प्रकृति बेचारी, विकास की मारी, हर चुनाव हारी!

Continue Readingप्रकृति बेचारी, विकास की मारी, हर चुनाव हारी!

सच में प्रकृति की अनदेखी वो बड़ी भूल है जो पूरी मानवता के लिए जीवन, मरण का सवाल है। बस वैज्ञानिकों तक ज्वलंत विषय की सीमा सीमित कर कर्तव्यों की इतिश्री मान हमने वो बड़ी भूल या ढिठाई की है जिसका खामियाजा हमारी भावी पीढ़ी भुगतेगी। इसे हम जानते हैं,…

प्लास्टिक का दानव

Continue Readingप्लास्टिक का दानव

    प्लास्टिक का कूड़ा भारत ही नहीं विश्व के लिए समस्या बना बैठा है और उससे निजात पाने के लिए विभिन्न कदम उठाए भी जा रहे हैं, लेकिन अभी माकूल विकल्प मौजूद नहीं है। यदि पर्यावरण को बचाना है तो इस दानव से मुक्ति का मार्ग खोजना ही होगा।

अति उपयोग के कारण प्लास्टिक बना प्रदूषण

Continue Readingअति उपयोग के कारण प्लास्टिक बना प्रदूषण

प्लास्टिक ने भूतल पर ही नहीं, समुंदरों और अंतरिक्ष में भी हाहाकार मचा दिया है। सारी दुनिया में इसे रोकने के प्रयास चल रहे हैं, विभिन्न विकल्पों पर ध्यान दिया जा रहा है, कई नए अनुसंधान हो रहे हैं। इससे आनेवाले समय में अवश्य ही कोई माकूल जवाब खोज लिया जाएगा, लेकिन तब तक हमें सावधानी बरतना जरूरी है।

End of content

No more pages to load