कैसा होगा संघ का शताब्दी वर्ष ? 

Continue Readingकैसा होगा संघ का शताब्दी वर्ष ? 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना को वर्ष 2025 में 100 वर्ष पूर्ण हो रहे हैं। 1925 में नागपुर में संघ स्थापना हुई थी। इस घटना को इस वर्ष 2022 की विजयादशमी को 97 वर्ष पूर्ण होंगे। संघ का कार्य किसी की कृपा से नहीं, केवल संघ के कार्यकर्ताओं के परिश्रम,…

मैं एक साधारण स्वयंसेवक

Continue Readingमैं एक साधारण स्वयंसेवक

स्वयंसेवक को बुद्धिवाद नहीं चाहिए : अब कोई यदि सोचता हो कि मैं बड़ा बुद्धिमान् हूँ और बुद्धि के बल पर दूसरे को संघ-कार्य की अच्छाई समझा दूंगा और वह हमारे साथ आयेगा, तो यह उसकी भूल है। माना कि अपने पास बुद्धि है, हम लोगों से वाद विवाद और…

“भारत हिंदू राष्ट्र है” – डॉ. हेडगेवार जी

Continue Reading“भारत हिंदू राष्ट्र है” – डॉ. हेडगेवार जी

भारत के सबसे बड़े समाजसेवी व राष्ट्रभक्त संगठन राष्ट्रीय स्वयंसवेक संघ के संस्थापक डॉ.केशवराव  बलिराम हेडगेवार का जन्म युगाब्द 4991 के चैत्र षुक्ल प्रतिपदा ( 1 अप्रैल 1889 /इस वर्ष 2 अप्रैल) को नागपुर के एक गरीब वेदपाठी परिवार में हुआ था। डॉ.हेडगेवार जी के पिता श्री बलिराम पंत व …

युगद्रष्टा संघ संस्थापक – डॉ. हेडगेवार

Continue Readingयुगद्रष्टा संघ संस्थापक – डॉ. हेडगेवार

डॉक्टर हेडगेवार सामान्य दिखने वाले पर असामान्य कर्तृत्व के धनी थे। वे युगद्रष्टा थे। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का आज का विस्तार और कार्य उनके चिंतन और संगठन कौशल, राष्ट्रभक्ति का ही परिणाम है। उनकी पुण्य स्मृति को उनके जन्मदिन पर विनम्र अभिवादन। संघ संस्थापक डॉ. हेडगेवार सामान्य से दिखने वाले…

क्या है ये राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ?

Continue Readingक्या है ये राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ?

आ सिंधु-सिंधु पर्यन्ता, यस्य भारत भूमिका l पितृभू-पुण्यभू भुश्चेव सा वै हिंदू रीति स्मृता ll इस श्लोक के अनुसार “भारत के वह सभी लोग हिंदू हैं जो इस देश को पितृभूमि-पुण्यभूमि मानते हैं” वीर दामोदर सावरकर के इस दर्शन को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का मूलाधार बनाकर संघ का संगठन,…

यह 1947 नहीं 2021 है, बंटवारे के बारे में सोचना भी नहीं- मोहनजी भागवत

Continue Readingयह 1947 नहीं 2021 है, बंटवारे के बारे में सोचना भी नहीं- मोहनजी भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संघ प्रमुख मोहनजी भागवत ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि भारत का विभाजन कभी ना खत्म होने वाला दर्द है। यह तभी समाप्त होगा जब यह विभाजन पूरी तरह से निरस्त किया जाए। नोएडा में एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम के दौरान संघ प्रमुख ने कहा…

कोरोना महामारी में फिर मददगार बने स्वयंसेवक

Continue Readingकोरोना महामारी में फिर मददगार बने स्वयंसेवक

कोरोना महामारी में बीमारी के साथ साथ इस बात का भी बड़ा दुख है कि जो लोग संक्रमित हो रहे है उनसे उनके अपने ही लोग दूर हो जा रहे है क्योंकि उन्हें इस बात का डर है कि कहीं वह भी संक्रमित ना हो जाएं और उनका यह डर…

End of content

No more pages to load