मोटापा: दवा नहीं योग से कम करें मोटापा

आज के समय में शरीर का वजन बढ़ना बेहद ही आम बात हो चुकी है और इसके पीछे कोई एक कारण नही है। हमारा शरीर हमारी संस्कृति और परंपरा से बिल्कुल अलग हो चुका है यह पूरी तरह से अब पाश्चात्य सभ्यता के साथ जी रहा है जिससे शरीर को तमाम तरह की बिमारियों और असुविधाओं से जूझना पड़ रहा है। नौकरी और व्यापार की तलाश में हमारा खाना-पीना बिल्कुल भी समय पर नहीं हो रहा है साथ ही नींद भी जरुरत के कम हो पाती है। ज्यादातर समय हम घर से बाहर होते है इसलिए खाना-पीना भी बाहर का ही होता है जिसमें फैट की मात्रा अधिक होने से हमारे शरीर का वजन तेजी से बढ़ता है और हम थोड़े ही समय में मोटे नजर आने लगते है। ऑफिस में काम करने वाले लोग 8-10 घंटे तक सीट पर ही बैठे रहते है जिससे उनका पेट निकल जाता है और शरीर का वजन भी बढ़ जाता है।

शरीर का वजन कम करने के लिए दवा, जिम और योग का सहारा लिया जा सकता है। इन सभी से आप अपने शरीर का वजह कम कर सकते है लेकिन सबके अपने अपने फायदे और नुकसान भी है। अगर आप दवा का इस्तेमाल करते है तो आप जल्दी ही वजह कम कर सकते है लेकिन उन दवाओं के दुष्परिणाम को आप के शरीर को झेलना होगा और बाद में यह किसी रोग को भी जन्म दे सकते है। अगर आप जिम में हर दिन घंटों का समय बिताते है तो भी आप जल्द ही आप अपना वजन कम कर सकते है और शरीर को सुडौल बना सकते है लेकिन जैसे ही आप खुद को जिम से दूर करेंगे आप का शरीर फिर से उसी अवस्था में आ जायेगा। जिम में ज्यादा कठिन परिश्रम करने से आप के शरीर की हड्डियों को अधिक दबाव झेलना पड़ता है जिससे युवा अवस्था के बाद यह हड्डियां जल्दी कमजोर हो जाती है लेकिन अगर आप इन दोनों की जगह योग का सहारा लेते है तो इससे आप के शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा और आप अपने शरीर को उसके अनुपात में ला सकेंगे। योग करने की सबसे बड़ी खासियत यह है कि एक योग के कई फायदे होते है अगर आप मोटापा कम करने के लिए योग करते है तो उसका शरीर के दूसरे अंगों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
दुनिया में उन लोगों की संख्या काफी अधिक है जो मोटापे से परेशान है लेकिन तमाम परेशानियों के बाद भी वह इसे अपने जीवन का हिस्सा बनाकर उसे झेल रहे है क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि लोग ऐसी परेशानियों को नजरअंदाज कर देते है क्योंकि उनके पास भी समय की कमी होती है। उनके पास ना तो डाक्टर के पास जाने का समय है और ना ही हर दिन योग करने का समय है इसलिए वह मोटापे जैसी बिमारी को अपनी जिंदगी का हिस्सा बना कर घूम रहे है।
योग में कोई ऐसा आसन नहीं है जो किसी एक लाभ के लिए बना हो। योग से शरीर के अलग अलग भागों को लाभ मिलता है वैसे ही शरीर का वजन कम करने के लिए भी कोई खास योग नहीं है लेकिन अगर आप निरंतर व्यायाम और योग करते है तो आप एक निरोगी और संतुलित शरीर बना सकते है। शरीर को संतुलित रखने के लिए ना सिर्फ योग बल्कि खान-पान और नींद पर भी ध्यान देना होगा।

मोटापा कम करने के लिए योग

कपालभाति
शरीर की ज्यादातर बिमारी पेट से शुरु होती है इसलिए पेट को सही रखना सबसे जरुरी होता है। कहते है कि अगर पेट सही है तो पूरा शरीर सही होता है। योग में कपालभाति को सबसे उपयोगी माना जाता है इसके उपयोग से पेट और श्वांस दोनों स्वस्थ्य रहते है जिससे शरीर पूर्णरुप से स्वस्थ्य होता है और बिमारी से बचता है। कपालभाति मोटापे को कम करने में भी उपयोगी होता है।
सूर्य नमस्कार
सूर्य नमस्कार को तमाम आसनों का राजा कहा जाता है इसमें एक ही आसन को 12 बार किया जाता है। यह एक ऐसा आसन है जिसका लाभ पूरे शरीर को मिलता है खासकर मांसपेशियों को। इस आसन के बाद शरीर में एक अलग तरह की ऊर्जा उत्पन्न होती है जो आप को स्फूर्ति और बल प्रदान करती है। इस योग के नितंतर उपयोगी से मोटापे को कम किया जा सकता है।
भुजंगासन
भुजंगासन के उपयोग से पीठ और कमर के दर्द में बहुत राहत होती है लेकिन इसे मोटापे के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इस आसन के दौरान शरीर के अंदर वायु अधिक मात्रा में प्रवेश करती है जो हमारे खून को साफ करती है जिससे खून में मिश्रित अपोषित तत्व निकल जाते है और हमारा शरीर मोटापे सहित तमाम रोगों से बच जाता है।
धनुरासन
इस आसन के निरंतर उपयोग से पैर और भुजाओं को मजबूती मिलती है। पेट की मांसपेशियों में खिचाव होता है जिससे पेट लचीला होता है और चर्बी कम होती है। धनुरासन शरीर के मोटापे को कम करने में भी काफी हद तक कारगर साबित होता है।

आपकी प्रतिक्रिया...