ओमीक्रोन की वजह से आ सकती है तीसरी लहर!


कोरोना के नये प्रकार ओमीक्रोन (Omicron) की वजह से दुनिया एक बार फिर से खतरे में है और सभी को इस बात का डर होने लगा है कि तीसरी लहर फिर से आ सकती है। पहली दो लहर का असर जिस तरह पूरे देश और दुनिया पर पड़ा था वह सभी को याद है। अब लोग सिर्फ लॉकडाउन के नाम से डर जा रहे हैं। डेल्टा वेरिएंट की वजह से दूसरी लहर आयी थी जिसमें लाखों लोग संक्रमित हुए थे omicron और हजारों की संख्या में लोगों की मौत हुई थी। रिपोर्ट की मानें तो डेल्टा का संक्रमण जितना करीब 100 दिनों में फैला था उतना ओमीक्रोन सिर्फ 15 दिनों में फैल सकता है। कुल मिलाकर यह तीसरा संक्रमण बाकी दोनों से काफी अधिक प्रभावशाली है और अगर इस पर पूरी तरह से रोक नहीं लगायी गयी तो यह और अधिक तबाही मचा सकता है। 
डॉक्टरों के एक पैनल ने इस बात का दावा किया है कि ओमीक्रोन के वायरस शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम को धोखा देने में माहिर है और यह आसानी से शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। इस संक्रमण के लक्षण भी काफी कम है जिससे इसे आसानी से पकड़ा नहीं जा सकता है। बेहतर इम्युनिटी और दोनों वैक्सीन डोज ले चुके लोगों पर इसका असर कम हो सकता है लेकिन यह कहना गलत होगा कि उन्हें यह संक्रमण नहीं हो सकता है। सरकार की तरफ से पूरी सतर्कता रखी जा रही है लेकिन फिर भी अभी तक देश में दो लोगों को संक्रमित पाया गया है। यह दोनों लोग कर्नाटक के रहने वाले है। 
पूरी दुनिया के करीब 34 देशों में नया वैरिएंट मिला है जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, स्पेन, दक्षिण अफ्रीका, इटली, ब्राजील, सिंगापुर और भारत सहित कई देश शामिल है। दक्षिण अफ्रीका में सबसे अधिक करीब 200 लोग संक्रमित पाए गए है जबकि भारत में अभी तक सिर्फ 2 लोगों को ओमीक्रोन से संक्रमित पाया गया है। ओमीक्रोन को लेकर डब्ल्यूएचओ की तरफ से यह गया है कि इसके प्रभाव को लेकर अभी तक बहुत कुछ साफ नहीं हो सका है लेकिन यह कहा जा सकता है कि इससे भी बचने की जरूरत है और सभी को कोविड नियमों का पूरा पालन करना चाहिए। 

आपकी प्रतिक्रिया...