आत्मनिर्भरता में मनोरंजन क्षेत्र की भूमिका

Continue Reading आत्मनिर्भरता में मनोरंजन क्षेत्र की भूमिका

आज भारत को आत्मनिर्भर बनाने की बात हो रही है। उसी स्वर्णिम गौरव शाली वैभव को वापस पाने की बात की जा रही है जब हमारे देश को सोने की चिड़िया कहा जाता था। इस स्वप्न को साकार करने में मनोरंजन जगत की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका है।

पति बेचारा….. कोरोना और बारिश का मारा

Continue Reading पति बेचारा….. कोरोना और बारिश का मारा

“पत्नी ने भी झूठा गुस्सा दिखाते हुए एक गैस पर चाय का बर्तन और दूसरे पर कढ़ाई चढ़ा दी। साथ ही अपने भी वॉट्सएप्प ज्ञान का परिचय देते हुए पति को नसीहत भी दे डाली कि कल से रोटियां बनाना सीख लो क्योंकि मोदी जी ने कहा है कि जब तक देश के सारे मर्द गोल रोटियां बनाना नहीं सीख लेते तब तक लॉकडाउन नहीं खुलेगा।”

ऐसी रिमझिम में ओ सजन

Continue Reading ऐसी रिमझिम में ओ सजन

साधना पर फिल्माए ये दो गीत- तुम बिन सजन और बरखा बहार आई- हिन्दी सिनेमा और बरसात की युति की उत्कृष्ट देन है, जिन्हें आनेवाली पीढ़ियां सुनती रहेंगी, गुनती रहेंगी और गुनगुनाती रहेंगी।

बहाना

Continue Reading बहाना

पियक्कडों को देश की अर्थव्यवस्था ने आज उन्हें पुकारा है। देश ने पुकारा है तो जाना ही पड़ेगा।...राज्य का राजस्व बढ़ाने के लिए खुद का खजाना खाली करना पड़े तो क्या गम है? उनकी पत्नियों की आंखों से खुशी के आंसू बहने लगे। वे अपने पतियों की कल्पना सैनिकों की वर्दी में करने लगे।

28 मार्च से होंगे भगवान राम, लक्ष्मण और माता सीता के दर्शन

Continue Reading 28 मार्च से होंगे भगवान राम, लक्ष्मण और माता सीता के दर्शन

कल शनिवार 28 मार्च के रामायण का प्रसारण दूरदर्शन के नेशनल चैनल पर शुरू होगा। पहला एपिसोड सुबह 9:00 बजे और दूसरा एपिसोड रात 9:00 बजे होगा।

हिंदी विवेक मासिक पत्रिका के ‘फैशन दीपावली विशेषांक’ हेतु आलेख आमंत्रित

Continue Reading हिंदी विवेक मासिक पत्रिका के ‘फैशन दीपावली विशेषांक’ हेतु आलेख आमंत्रित

हिंदी विवेक मासिक पत्रिका के द्वारा इस वर्ष का दीपावली विशेषांक 'भारतीय फैशन' पर आधारित होगा. भारतीय परम्परा में सौंदर्य, श्रृंगार, परिधान, गहने आदि का बहुत महत्व है. फैशन के विभिन्न रूप जितने भारत में हैं उतने शायद ही कहीं और हों. भारतीय फैशन के इन्हीं विभिन्न पहलुओं को उजागर…

End of content

No more pages to load