कांग्रेस पर कोरोना कहर: दो दिग्गज नेताओं का निधन

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का बुधवार को निधन हो गया। वह कोरोना से संक्रमित थे और उनका इलाज गुरुग्राम के एक अस्पताल में चल रहा था। अहमद पटेल का करीब एक महीने से इलाज चल रहा था उन्हे सांस लेने में तकलीफ थी। बुधवार सुबह 3.30 बजे उनका निधन हुआ जिसकी जानकारी उनके बेटे फैजल ने दी। अहमद पटेल को कांग्रेस का चाणक्य कहा जाता है क्योंकि उन्होने पार्टी के लिए बहुत मेहनत की थी और कांग्रेस को ऐसे समय में भी जोड़े रखा था जब पार्टी टूटने की कगार पर थी।

अहमद पटेल के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दुख प्रकट किया और लिखा कि उनके निधन से दुखी हूं। अहमद पटेल ने कांग्रेस पार्टी को खड़ा करने में अहम भूमिका निभायी थी इसके साथ ही उन्होने सामाजिक कार्यो में भी काफी सहयोग दिया था।

कांग्रेस नेता अहमद पटेल के निधन पर सोनिया गांधी ने शोक व्यक्त किया और कहाकि, “मैने अपना एक सहयोगी खो दिया जो हमेशा पार्टी के लिए तत्पर था, उनकी ईमानदारी, मेहनत और योगदान को हमेशा याद किया जायेगा”

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी अहमद पटेल के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि, यह एक दुखद दिन है। अहमद पटेल पार्टी के लिए एक स्तंभ समान थे। उन्होने हमेशा ही पार्टी को खड़ा रखा और अपना पूरा सहयोग दिया। पार्टी उनके सहयोग को हमेशा याद रखेगी।

राहुल गाधी की बहन और कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी अहमद पटेल के निधन पर दुख प्रकट किया, प्रियंका ने लिखा, अहमद जी ना सिर्फ एक बुद्धिमान व्यक्ति थे बल्कि एक अनुभवी सहकर्मी भी थे जिनसे मैं हमेशा सलाह लेती रहती थी। वह एक अच्छे दोस्त के साथ साथ निष्ठावान और भरोसेमंद व्यक्ति थे। भगवान उनकी आत्मा हो शांति प्रदान करें।

कोरोना वायरस का कहर कांग्रेस पार्टी पर दोहरे तौर पर पड़ा है। सोमवार को असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई का निधन हुआ था और फिर बुधवार को अहमद पटेल का भी निधन कांग्रेस के लिए एक बड़ी छति है। कांग्रेस पार्टी के लिए तरुण गोगोई और अहमद पटेल का बहुत महत्तव था। यह दोनों नेता सोनिया गांधी के विश्वासपात्र माने जाते थे ऐसे में एक साथ दोनों नेताओं को निधन से पार्टी को गहरा झटका लगा है।

आपकी प्रतिक्रिया...