भारत फरवरी में पाकिस्तान पर कर सकता था हमला!


भारतीय सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को जब पाकिस्तान की सेना ने बंधक बना लिया था तब सभी के देशवासियों के मन में एक ही सवाल था कि आखिर कमांडर को पाक सरकार रिहा करेगी या नहीं या फिर भारत सरकार अभिनंदन के लिए कितनी मेहनत करेगी क्योंकि सभी को यह पता है कि भारत के कई जवान और आम नागरिक आज भी पाक की जेलों में बंद है और सरकार उनके स्वदेश वापस लाने में विफल हो रही है लेकिन आज पाकिस्तान के एक नेता ने खुद इस पर से पर्दा उठा दिया कि आखिर उस समय क्या हुआ जब अभिनंदन वर्धमान को पाक सरकार द्वारा बंधक बनाया गया था। पाकिस्तान के एक सांसद ने दावा किया कि जब भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को बंधक बनाया गया उसके एक बाद एक उच्च स्तरीय बैठक की गयी जिसमें पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा सहित कई लोग मौजूद थे लेकिन बैठक में जैसे ही शाह महमूद ने यह कहा कि अगर भारतीय कमांडर को तुरंत रिहा नहीं किया तो भारत कभी भी पाकिस्तान पर हमला कर सकता है यह सुनते ही सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के पैर कांपने लगे और इस बैठक में यह तुरंत फैसला लिया गया कि भारती जवान को तुरंत रिहा किया जायेगा।

पाकिस्तान की एसेंबली में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के नेता अयाज सादिक ने बताया कि अभिनंदन को लेकर बैठक चल रही थी कि आखिर दुश्मन देश के जवान के साथ क्या करना है लेकिन जैसे ही शाह महमूद कुरैशी ने बताया कि भारत रात 9 बजे तक हमला कर सकता है इसके बाद सभी के माथे पर पसीना आने लगा और बैठक में तत्काल प्रभाव से यह फैसला किया गया कि भारतीय कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा किया जायेगा। पीएमएलएन के नेता ने स्मरण करते हुए कहा कि, मुझे याद है कि शाह महमूद कुरैशी उस बैठक में थे जिसमें इमरान खान ने बैठक में भाग लेने से इंकार कर दिया था। बैठक में शामिल होने जनरल कमर बाजवा कमरे में आये लेकिन उनके पैर कांप रहे थे और उनके माथे पर पसीना था। विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा कि अभिनंदन को जाने दीजिए वर्ना भारत रात 9 बजे तक पाकिस्तान पर हमला कर देगा।

फरवरी 2019 के बाद पाक के लड़ाकू विमान भारत की सीमा तक आ गये थे जिसके बाद भारत ने भी इसका मुहतोड़ जवाब दिया था और विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग-21 से पाक लड़ाकू विमानों का पीछा किया था लेकिन इस दौरान अभिनंदन का विमान क्रैश हो गया और वह पाक अधिकृत कश्मीर में जा गिरे जहां उन्हे पाकिस्तानी सेना ने गिरफ्तार कर लिया। पहले ऐसी खबरे सुनने में आ रही थी कि पाक किसी भी कीमत पर भारतीय जवान को रिहा नहीं करेगा लेकिन भारत ने हर तरफ से दबाव बनाया और अंत में पाकिस्तान को विंग कमांडर अभिनंदन को छोड़ना पड़ा।

आपकी प्रतिक्रिया...