“आइटम” के चक्कर में बुरे फंसे कमलनाथ!

आखिर ऐसा क्यों होता है कि अक्सर नेता अपनी ज़ुबान से काबू खो देते है और किसी के लिए कुछ भी टिप्पणी कर देते है। क्या उन्हे यह पता नहीं होता कि वह किन शब्दों का इस्तेमाल कर रहे है और उनके इस बयान का किसी के उपर क्या असर पड़ सकता है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की भी जुबान एक बार फिर से फिसली है और उन्होने प्रदेश की एक महिला मंत्री को ‘आइटम’ कह कर पुकारा है। हमारी भारतीय संस्कृति में कोई भी आइटम शब्द नहीं है लेकिन बिगड़ती भाषा के दौर में इसका इस्तेमाल अलग अलग चीजों के लिए किया जाता है लेकिन किसी महिला के लिए इस शब्द का इस्तेमाल करना बिल्कुल गलत है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने क्या सोच कर यह बयान दिया यह तो उन्हे ही पता होगा लेकिन अब इस बयान की वजह से उनकी मुसीबत बढ़ती जा रही है और बीजेपी सहित तमाम दल उनके इस बयान का लेकर हमलावर हुए है। मध्य प्रदेश में बीजेपी ने मौन धरना प्रदर्शन भी शुरु कर दिया है बीजेपी की तरफ से लगातार यह मांग हो रही है कि कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई की जाए। मध्य प्रदेश की भाजपा महिला नेता इमरती देवी ने खुद के लिए आइटम शब्द के इस्तेमाल को लेकर कमलनाथ को खरीखोटी सुनाई है और सोनिया गांधी से मांग की है कि कमलनाथ के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए।

कभी मध्य प्रदेश से कांग्रेस का चेहरा रह चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी कमलनाथ सहित कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला और कहा कि लगातार महिलाओं को लेकर आते बयान से कांग्रेस की महिलाओं को लेकर क्या मानसिकता है यह जाहिर होती जा रही है। सिंधिया ने दिग्विजय सहित उन नेताओं का नाम लिया जिन्होने अब तक महिला नेताओं को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। दलित समाज की इमरती देवी ने सरपंच से राजनीति की शुरुआत की थी और आज मंत्री पद तक का सफर तय किया है ऐसी मेहनती इमानदार महिला के लिए आइटम शब्द का इस्तेमाल पूरी तरह से गलत है।

बसपा सुप्रीमों मायावती ने भी मौके को ना गवातें हुए कमलनाथ पर हमला बोला और कांग्रेस आलाकमान से मांग करते हुए कहा कि इस बयान पर पार्टी को मांफी मांगनी चाहिए। कमलनाथ को इस तरह से किसी दलित महिला का अपमान करने का अधिकार नही है। इससे पहले भी राजस्थान में हुए विवाद को लेकर मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोला था।

मध्य प्रदेश में 28 सीटों पर 3 नवंबर को उपचुनाव होना है जिसको लेकर राजनीति नेताओ के बोल फिर से बिगड़ने लगे है। रविवार को कांग्रेस नेता कमलनाथ ने एक रैली को संबोधित करते हुए पार्टी के उम्मीदवार सुरेश राजे का परिचय करवाया इस दौरान कमलनाथ ने कहा कि यह उनके जैसे नही है… क्या है उसका नाम….मैं क्या उसका नाम लूं…..आपको तो मुझे पहले ही सावधान करना चाहिए था…. ये क्या आइटम है…..इसके बाद भीड़ ने इमरती देवी का नाम लिया और सभी हंसने लगे….

आपकी प्रतिक्रिया...