हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

एक बतख थी, उसके दो बच्चें थे।  एक का नाम था लालू और दूसरे का नाम था पीलू।  वे दोनों आपस में बहुत प्यार से रहते थे।

लालू को लाल – लाल चीजें खाने का शौक था और पीलू हमेशा पिली चीजें खाता था।  एक दिन बत्तख कहीं दूर घूमने चली गयी थी।

लालू और पीलू दोनों अपने घोसलें के पास खेल रहे थे।  कुछ देर बाद लालू को एक पौधा दिखाई दिया, उसमें लाल – लाल फल लटक रही थी।

लालू ने जैसे ही लाल देखा उसने झट से तोड़कर खा लिया , और खाने के बाद उसे बहुत जलन होने लगी , वह  लाल मिर्ची का पौधा था।

लालू रोने लगा , पीलू ने लालू को रोता देखा तो वह तुरंत गया और अपनी चोंच में पीला गुड़ लेकर आया , उसने लालू को गुड़ खाने को कहा।  लालू ने जब मीठा गुड़ खाया तो उसकी जलन बंद हो गयी।

दोनों एक दूसरे के गले मिले , जब बत्तख आयी तो लालू और पीलू ने बत्तख को पूरी कहानी सुनायी।  बतख ने अपने बच्चों को पुचकारा और प्यार से गले लगा लिया।

शिक्षा – दोस्तों इस कहानी से हमें सिख मिलती हैं की हमें दूसरों की सहायता करनी चाहिए।  

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: