लव जिहाद के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, कानून बनाने की उठी मांग

लव-जिहाद को रोकने के लिए अब देश में प्रदर्शन भी शुरु हो रहे है। तेजी से बढ़ रहे लव-जिहाद की ख़बरें हर दिन देखने को मिल रही है। ताजा घटना मध्य प्रदेश की है जहां ताहिर नाम के युवक ने एक 16 साल की नाबालिक को बहला फुसलाकर अपने पास रखा और उसका धर्मपरिवर्तन करवा दिया। लेकिन इसी बीच अचानक से नाबालिक लड़की की मौत हो गयी। इस पूरे मामले की जानकारी भोपाल पुलिस को थी लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने इसके खिलाफ कोई कदम नही उठाया। लड़की के पिता के अनुसार ताहिर ने पहले लड़की का अपहरण किया और उसे कोलार स्थित अपने घर में रख दिया जिसके बाद लड़की का उसके परिवार से संपर्क भी टूट गया। लड़की के पिता ने पुलिस स्टेशन में अपहरण का केस भी दर्ज करवाया लेकिन पुलिस ने इस पर कोई ठोस कदम नहीं उठाया।

देश में लगातार बढ़ती लव-जिहाद की घटनाओं के बाद अब महिलाओ ने इसका विरोध शुरु किया है। दिल्ली में महिलाओं ने लव जिहाद को लेकर विरोध प्रदर्शन किया और सरकार से इसके खिलाफ कानून बनाने की मांग की है। लव जिहाद के खिलाफ हुए इस प्रदर्शन में करीब 400 महिलाओं ने हिस्सा लिया और नारा दिया “लव जिहाद होने नहीं देंगे और बेटियां खोने नहीं देंगे”। इस दौरान निकिता हत्याकांड का भी जिक्र हुआ और फांसी की मांग की। इस दौरान अलग अलग जगहों पर मौन प्रदर्शन भी किया गया और सरकार से मांग की गयी कि आरोपी के खिलाफ शख्त से शख्त सज़ा मिले और लव-जिहाद के खिलाफ कड़े कानून बनाए जाने की जरुरत है।

दिल्ली और आस पास के इलाकों जैसे मूयर विहार, द्वारका, मुनिरका, त्रिलोकपुरी, लक्ष्मी नगर और पीरागढ़ी जैसे स्थानों पर लव जिहाद के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में शिक्षित वर्ग से जुड़ी महिलाएं भी थी जैसे वकील, डाक्टर, प्रोफेसर और सभी ने एक साथ सरकार से लव-जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की मांग की। देश के अलग अलग शहरों से करीब हर दिन लव जिहाद की खबरें बाहर आ रही है जबकि कुछ ऐसे भी लोग होंगे जिनकी बात आम जनता तक नहीं पहुंच पा रही होगी और हिंदू लड़कियों को घर में कैद कर के रखा गया होगा।


लव के नाम पर हिंदू लड़कियों को प्यार के जाल में फंसाया जाता है और फिर उनका धर्म परिवर्तन कर शादी की जाती है लेकिन इस शादी की उम्र ज्यादा नहीं होती और कुछ सालों बाद ही लड़की को या तो बुरी तरह से प्रताड़ित किया जाता है या फिर उसे सड़कों पर दर दर के भटकने के लिए छोड़ दिया जाता है। प्यार के नाम पर यह एक बड़ी साज़िश का हिस्सा है। लव जिहाद के दौरान हुई शादियों में सफल होने की उम्मीद बहुत ही कम होती है और ज्यादातर मामले कोर्ट तक जाते है। इस दौरान ऐसे भी मामले सामने आये है जिसमें लड़की ने जब शादी या धर्मपरिवर्तन के लिए मना कर दिया तब उसकी हत्या कर दी जाती है। हरियाणा का निकिता मर्डर इसका जीता जागता उदाहरण है।

लव-जिहाद के बढ़ते मामलों के बाद अब कुछ राज्य सरकारों ने इसके खिलाफ कानून बनाने पर विचार किया है। मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश सहित कुछ राज्य सरकारों ने लव जिहाद को लेकर खुला बयान दिया और कहा कि इस पर तुरंत रोक नहीं लगाया गया तो दोषियों के खिलाफ कड़े कानून के तहत कार्रवाई की जायेगी। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने भी इससे संबंधित मामले पर एक फैसला जारी करते हुए कहा है कि सिर्फ शादी के लिए धर्म परिवर्तन को मान्य नहीं किया जायेगा। हालांकि कुछ सेक्यूलर चेहरे वाले लोग इसका भी विरोध कर रहे है और उनका मानना है कि लव जिहाद जैसा कुछ भी नही है।

आपकी प्रतिक्रिया...