राम मंदिर निर्माण में दान देने से पहले यह जरुर पढ़ें!

प्रभु श्री राम का भव्य मंदिर सभी बाधाओं को पार करता हुआ अब अपने अंतिम चरण की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। सैंकड़ो सालों की लड़ाई के बाद राम मंदिर का निर्माण शुरु हुआ है इसलिए इस निर्माण को लेकर लोगों में खुशी देखने को मिल रही है और लोग राम मंदिर निर्माण के लिए समर्पण बड़ी मात्रा में कर रहे है। आप को बता दें कि राम मंदिर निर्माण में किसी भी तरह से सरकारी पैसे का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है ना ही किसी व्यक्ति विशेष द्वारा यह मंदिर तैयार किया जा रहा है। 
 
‘सब में राम और सबके राम’ की तर्ज पर ही देश के हर घर से पैसा इकट्ठा किया जा रहा है और लोग भी इसमें सहयोग कर रहे है। देश और विदेश से भी लोग सहयोग कर रहे है और राम मंदिर के लिए अपना समर्पण दे रहे है। राम मंदिर के लिए आम और खास सभी योगदान दे रहे है। राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से एक बैंक खाता नंबर जारी किया गया है जिसके माध्यम से आप मंदिर के लिए समर्पण कर सकते है लेकिन तमाम ऐसे भी परिवार है जो मोबाइल या फिर टेक्नॉलिजी से दूर है ऐसे ही करोड़ो लोगों को ध्यान में रखते हुए मंदिर ट्रस्ट की तरफ से एक अभियान शुरु किया गया है जो लोगों के घर घर जा कर राम मंदिर के लिए चंदा इकट्ठा कर रहे है। 
 
श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से निधि समर्पण संग्रह अभियान शुरु किया गया है जो 15 जनवरी से 27 फरवरी तक चलेगा। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य यह है कि राम भक्त उन लोगों के घर तक पहुंचे जो इस राम मंदिर निर्माण में अपना सहयोग देना चाहते है साथ ही उन हिंदुओं को भी जागरुक करना है जो भक्ति भाव और संस्कार से दूर होते जा रहे है। 
 
राम मंदिर के नाम पर फ्रॉड
राम मंदिर निर्माण के नाम पर कुछ अराजक तत्वों ने भी चंदा वसूलना शुरु कर दिया है हालांकि वह सभी अब पुलिस की गिरफ़्त में है और अपने कुकर्मों की सजा भुगत रहे है। इन लोगों ने भी राम मंदिर ट्रस्ट की ओरिजिनल जैसी एक रसीद छपवा ली थी और उसी के आधार पर लोगों से चंदा वसूल कर रहे थे लेकिन स्थानीय लोगों की शिकायत के बाद देश के अलग अलग राज्यों से ऐसे लोगों की गिरफ्तारी की गयी है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से इस तरह की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए टोल फ्री नंबर जारी किये गये है जिसके माध्यम से आप किसी भी तरह के फ्रॉड से बच सकते है। राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बैंकों के टोल फ्री नंबर जारी करते हुए कहा कि आप राम मंदिर से जुड़ी कोई भी शिकायत या जानकारी इन नंबरों से ले सकते है।
 
टोल फ्री नंबर
स्टेट बैंक ऑफ अयोध्या 18001805155 सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक 
पंजाब नेशनल बैंक 18001809800 सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक 
 
राम मंदिर निर्माण में अगर आप सहयोग करना चाहते है तो आप उपर दिये गये टोल फ्री नंबर से कोई भी जानकारी निशुल्क ले सकते है। इन टोल फ्री नबंर पर आप को केसै और कहां दान करना है इसकी जानकारी दी जायेगी। राम मंदिर निर्माण में रकम दान करने पर इनकम टैक्स में भी छूट दी जायेगी। राम मंदिर निर्माण के लिए राम भक्त घर-घर जाकर सभी से सहयोग ले रहे है लेकिन अगर आप उनके द्वारा दान नहीं करना चाहते है या फिर आप बड़ी रकम दान करना चाहते है तो आप टोल फ्री नंबर पर कॉल करके दान के लिए खाता नंबर, नियम और तरीका समझ सकते है। इसके सहयोग से आप किसी भी तरह के फ्रॉड या जालसाज़ी से भी बच सकते है। 
 
राम मंदिर समर्पण पर मिलेगी रसीद
आप जब भी राम मंदिर के लिए दान करते है तो आप को इसकी एक रसीद मिलती है जिस पर मंदिर से जुड़ी जानकारियाँ और भगवान राम का एक सुंदर चित्र होता है। अगर आप घर पर कैश में दान करते है तो आप को एक रसीद दी जाती है लेकिन अगर आप ऑनलाइन पेमेंट करते है तो आप को एक रसीद आप की इमेल आईडी पर भेजी जाती है। बैंक अकाउंट से ट्रांसफर करने वालों को मंदिर ट्रस्ट की साइट से रसीद डाउनलोड करनी पड़ती है। 
 
100 करोड़ का दान मिला
राम मंदिर निर्माण को लेकर पूरी दुनिया से लोग पैसा भेज रहे है क्योंकि राम मंदिर से करोड़ो लोगों की आस्था जुड़ी हुई है। राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि अभी तक 100 करोड़ से अधिक का फंड मिल चुका है और यह तेजी से बढ़ रहा है। राम मंदिर के लिए ऑनलाइन और ज़मीनी स्तर पर कार्यकर्ता चंदा इकट्ठा कर रहे है जिससे एक बड़े फंड की उम्मीद की जा रही है। राम मंदिर निर्माण के लिए देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी अपना सहयोग दिया है। बॉलिवुड स्टार अक्षय कुमार ने ना सिर्फ मंदिर के लिए दान दिया बल्कि एक वीडियो के माध्यम से सभी से अपील भी की है कि सब लोग राम मंदिर के लिए दान दें। 
39 महीने में तैयार होगा राम मंदिर
राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने एक बयान में बताया कि राम मंदिर का निर्माण कार्य 39 महीने में पूरा हो जायेगा और इसके बाद यह सभी राम भक्तों के लिए खोल दिया जायेगा। आप को बता दें कि 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसका भूमिपूजन का कार्य संपन्न हो चुका है और मंदिर निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है।    

आपकी प्रतिक्रिया...