मानना होगा कि अब कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी और पूरी सावधानी के साथ ही अपने निजी काम करने होंगे।     
 
कोरोना के शुरुआती दौर से ही महाराष्ट्र इसका सबसे बड़ा शिकार रहा है और अंत तक यह उभर नहीं पाया। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में अनलॉक की प्रक्रिया तेजी से बढ रही है लेकिन साथ ही कोरोना का संक्रमण भी बढ़ रहा है। महानगर पालिका का मानना है कि अनलॉक की वजह से ही संक्रमण में तेजी आ रही है लेकिन उन्होने यह भी आश्वासन दिया है कि नगर पालिका इससे निपटने के लिए तैयार है। मुबई के सरकारी अस्पतालों में करीब 80 फीसदी बेड पहले ही फुल है इसलिए नगर पालिका की तरफ से निजी अस्पतालों को नोटिस जारी कर कहा गया है कि वह कुछ बेड कोविड के लिए तैयार रखें जरुरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जायेगा। नगर पालिका ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि जो भी इस आदेश की अनदेखी करेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। सिर्फ मुंबई में 2 लाख से अधिक लोग संक्रमित है और 8 हजार से अधिक लोगों की अब तक मौत हो चुकी है।अनलॉक 5 के तहत राज्य में उद्धव सरकार ने थोड़ी ढील देकर रेस्तरां सहित कई चीजों को खुलने के आदेश दे दिये है। 
 
देश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 64 लाख से अधिक हो गयी है और अब तक 1 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 54 लाख से अधिक लोग अब तक संक्रमण की जंग जीत चुके है। ICMR के मुताबिक अब तक 7 करोड़ से अधिक लोगों का टेस्ट किया जा चुका है।   

आपकी प्रतिक्रिया...