‘अखंड भारत के रास्ते में जो आएगा वह मिट जायेगा’

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ हमेशा से अखंड भारत की बात करता आ रहा है लेकिन आज सरसंघचालक मोहनजी भागवत ने इस पर एक बयान दिया जिसके बाद से राजनीति में भी हलचल शुरु हो गयी है। हरिद्वार में मोहनजी भागवत ने कहा कि 15 सालों में अखंड भारत का सपना भी पूरा हो जाएगा और जो भी लोग इसके लिए रुकावट पैदा करेंगे वह रास्ते हटा दिए जाएंगे। हम सभी को यह देखने का सौभाग्य भी प्राप्त होगा। मोहनजी भागवत ने अपने प्रवास के दौरान कहा कि सनातन धर्म ही हिन्दू राष्ट्र है और इसे हम जल्द ही पूरा करेंगे। हम अहिंसा की बात करते हैं लेकिन हम हाथ में डंडा भी लेकर चलते हैं हालांकि हम हिंसा के पक्षधर नहीं है लेकिन इस दुनिया में शक्ति के बिना कुछ नहीं होता है। 

संघ प्रमुख जी हरिद्वार में महामंडलेश्वर श्री 1008 स्वामी दिव्यानंद गिरि महाराज की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के लिए पहुंचे थे जहां उन्होंने हिन्दू राष्ट्र को लेकर एक बार फिर से हुंकार भरी। संघ प्रमुख ने उन लोगों की भी तारीफ की जो सनातन धर्म की आलोचना करते हैं उनके अनुसार अगर ऐसे लोग नहीं होंगे तो फिर हिन्दू को जगाने का काम कौन करेगा क्योंकि जब तक कहीं पर विरोध नहीं होता तब तक उसके खिलाफ लोग खड़े नहीं होते हैं। भारत लगातार अखंड भारत के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है और अब कोई रास्ते में आएगा तो वह मिट जाएगा। मोहनजी भागवत ने कहा कि संतों ने ऐसी भविष्यवाणी की है कि 20 से 25 सालों में भारत अखंड भारत बनेगा लेकिन अगर हम सभी इस काम को गति देंगे तो यह 15 सालों में पूरा हो जाएगा।

भगवान कृष्ण का उदाहरण देते हुए प्रमुख ने कहा कि जिस प्रकार से कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को एक उंगली पर उठा लिया था उसी प्रकार हम सभी संतों के आशिर्वाद से इस कार्य को भी जल्द ही पूरा कर लेंगे। भारत बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है और इसमें सरकार के साथ साथ आम लोगों की भी सहभागिता है और अगर यही गति बनी रही तो अखंड भारत का दिन दूर नहीं होगा। मोहनजी भागवत ने कहा कि हम सभी अलग अलग नाम पर बंटे हुए हैं हमें सबसे पहले एक होना होगा। देश के लिए सभी को एक होकर चलना होगा तभी भारत विश्व गुरु बनेगा। सनातन धर्म को मिटाने का प्रयास करीब एक हजार सालों से चला आ रहा है लेकिन उसे कोई नहीं मिटा सका। हिंदू आज भी पूरी दुनिया में है और उच्च स्थानों पर है।

आपकी प्रतिक्रिया...