पाकिस्तान में कट्टरपंथियों ने की श्रीलंकाई नागरिक की हत्या

Continue Readingपाकिस्तान में कट्टरपंथियों ने की श्रीलंकाई नागरिक की हत्या

कुछ दिन पहले ही भारत में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ईशनिंदा कानून की वकालत की थी और कहा था कि भारत में भी इसे लागू करना चाहिए। इसे लागू करने के लिए तर्क भी दिए गये थे हालांकि बाद में उसका मुस्लिम समुदाय की तरफ से भी…

बांग्लादेश में हिन्दू उत्पीड़न सदियों पुरानी व्यथा-कथा

Continue Readingबांग्लादेश में हिन्दू उत्पीड़न सदियों पुरानी व्यथा-कथा

क्या शिक्षा वाकई कट्टरपंथ की प्रभावी काट है? शायद नहीं। कम से कम बंगाल के मामले में तो ऐसा नहीं लगता है। 19वीं सदी में बंगाल के दो प्रमुख अलगाववादी मुस्लिम संगठनों का गठन हुआ। साल 1863 में मुहम्मडन लिटरेरी सोसायटी और 1877 में सेंट्रल मोहम्मडन एसोसिएशन। इन दोनों को चलाने वाले मुस्लिम अभिजात्य वर्ग के लोग थे।

इस्लाम का सबसे ताकतवर हथियार ‘अल-तकिया

Continue Readingइस्लाम का सबसे ताकतवर हथियार ‘अल-तकिया

इसने इस्लाम के प्रचार प्रसार में जितना योगदान दिया है उतना इनकी सैंकड़ों हजारों कायरों की सेनायें नहीं कर पायीं । इस हथियार का नाम है "अल - तकिया" । अल-तकिया के अनुसार यदि इस्लाम के प्रचार , प्रसार अथवा बचाव के लिए किसी भी प्रकार का झूठ, धोखा ,…

इस हिंसा को गंभीरता से लेना जरूरी 

Continue Readingइस हिंसा को गंभीरता से लेना जरूरी 

महाराष्ट्र के कई शहरों की डरावनी हिंसा ने फिर देश का ध्यान भारत में बढ़ रहे कट्टरपंथी तंजीमों की ओर खींचा है। 12 नवंबर को मुस्लिम समुदाय के अलग-अलग संगठनों द्वारा आयोजित जुलूस, धरने व रैलियों से कुछ समय के लिए हिंसा का जैसा कोहराम मचा सामान्यतः उसकी कल्पना नहीं…

बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हमले हिन्दू समाज के निर्मूलन का योजनाबद्ध प्रयास – अरुण कुमार (सह सरकार्यवाह)

Continue Readingबांग्लादेश में हिन्दुओं पर हमले हिन्दू समाज के निर्मूलन का योजनाबद्ध प्रयास – अरुण कुमार (सह सरकार्यवाह)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह अरुण कुमार जी ने बताया कि कार्यकारी मंडल की बैठक में बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हमलों को लेकर प्रस्ताव पारित किया गया है. बांग्लादेश में हिन्दू समाज पर आक्रमण अचानक घटित घटना नहीं है. फेक न्यूज के आधार पर साम्प्रदायिक उन्माद पैदा करने की…

बांग्लादेश को हिंदू विहीन करने का सुनियोजित षड्यंत्र है, यह हिंसा

Continue Readingबांग्लादेश को हिंदू विहीन करने का सुनियोजित षड्यंत्र है, यह हिंसा

नवरात्रि के समय बांग्लादेश में एक फर्जी फेसबुक पोस्ट की अफवाहों के बाद वहां पर हिंदू मंदिरों, घरों व  व्यावसायिक ठिकानों पर लगातार हमले हो रहे हैं। हिंदू महिलाओं व युवतियों  के साथ बलात्कार की दर्दनाक घटनाएं हो रही हैं। सर्वाधिक भयानक हिंसा रंगपुर डिवीजन के पीरगंज उपजिला में एक…

बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिन्दुओं पर खतरा!

Continue Readingबांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिन्दुओं पर खतरा!

भारत सहित पड़ोसी देश बांग्लादेश में भी जिहादी ताकतों में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। इस बार बांग्लादेश में दुर्गा पूजा का पुरजोर विरोध किया गया और जिहादी मानसिकता से ग्रसित लोगों ने ना सिर्फ दुर्गा पूजा पंडाल को तोड़ा बल्कि मूर्तियों को भी खंडित किया। इस दौरान पूजा…

क्या कश्मीर में लौट रहे हैं 1990 के हालात ?

Continue Readingक्या कश्मीर में लौट रहे हैं 1990 के हालात ?

कश्मीर में आम नागरिकों की आतंकियों द्वारा हत्या ने खौफनाक हालात पैदा कर दिए हैं। यह स्थिति भारत सरकार और सुरक्षा बलों के लिए बड़ी चुनौती है। आतंकी संगठनों ने 18 दिन के भीतर बारह बेकसूर नागरिकों की निर्मम हत्याएं की हैं। इनमें दस गैर-मुस्लिम हैं। इनमें से ज्यादातर उत्तर-प्रदेश,…

तालिबानी मानसिकता से ग्रसित हैं जावेद अख्तर!

Continue Readingतालिबानी मानसिकता से ग्रसित हैं जावेद अख्तर!

फिल्म लेखक जावेद अख्तर के बोल एक बार फिर से बिगड़े और उन्होंने तालिबान की तुलना आरएसएस से कर दी हालांकि उनकी इस बदजुबानी की वजह से शिवसेना के मुखपत्र सामना में उनकी कड़ी आचोलना की गई और कहा गया कि आरएसएस की तालिबान से तुलना कभी भी बर्दाश्त नहीं…

मालदीव में मजबूत हुईं भारत विरोधी ताकतें

Continue Readingमालदीव में मजबूत हुईं भारत विरोधी ताकतें

श्रीलंका के दक्षिण पश्चिम हिंद महासागर में स्थित 1,200 छोटे-छोटे द्वीपों वाले देश मालदीव में अंतत: भारत विरोधी ताकतें सत्ता पर मजबूती से काबिज होने में सफल रहीं।

नियति के शिकंजे में अफगानिस्तान

Continue Readingनियति के शिकंजे में अफगानिस्तान

अफगानिस्तान किसी जमाने में भारत का ही अंग था। भारतीय और अफगानी जनता में मैत्रीभाव था। अफगानिस्तान के सुदूर इलाकों तक हिंदुओं के व्यवहार थे। इसे ध्यान में रखकर अफगानिस्तान को फिर करीब लाने की चुनौती भारत के समक्ष है।

क्या मुसलमान इसका विचार करेंगे?

Continue Readingक्या मुसलमान इसका विचार करेंगे?

आज के पाकिस्तान पर मैंने हाल ही में एक किताब लिखकर पूरी की है। यह लेख उस पुस्तक के बारे में नहीं है, परंतु पुस्तक के लिए किये गये अध्ययन के दौरान भारतीय मुसलमानों के बारे में अनेक पहलू मेरे समक्ष उजागर होते गए।

End of content

No more pages to load