भ्रमित न हों राष्ट्रभक्त किसान – जनवरी २०२१

किसान आन्दोलन की आड़ में चीन-पाकिस्तान और राष्ट्रविरोधी शक्तियां भारत को तोड़ने के कुचक्र रच रही है. पाकिस्तान रेफरेंडम २०२० योजना के तहत पंजाब को एक अलग खालिस्तान देश के रूप में भारत से अलग करना चाहता है. अपने नापाक मंसूबों को पूरा करने के लिए वह अपनी पूरी ताकत भारत को अस्थिर करने हेतु झोंक रहा है. कांग्रेस, आप सहित अन्य विपक्षी पार्टियां कोई बड़ा खेल खेलने की फ़िराक में है. किसान आन्दोलन और खालिस्तान मूवमेंट के सन्दर्भ में विस्तार से हिंदी विवेक के इस अंक में प्रकाश डाला गया है. इसके अलावा हैदराबाद में भाजपा के सफल होने के मायने, लव जिहाद पर योगी की विधिक सर्जिकल स्ट्राइक, स्वामी विवेकानंद-एक अथक राष्ट्र पथिक, वैश्विक सहयोग से होगा महामारी का खात्मा, टीकाकरण का महाभारत, रक्तरंजित ममता राज, सावित्रीबाई फुले एवं मकर संक्रांति आदि महत्वपूर्ण आलेखों को इस अंक में समाहित किया गया है. पाठकों को हिंदी विवेक का यह अंक बेहद पसंद आएगा.

आपकी प्रतिक्रिया...