कितना खतरनाक है नया कोरोना वायरस? भारत सरकार ने बंद की विमान सेवाएँ

कोरोना वायरस का कहर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। लम्बे समय बाद अब पूरी दुनिया कोरोना के वैक्सीन की राह देख रही थी जिसमें धीरे धीरे सफलता मिलने ही वाली थी कि अचानक से सब कुछ बिगड़ता हुआ नजर आ रहा है। ब्रिटेन में नये प्रकार के कोरोना वायरस के पाये जाने के बाद से अब फिर से सभी देशों की चिंता बढ़ गयी है। ब्रिटेन में मिले नये संक्रमण को देखते हुए कई देशों ने विमान सेवाओं पर रोक लगा दी है जिससे वहां के नागरिक किसी और देश ना जा सकें। ब्रिटेन के बाद आस्ट्रेलिया में भी नये तरह के संक्रमण के फैलने की खबरें आ रही है।

इंग्लैड के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस का तेजी से प्रभाव बढ़ता नजर आ रहा है जिसके बाद जर्मनी, इटली, बेल्जियम, डेनमार्क, बुल्गारिया, तुर्की और कनाडा के ब्रिटेन से विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी गयी है। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए फ्रांस ने भी ब्रिटेन के लिए अपनी सीमाओं को बंद कर दिया है। ब्रिटेन सरकार की तरफ से जानकारी दी गयी है कि नया वायरस भी तेजी से फैल सकता है जिसके बाद वहां नये लॉकडाउन की घोषणा कर दी गयी है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के अनुसार यह वायरस पिछले वायरस की तुलना में 70 फीसदी अधिक संक्रमित हो सकता है। इसमें तेजी से फैलने और संक्रमित करने की क्षमता है।

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के डाक्टर इस वायरस पर रिसर्च कर रहे है लेकिन उन्होने कहा है कि इस पर अभी कोई बयान नहीं दिया जा सकता है। इस पर अध्ययन करने में समय लगेगा। डाक्टरों के मुताबिक वायरस अपनी मौजूदा बाहरी संरचना में हल्का बदलाव लाते है। अब चिंता करने योग्य बात यह है कि जब कोई वायरस अपनी बाहरी सतह की प्रोटीन की संरचना में बदलाव लाता है तो वह दवाओं और प्रतिरोधक क्षमता के प्रभाव को भी मात दे देता है।

ब्रिटेन में बढ़ते वायरस के खतरे को देखते हुए भारत सरकार ने भी विमान सेवाओं पर रोक लगा दी है। भारतीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि सोमवार 21 दिसंबर आधी रात से ब्रिटेन जाने वाली सभी विमान सेवाओं पर रोक लगा दी जायेगी जो 31 दिसंबर तक के लिए जारी रहेगी। वहीं ब्रिटेन से आने वाले विमान सेवाओं पर भी 22 दिसंबर से 31 दिसंबर तक के लिए अस्थाई रोक लगा दी गयी है लेकिन जो लोग मंगलवार को भारत पहुंच रहे है उनका कोविड टेस्ट के गुजरना होगा।

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने देश के लोगों से अपील की है कि वह सावधानी के साथ ही बाहर निकले। कोरोना से किसी को भी घबराने की जरुरत नहीं है। सरकार की तरफ से जरुरी कदम उठाये जा रहे है। इससे पहले कोरोना वैक्सीन को लेकर भी हर्षवर्धन ने ऐसी आशंका जाहिर की है कि जनवरी तक देश को कोरोना वैक्सीन मिल सकती है।

आपकी प्रतिक्रिया...