जयंती: युगों युगों तक अमर रहेंगे महाराजा अग्रसेन

Continue Readingजयंती: युगों युगों तक अमर रहेंगे महाराजा अग्रसेन

भारतवर्ष में ऐसे तमाम देवी-देवताओं और राजाओं ने जन्म लिया है जिन्हे युगों युगो तक याद किया जाता रहेगा। ऐसे युगान्तर राजा के बताए मार्ग पर लोग आज भी चल रहे हैं। ऐसे लोगों को उनके सेवाभाव, प्रेम और उनकी नीति के लिए जाना जाता है। महाराजा अग्रसेन भी ऐसे…

सिद्धि और साधना का पर्व शारदीय नवरात्र

Continue Readingसिद्धि और साधना का पर्व शारदीय नवरात्र

केरल में नवरात्रि देवी सरस्वती के सम्मान के रूप में  मनायी जाती है। इन नौ दिनों को केरल में सबसे शुभ माना जाता है। तमिलनाडु में नवरात्रि के समय गुड़ियों का एक प्रसिद्ध त्योहार मनाया जाता है, जिसे बोम्मई कोलू कहा जाता है।

दाह-क्रिया एवं श्राद्धकर्म का विज्ञान

Continue Readingदाह-क्रिया एवं श्राद्धकर्म का विज्ञान

मादा कौवा सावन-भादों यानी अगस्त-सितंबर में अंडे देती है। इन्हीं माहों में श्राद्ध पक्ष पड़ता है इसलिए ऋषि-मुनियों ने कौवों को पौष्टिक आहार खिलाने की परंपरा श्राद्ध पक्ष से जोड़ दी, जो आज भी प्रचलन में है। दरअसल इस मान्यता की पृष्ठभूमि में बरगद और पीपल वृक्षों की सुरक्षा जुड़ी है, जिससे मनुष्य को 24 घंटे ऑक्सीजन मिलती रहे।

संवेदनशील भारत की सेवागाथा

Continue Readingसंवेदनशील भारत की सेवागाथा

कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने रविवार 22 मार्च 2020 को जनता कर्फ़्यू का आवाहन किया और 25 मार्च को सारे देश में लॉकडाउन की घोषणा हुई।

महारानी दुर्गावती ने जब अकबर को दिया था लोहा, जबलपुर में आज भी होती है इस वीरांगना की पूजा

Continue Readingमहारानी दुर्गावती ने जब अकबर को दिया था लोहा, जबलपुर में आज भी होती है इस वीरांगना की पूजा

  आज हमारे देश की सभ्यता और संस्कृति बची है तो उसके लिए कुछ लोगों को अपना बलिदान देना पड़ा था जिसमें एक नाम महारानी दुर्गावती का भी है। महारानी ने अपने राज्य, देश और आत्मसम्मान के लिए शस्त्र धारण किया और अंतिम समय तक मुगलों से लड़ते हुए अमरत्व…

वैश्विक हिंदुत्व ख़त्म करने का षड़यंत्र

Continue Readingवैश्विक हिंदुत्व ख़त्म करने का षड़यंत्र

इनके इस पूरे क्रियाकलाप को यदि आप टुकड़ों में देखेंगे तो वामपंथ समझ में नहीं आएगा परंतु जब अनेक घटनाओं, अलग-अलग परिदृश्य को एकसाथ जोड़कर देखेंगे तो समझ आएगा कि जो स्वयं पर सिविल सोसाइटी लबादा ओढ़े हैं। उस लबादे के पीछे कबीलाई या कहिए वहशी जानवर छिपे हैं। ये सभ्य समाज का हिस्सा नहीं है।

आधुनिक विज्ञान के अनुकूल वैदिक ज्ञान…

Continue Readingआधुनिक विज्ञान के अनुकूल वैदिक ज्ञान…

हम भारतीय के रूप में महान संतों और हमारे पूर्वजों द्वारा लिखे गए पवित्र वेदों और हिंदू संस्कृति के ग्रंथों के गहरे और वास्तविक अर्थ को समझने में विफल रहे हैं।  मनोवैज्ञानिक रूप से देखा जाए तो हमारे प्राचीन काल के किसी भी ज्ञान को कहानी के माध्यम से दिखाने…

पीएम मोदी के जन्मदिन पर ऐसा उपहार !

Continue Readingपीएम मोदी के जन्मदिन पर ऐसा उपहार !

देश के प्रधानमंत्री ने 17 सितंबर को अपना 71वां जन्मदिन मनाया लेकिन यह बाकी जन्मदिन से बिल्कुल अलग था। हम अपने जन्मदिन पर केक काटते हैं और दोस्तों व परिवार के साथ पार्टी करते है जबकि पीएम मोदी ने अपने जन्मदिन पर ऐसा कुछ भी नहीं किया। उन्होंने अपना जन्मदिन…

राम मंदिर नींव के एक तरफ क्यों लगाया गया है भगवा ध्वज ?

Read more about the article राम मंदिर नींव के एक तरफ क्यों लगाया गया है भगवा ध्वज ?
Ayodhya: A view of the ongoing construction work of the Ram Mandir in Ayodhya, Thursday, Sept. 16, 2021. The foundation work of the temple is nearing completion. (PTI Photo)(PTI09_16_2021_000172A)
Continue Readingराम मंदिर नींव के एक तरफ क्यों लगाया गया है भगवा ध्वज ?

राम मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से आगे बढ़ रहा है और समय समय पर उसकी तस्वीरें भी राम भक्तों के लिए जारी की जा रही है। ट्रस्ट की तरफ से मीडिया को बुलाया गया और मंदिर निर्माण कार्य के बारे में सूचना दी गयी। राम मंदिर के नींव का…

भारतीय राजनीति में नरेंद्र “मोदी” होने के मायने

Continue Readingभारतीय राजनीति में नरेंद्र “मोदी” होने के मायने

भारत 'नवनिर्माण' की अमृत बेला से गुजर रहा है। 'अंत्योदय' के दर्शन में विकास को ढाल कर 'राष्ट्रोदय' की स्वर्णिम संकल्पना को साकार करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस युगांतरकारी 'नव निर्माण' के वास्तुकार हैं। वंचितों, शोषितों, उपेक्षितों, उपहासितों, किसानों और महिलाओं के सर्वांगीण उत्थान को समर्पित यह  'निर्माण प्रक्रिया' भारत…

चुनौतियों से भरा जीवन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जन्मदिन की शुभकामनाएं

Continue Readingचुनौतियों से भरा जीवन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जीवन बहुत ही संघर्षों के बीच गुजरा है और अब भी शायद कुछ ऐसा ही बीत रहा है हालांकि उन्होने जो मुकाम हासिल किया है वह आम लोगों के बस की बात नहीं है उसके लिए एक विशेष संघर्ष की ही जरूरत होती है। बेहद साधारण परिवार से…

भारतीय खेलों में प्रतिमान बदलाव

Continue Readingभारतीय खेलों में प्रतिमान बदलाव

हम 130 करोड़ से अधिक आबादी वाले देश हैं इसलिए स्वाभाविक रूप से खेल बिरादरी से बहुत अधिक अपेक्षाएं हैं।  टोक्यो ओलंपिक और पैरा ओलंपिक में प्रत्येक भारतीय ने हमारे एथलीटों के प्रदर्शन का तहे दिल से स्वागत किया है।  हालांकि ओलंपिक में पदकों की संख्या सिर्फ सात है, लेकिन…

End of content

No more pages to load