हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

हाल ही में कंबोडिया में आयोजित AIAMA ( Abacusking International Abacus and Mental Arithmetic Alliance) की मेजबानी में अबेकस और मेंटल मैथ्स ओलंपियाड चैंपियनशिप में भारत की शानदार सफलता।
मुलुंड, ठाणे और अंबरनाथ में वंडर किड्स लर्निंग अकादमी की कुल सोलह लड़कों-लड़कियों की टीम ने अबेकस और मेंटल मैथ्स के विभिन्न समूहों में कई पदों पर जीत हासिल करके देश को एक बार और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध कर दिया है। प्रतियोगिता में 17 देशों के 235 प्रतियोगियों ने भाग लिया।
उनके ग्रुप में साहिल साने, मिहिर साने और आभा कारकल तीसरे स्थान पर रहे। साईराज सोनवणे, यूरेका पाटिल, दक्ष कदम और सुजय जगताप ने नंबर दो पर अपना नाम दर्ज किया। मृदुल अदुकिया, आरुष येवले, संकष्टी पाटिल, नेहा कदम, शौर्य नायक और अम्मान सैयद पहले क्रम के हकदार बने।
कुल मिलाकर, इंडोनेशिया, जो अधिकांश समूहों में चैंपियन और चैंपियन ऑफ चैंपियंस का स्थान रखता है, भारत के रोहित पाटिल और अजिंक्य पडगांवकर दोनों ने अपने ग्रुप में अच्छे स्कोर के साथ चैम्पियन पद जीत लिया। १૪ से ३० साल की उम्र के अंतिम और खुले ओलंपिक समूह में, १૪ साल की अनन्या राणे ने चैंपियन ऑफ चैंपियंस एबासकिंग का खिताब हासिल किया और अपने देश का नाम ऊंचा किया। इनमें से कई बच्चों ने पिछले साल की जोहानिसबर्ग में पाई सफलता को दोहराया।
वंडर किड्स लर्निंग एकेडमी की शिक्षिका श्रीमती लीना पाटिल को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार मिला। सर्वश्रेष्ठ टीम के साथ वंडर किड्स लर्निंग एकेडमी के संचालक श्री. आशुतोष पाटिल को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्रीमती श्रुति पाटिल, निदेशक, ठाणे केंद्र को भी सम्मानित किया गया। AIAMA के अध्यक्ष ने घोषणा की कि यह अबेकस ओलंपियाड अगले साल ताइवान में आयोजित किया जाएगा।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: