fbpx
हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

उत्तर प्रदेश में कोरोना से जंग

Continue Reading

उत्तर प्रदेश सरकार राज्य की 23 करोड़ जनता को वैिेशक  महामारी कोविड -19 से बचाते हुए अन्य प्रदेशों में फंसे अपने प्रवासी मजदूरों, प्रतियोगी छात्रों आदि को सुरक्षित निकालते हुए उन्हें वापस घर पहुंचा रही है।

हिमाचल में बेअसर होता कोरोना

Continue Reading

कोरोना संकट के दौरान हिमाचल में हजारो संघ स्वयंसेवक अलग अलग संस्थाओं के माध्यम से लोगों की मदद कर रहे है। स्वयंसेवको ने सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करते हुए भोजन, माक्स और सेनिटाइजर उपलब्ध करवाएं है

शिर्डी में मानव सेवा

Continue Reading

कोरोना वायरस का प्रसार ना हो इसलिए राज्य शासन द्वारा निर्देश जारी किए गए थे। इसमें धार्मिक स्थल, सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्रित न हो या भीड़ एकत्रित न करें ऐसे निर्देश दिए गए थे। इस पोर्शभूमि में दिनांक 17 मार्च 2020 से श्री साईं बाबा समाधि मंदिर भक्तों के दर्शन हेतु बंद रखने का निर्णय श्रीसाईबाबा संस्थान कार्यकारी मंडल की ओर से लिया गया।

कोरोना योद्धा

Continue Reading

महामारी के इस मुश्किल समय में डॉक्टर, नर्स, हॉस्पिटल स्टाफ, पुलिस, मीडिया और सफाई कर्मी सहित तमाम ऐसे लोग शामिल हैं जो इस महामारी के दौरान अपने घरों में ना रह कर बाहर आम जनता के लिए ड्यूटी कर रहे हैं। कोरोना वॉरियर्स को अपने काम के लिए अपना परिवार, घर और यहां तक की बच्चों को भी छोड़ना पड़ा है

उत्तराखंड को देवभूमि यूं ही नहीं माना जाता

Continue Reading

उत्तराखंड कोरोना वायरस के दुष्प्रभावों से बाहर आने में सफल होता दिख रहा है।प्रवासी उत्तराखंड वासियों के लौटने से यदि राज्य में कोरोनो संक्रमण में बढ़ोतरी नहीं हुई तो राज्य को कोरोना से मुक्त होने में ज्यादा समय नही लगेगा।

कोरोना के खिलाफ जूझता मध्यप्रदेश

Continue Reading

मध्यप्रदेश सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण काल में ‘एफ.आई.आर.’ आपके द्वार योजना का शुभारंभ किया है जिससे समस्याओं का निवारण आसानी से हो सकेगा। अब जनता को रिपोर्ट लिखाने थाने तक नहीं जाना पड़ेगा।

कोरोना संकट के दौरान मोदी का नेतृत्व अमृतमय अवदान

Continue Reading

नयन बोल नहीं पाते और कलम देख नहीं पाती। वरना जो दृश्य इस स्तंभ को लिखते समय मन में कोलाहल निर्मित कर बैठे, वे कागज पर उतर आते।

कोरोना , संघ और सेवा कार्य

Continue Reading

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तो इतना काम कर रहा है वही जो वामपंथी एवं छद्म आंबेडकरवादी सदैव संघ की आलोचना करते हुए नहीं थकते थे, जो सब अब कहीं नहीं दिख रहे हैं। जब भी भारत पर संकट आया राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बड़ी ही तत्परता के साथ समाज कार्य में अपना योगदान दिया।

सेवा ,सावधानी , स्वदेशी और स्वावलम्बन आज का मूलमंत्र – पू. मोहनजी भागवत

Continue Reading

कोरोना संकट के दौरान संघ स्वयंसेवक पुरे समाज की आत्मीयता के साथ सेवा कर रहे हैं। यह भी संघ कार्य ही है। प्रस्तुत है सरसंघचालक पू. मोहनजी भागवत के कोरोना संकट और हमारे कर्तव्यों पर प्रदीर्घ भाषण का सेवा और स्वावलम्बन से सम्बधित सम्पादित अंश -

आत्मनिर्भरता का अध्यात्म -सेवा

Continue Reading

‘स्व’ की इस चेतना का विस्तार ही अध्यात्म है और उसके फलस्वरूप निःस्वार्थ भाव से किया गया कार्य ही ‘सेवा’ है।इस प्रकार जब समाज का हर व्यक्ति अपने व्यक्तित्व को गढ़ता है और सत्कर्म करते करते आगे बढ़ता है, तो ‘आत्मनिर्भर’ समाज के लक्ष्य की प्राप्ति में फिर कोई संशय नहीं रहता है।

सेवा परमो धर्म :

Continue Reading

अब ऐसी सेवा करने की आवश्यकता है जो समाज के हर तबके को आत्मनिर्भर बना सके। जब समाज का हर तबका आत्मनिर्भर बनेगा तभी देश आत्मनिर्भर बनेगा। सरकार के प्रयासों से अगर भारत में नए उद्योग आते हैं तो उन उद्योगों में काम करने वाले लोगों में जिन गुणों की आवश्यकता होगी उनका आंकलन कर ऐसे मानव संसाधनों का विकास करने का कार्य भी सेवाभावी संस्थाएं कर सकती हैं। यह सही मायने में समाज सेवा होगी; क्योंकि यह सेवा किसी को हाथ पसारने को मजबूर नहीं करेगी अपितु उन हाथों को परिश्रम और आत्म सम्मान से अपना भरण-पोषण करने और जीवन सम्पन्न बनाने के लिए प्रेरित करेगी।

End of content

No more pages to load

Close Menu