‘नकाब’ को लेकर दुनिया में कहां क्या है नियम?

आखिर इस्लाम के बढ़ते प्रभाव से अधिकतर देश डर क्यों जाते हैं? दुनिया के तमाम ऐसे देश हैं जो मुस्लिम आबादी पर रोक लगा चुके है और उनके रहन सहन पर भी सरकार का हस्तक्षेप रहता है। अफगानिस्तान का ताजा परिवर्तन शायद इन सभी सवालों का जवाब होगा। दुनिया के वह इस्लामिक देश जहां पूरी तरह से इस्लाम का पालन होता है वहां का भी मुस्लिम समाज खुश नहीं है जबकि भारत जैसे देश में मुस्लिम नेता और मुस्लिम मुख्यमंत्री की मांग होती है। आखिर इस बात की क्या गारंटी होगी कि उसके बाद भी राज्य में खुशी आएगी जबकि इस्लामिक राष्ट्र भी खुश नहीं है। हर देश के कुछ नियम और कानून होते हैं जिसका पालन सभी को करना चाहिए इससे ना सिर्फ समाज का विकास होगा बल्कि शांति के साथ समाज आगे बढ़ता है। हाल ही में कर्नाटक से शुरु हुआ हिजाब विवाद अब पूरी दुनिया में फैल चुका है लेकिन इस बात की जानकारी बहुत ही कम लोगों को है कि दुनिया के बाकी देशों में हिजाब को लेकर क्या कानून है? 

फ्रांस

फ्रांस पहला यूरोपीय देश है जिसमें खुले स्थानों पर हिजाब पहनने पर पाबंदी लगा दी गयी है। अप्रैल 2011 में आए कानून के बाद से सार्वजनिक स्थानों पर चेहरे को पूरी तरह से ढकने या फिर इस्लामिक परिधान के इस्तेमाल पर पूरी तरह से रोक लगा दी गयी है इसका उल्लंघन करने पर 150 यूरो जुर्माने का प्रावधान है जबकि किसी महिला को हिजाब के लिए मजबूर करने पर 30 हजार यूरो के जुर्माने का नियम बनाया गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक फ्रांस में करीब 50 लाख मुस्लिम महिलाएं है।

बेल्जियम

जुलाई 2011 में बेल्जियम में हिजाब पर पूरी तरह से रोक लगा दिया गया था। नए कानून में कहा गया कि ऐसा कोई भी पहनावा जो उस व्यक्ति की पहचान जाहिर नहीं होने देगा उस पर रोक लगाई जाती है। किसी भी सार्वजनिक स्थानों पर ऐसे पहनावे पर दंड होगा और नियम का पालन ना करने पर सजा भी हो सकती है।

नीदरलैंड

नीदरलैंड में इस्लामिक ड्रेस नकाब पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है। स्कूल, अस्पताल सहित सभी सार्वजनिक स्थानों पर बुर्का पहनने पर रोक लगी हुई है और ऐसा ना करने पर दंड का भी प्रावधान रखा गया है। लंबी मांग के बाद जून 2018 में इस कानून को संसद से पास किया गया था।

इटली

इटली एक ऐसा देश है जहां कुछ शहरों में हिजाब पर रोक है जबकि कुछ शहरों में इसे पहनने की आजादी मिली हुई है। दिसंबर 2015 में हिजाब पर बैन की मांग उठी और जनवरी 2016 में इसे अमल में लाया गया। फिलहाल के लिए हिजाब पर प्रतिबंध का नियम पूरे देश में लागू नहीं हुआ है।

ऑस्ट्रिया

ऑस्ट्रिया भी उन देशों की लिस्ट में शामिल है जहां हिजाब पर बैन लगा हुआ है। अक्टूबर 2017 में एक कानून के तहत स्कूलों और अदालतों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर पूरा चेहरा ढकने पर रोक लगा दी गयी है। इसलिए ऑस्ट्रिया में इस्लामिक पहनावे पर रोक लगी हुई है।

जर्मनी

दिसंबर 2016 में जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने एक आदेश में कहा था कि जहां तक कानूनी रूप से संभव हो पूरा चेहरा ढकने पर रोक लगा दी जाए हालांकि अभी तक पूरा चेहरा ढकने को लेकर कोई कानून नहीं पास किया गया है लेकिन ड्राइविंग के दौरान चेहरा ढकने पर मनाही है। इसके साथ ही चेहरा ढकने वाली महिलाओं को जरूरत पड़ने पर चेहरा दिखाना होगा।

वह देश जहां हिजाब पहनना प्रतिबंधित है

नार्वे

रुस

बल्गेरिया

स्विट्जरलैंड

डेनमार्क

तुर्की

ब्रिटेन

स्पेन

आपकी प्रतिक्रिया...