हिंदी विवेक : we work for better world...

गर्मियों का मौसम है। सूरज मानों अंगारे बरसा रहा है। बाहर गर्मी कम करना तो अपने वश में नहीं है परंतु कुछ बातों का ध्यान रखकर हम अपना घर तो ठंडा रख सकते हैं। घर ठंडा रहेगा तो दिल और दिमाग भी ठंडा रहेगा और हम अपना काम अच्छी तरह से कर पाएंगे।

1) कमरे का रंग:- गहरे और भड़कीले रंग ज्यादा गर्मी सोखते हैं, जबकि हल्के रंग कम गर्मी सोखते हैं। इसलिए कमरे की छत पर हमेशा सफेद रंग और कमरे में हल्के रंग जैसे हल्का हरा, हल्का नीला लगाएं। कमरा ठंडा रहेगा।

2) परदे :- गर्मियों में तेज धूप होती है। यदि कमरे के परदे पतले और  गहरे रंग के होंगे तो धूप को सोखकर कमरे को गर्म कर देंगे। इसलिए गर्मियों में हल्के रंग के मोटे सूती परदे लगाएं। कमरे में ठंडक बनी रहेगी।

3) बेड कवर :- लाल, जामुनी, नीला जैसे गहरे रंगों के बेडकवर डालने से गर्मी का अहसास ज्यादा होता है। इसलिए गर्मियों में हल्के रंग जैसे सफेद, हल्का गुलाबी, हल्का पीला आदि के कॉटन बेडकवर डालें। इन पर सोने-बैठने से गरम नहीं लगेगा।

4) पेड़ पौधे :- पेड़ पौधों से गर्मी का असर काफी कम हो जाता है। बड़े घरों में रहने वाले अपने आंगन में ज्यादा से ज्यादा पेड़ पौधे लगाएं। फ्लैट  में रहने वाले निराश ना हों, घर के अंदर गमलों में मनीप्लांट, बंबू, पान  या अन्य पौधे लगाएं। ये पौधे कम धूप में भी अच्छी तरह बढ़ते हैं। कमरे को शीतल रखते हैं। पौधों का हरा रंग आंखों को ठंडक पहुंचाता है।

5) ए.सी./कूलर/अन्य उपाय :- गर्मी दूर करने का सरल उपाय है ए.सी. और कूलर। इनसे ठंडक की ऐसी बयार चलती है कि दिल और दिमाग दोनों को सुकून मिलता है। कूलर चलाते समय उसके सामने कमरे में जालीदार खिड़की अवश्य होनी चाहिए। क्रांस वेंटिलेशन से हवा का सही बहाव और ठंडक बनी रहती है। अगर आपके घर में छत और सामने आंगन है तो शाम को छत पर और सामने आंगन में पानी का छिड़काव करें। इससे गर्मी निकल जाती है और घर ठंडा हो जाता है।

 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu