पत्थरबाजी से कहीं आर्थिक विकास प्रभावित न होने लगे

Continue Readingपत्थरबाजी से कहीं आर्थिक विकास प्रभावित न होने लगे

अभी हाल ही में अमेरिकी रेटिंग एजेंसी फिच ने भारतीय अर्थव्यवस्था के दृष्टिकोण (आउटलुक) में सुधार (अपग्रेड) किया है। फिच रेटिंग्स ने भारत की सॉवरेन रेटिंग के आउटलुक को “नकारात्मक” श्रेणी से अपग्रेड कर “स्थिर” श्रेणी में ला दिया है। भारत की सावरन रेटिंग में यह सुधार देश में तेजी…

चोर नही चोर की मां को पकड़ें

Continue Readingचोर नही चोर की मां को पकड़ें

भारत मे अधिकतर लोगों को यह ज्ञान नही कि बताने, बोलने, कहने, चिल्लाने और भौंकने में शब्दों का ही अंतर नही बल्कि क्रिया का भी अंतर है, भावना और संस्कृति का भी अंतर है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19 (1) में वर्णित स्वतंत्रता को लोग  ऐसा मान लेते हैं जैसे…

राजनैतिक दल डिलिस्टिंग के पक्ष में या विरोध में ?

Continue Readingराजनैतिक दल डिलिस्टिंग के पक्ष में या विरोध में ?

जनजातीय मुद्दों पर प्रतिदिन अपने स्वार्थ की रोटियां सेंकने वाले विभिन्न संगठन व राजनैतिक दल डिलिस्टिंग जैसे संवेदनशील मुद्दे पर चुप क्यों हैं? स्पष्ट है कि वे कथित धर्मान्तरित होकर जनजातीय समाज के साथ छलावा और धोखा देनें वाले लोगों के साथ खड़े हैं। ये कथित दल, संगठन और एनजीओ…

मोदी सरकार के 8 साल पूरे 56 अहम बातें और उपलब्धियां

Continue Readingमोदी सरकार के 8 साल पूरे 56 अहम बातें और उपलब्धियां

1- 1984 के बाद 2014 में मोदी ने भारत को पूर्ण बहुमत की सरकार दी.. 26 मई 2014 को मोदी ने पीएम पद की शपथ ली थी 2- आज भारत की 66 करोड़ से ज़्यादा आबादी पर राज्य सरकारों के माध्यम से बीजेपी का शासन है 3- भारत की 42…

बदले हुए भारत से साक्षात्कार 

Continue Readingबदले हुए भारत से साक्षात्कार 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के इतिहास में पहले नेता हैं जिन्होंने एक राज्य का मुख्यमंत्री रहते हुए प्रधानमंत्री बनने की तैयारी की , इसके लिए अपनी एक बड़ी टीम बनायी, स्वयं राष्ट्रीय स्तर पर बात रखने का अभियान आरंभ किया, धीरे-धीरे ऐसी स्थिति निर्मित की जिसे देखकर भाजपा और राष्ट्रीय…

राज ठाकरे के वर्तमान तेवर के मायने

Continue Readingराज ठाकरे के वर्तमान तेवर के मायने

राज ठाकरे अचानक इस ढंग से पूरे देश में कई दिनों तक चर्चा के विषय रहेंगे और उनके साथ भारी संख्या में जनशक्ति दिखाई देगी इसकी कल्पना शायद ही किसी ने की होगी। लंबे समय से ऐसा लग रहा था जैसे राज ठाकरे राजनीति में सक्रिय है ही नहीं। पिछले…

राजनीतिक उलझन में फंसा यूपी का मुसलमान

Continue Readingराजनीतिक उलझन में फंसा यूपी का मुसलमान

हाल ही में हुए उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मुसलमानों ने अखिलेश यादव को वोट किया, कभी कांग्रेस का वोटर माना जाने वाला मुस्लिम समुदाय अब सपा की साइकिल पर अपना भविष्य देख रहे हैं। मुलायम सिंह यादव ने जो कुछ अपनी राजनीति के दौरान किया उससे मुस्लिम वोटर…

भाजपा की ऐतिहासिक विकास यात्रा

Continue Readingभाजपा की ऐतिहासिक विकास यात्रा

भारतीय जनता पार्टी 6 अप्रैल को अपना स्थापना दिवस मनाती है। राष्ट्रवादी दल के रूप में पूरे भारत में अपनी पहचान बना चुकी भाजपा का वर्तमान में अब तक का  सर्वश्रेष्ठ दौर चल रहा है। श्रीरामजन्मभूमि  मंदिर आन्दोलन को राजनैतिक समर्थन देने के साथ ही  भाजपा की उर्ध्वगामी यात्रा प्रारंभ…

अल्पसंख्यक और बहुसंख्यक पर छिड़ी बहस

Continue Readingअल्पसंख्यक और बहुसंख्यक पर छिड़ी बहस

  जब से कश्मीर फाइल्स फिल्म रिलीज हुई है तब से बहुत सारे प्रश्न सामाजिक विमर्श में उभर आए हैं तथा आम जनमानस उन प्रश्नों के उत्तर की तलाश कर रहा है । एक प्रश्न यह भी है कि अल्पसंख्यकों को विशेष अधिकार क्यों , भारत में अल्पसंख्यक और बहुसंख्यक…

अस्सी बनाम बीस प्रतिशत

Continue Readingअस्सी बनाम बीस प्रतिशत

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 80% बनाम 20% का बयान जिस सघन बहस, विवाद और बवंडर का आधार बना है वह अस्वाभाविक नहीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, योगी आदित्यनाथ और कुछ हद तक गृह मंत्री अमित शाह ऐसे नाम हैं, जिनके एक-एक शब्द का विशेष दृष्टिकोण और परिधि के…

संसद में ‘माननीय’ कहने योग्य बचे हैं नेता?

Continue Readingसंसद में ‘माननीय’ कहने योग्य बचे हैं नेता?

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जहां हर व्यक्ति अपनी पसंद से अपना प्रतिनिधि चुनता है और वह प्रतिनिधि अपने क्षेत्र की समस्या को लेकर संसद में सरकार के साथ या फिर विरोध में रहता है। संसद की कार्यप्रणाली के अनुसार सरकार और विपक्ष एक साथ आकर देश के विकास को लेकर…

ममता बनर्जी के लिए दूर है दिल्ली

Continue Readingममता बनर्जी के लिए दूर है दिल्ली

इसी साल के पूर्वार्द्ध में संपन्न पश्चिम बंगाल विधानसभा सभा के चुनावों में तृणमूल कांग्रेस की शानदार विजय के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अंदर यह महत्वाकांक्षा जाग उठी है कि अगर वे देश के विपक्षी दलों को एकजुट करने में सफल हो जाएं तो उनके लिए  पश्चिम बंगाल से…

End of content

No more pages to load