पाकिस्तान में मंदिरों पर नहीं रुक रहे हमले!

पाकिस्तान में हिंदुओं पर अत्याचार लगातार जारी है और पाकिस्तान सरकार की तरफ से इसे रोकने के कोई भी उपाय नहीं किये जा रहे है। पाक में हिंदू बेटियों का कनवर्ज़न और जबरन विवाह का मामला हर दिन सामने आता रहता है और इनके बचाव में कोई भी आवाज़ नहीं उठा रहा है और इन्हे इनके हाल पर छोड़ दिया गया है।      
 
पाकिस्तान में हाल ही में एक अल्पसंख्यक बच्चे पर पैगंबर की निंदा करने का आरोप लगाया गया और उसके साथ मारपीट की गयी इतना ही कट्टरपंथियों ने एक प्राचीन मंदिर में भी तोड़ फोड़ की और मंदिर के अंदर रखी भगवान शिव और गणेश की प्रतिमा को भी तोड़ दिया। जानकारी के मुताबिक ल्यारी क्षेत्र में हुई इस घटना के बाद से अल्पसंख्यकों में डर का माहौल है जबकि पैगंबर को लेकर लगाए गये आरोप की पुष्टि नहीं हो सकी है कि बच्चे ने ऐसा कुछ कहा था या नहीं। 
 
स्थानीय लोगों का कहना है कि इस तरह की घटनाएँ अक्सर होती रहती है और दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती है। पिछले करीब 20 दिनों में मंदिरों में तोड़ फोड़ की यह तीसरी घटना है। फिलहाल जिस मंदिर में तोड़फोड़ की गयी वह कराची के भीमपुरा क्षेत्र में स्थित है। इस घटना के बाद पुलिस बल मौके पर पहुंचा है लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तार नहीं हुई है। पाकिस्तान में हिन्दू मंदिरों पर हमले की घटना लगातार बढ़ती ही जा रही है। कराची से पहले कट्टरपंथियों ने सिंध प्रांत में माता दुर्गा की एक मूर्ति को क्षति पहुंचायी थी। मंदिर के पुजारी ने बताया कि अचानक से एक दिन रात में कुछ लोग मंदिर में घुस गये और दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया और माता दुर्गा की मूर्ति को तोड़ दिया और मंदिर परिसर में भी नुकसान किया। पुलिस में शिकायत के बाद भी अभी तक किसी पर कार्रवाई नहीं हुई है। 
 
पाक के अलग अलग शहरों में हो रही ऐसी घटनाओं को लेकर हिन्दू समाज में रोष है और दोषियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया जा रहा है लेकिन स्थानीय प्रशासन की तरफ से सकारात्मक कार्रवाई नहीं नजर आ रही है। अल्पसंख्यकों की तरफ से विरोध के बाद पुलिस मामले का संज्ञान लेती है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की बात करती है लेकिन अभी तक ज्यादातर मामलों में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। मंदिर में तोड़ फोड़ को लेकर कुछ मामले में पुलिस में नामजद शिकायत दर्ज करवाई गयी है लेकिन अभी तक पुलिस की तरफ से सिर्फ कार्रवाई का भरोसा मिला है जबकि आरोपी अभी भी बाहर ही घूम रहे है। 

आपकी प्रतिक्रिया...