हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

एक राजा क‍ी तीन बेटियां थीं। तीनों बेहद खूबसूरत थीं। सबसे बडी़ बेटी का नाम आहना उससे छोटी याना और सबसे छोटी का नाम सारा था। एक बार तीनों अपने राज्य के जंगल में घूमने न‍िकलीं। अचानक तूफान आ गया। उनके साथ आया सुरक्षा दल इधर-उधर ब‍िखर गया। वे तीनो जंगल में भटक गई थीं।

सारा बहुत डर गई उसने व‍िनती क‍ी, लेकिन राक्षस नहीं माना। फ‍िर राक्षस ने एक शर्त रखी क‍ि तुम्हारी बहनों को जाने दूंगा पर तुम्हें यहीं रुकना होगा। सारा ने यह शर्त मान ली और राक्षस के साथ रहने लगी। राक्षस के अच्छे व्यवहार से धीरे-धीरे उनके बीच दोस्ती हो गई। एक द‍िन राक्षस ने सारा को उसके साथ शादी करने के लिए कहा। सारा न ही हां कर पाई और न ही मना। राक्षस ने इस बात के कारण कभी उस पर कोई दबाव नहीं डाला।

एक बार एक जादुई आईने में सारा ने देखा क‍ि उसके प‍िता क‍ी तब‍ीयत ठीक नहीं है। वह रोने लगी। यह देख राक्षस ने उसे सात द‍िन के ल‍िए घर जाने क‍ी इजाजत दे दी। अपने पर‍िवार के साथ वह खुश रहने लगी। उसके प‍िता क‍ी तब‍ीयत भी ठीक हो गई। एक रात सारा ने सपने में देखा क‍ि राक्षस बीमार है और उसे बुला रहा है।

वहां जाकर उसने देखा क‍ि राक्षस जमीन पर पड़ा हुआ है। यह देख सारा रोते हुए उसके पास गई। उसे गले लगाकर बोली उठो मैं तुमसे प्यार करती हूं और तुमसे शादी करना चाहती हूं। यह सुनते ही राक्षस एक सुंदर राजकुमार में बदल गया। वह बोला क‍ि मैं यही शब्द सुनने का इंतजार कर रहा था।

उसने बताया क‍ि एक बुरी औरत ने उसे श्राप द‍िया था और कहा था कि जब तक उसे उसका प्यार नहीं मिल जाता वह इसी हाल में तड़पता रहेगा। इसके बाद राजकुमार और राजकुमारी ने शादी कर ली और खुशी-खुशी रहने लगे।

                                               – संध्या परिहार

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu