भारतीय नौसेना के युद्धपोत पर तैनात होंगी महिला अधिकारी

Lady Navy Officer

नौ सेना युद्धपोत पर महिला अधिकारी की नियुक्ति
पिछले कुछ दिनों से भारतीय सेना में बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं। एक तरफ जहां सेना में आधुनिक हथियारों और तकनीकी का इस्तेमाल किया जा रहा है वही तीनों सेनाओं में तेजी से महिलाओं को भी जगह दी जा रही है जबकि इससे पहले सेना में महिलाओं के लिए कुछ निश्चित पद ही हुआ करते थे। 
नौसेना की तरफ से पहली बार एक और ऐतिहासिक निर्णय लिया गया और पहली बार दो महिला सब लेफ्टिनेंट को युद्धपोत पर क्रू मेंबर के रूप में तैनात कर दिया। नौसेना में शामिल होने वाली सब लेफ्टिनेंट कुमुदिनी त्यागी और सब लेफ्टिनेंट रिति सिंह पहली महिला क्रू मेंबर होंगी।
 
महिलाओं के लिए वॉशरुम की व्यवस्था नहीं

इससे पहले नौसेना में लम्बे समय के लिए महिलाओं को युद्धपोत पर तैनात नहीं किया जाता था क्योंकि इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ग्रुप क्वार्टर में सुरक्षा  की कमी थी और महिलाओं के लिए बाथरूम की व्यवस्था भी अलग से नहीं थी जिसकी वजह से महिला अधिकारियों को युद्धपोत पर तैनात नहीं किया जाता था लेकिन नौसेना के इस नये फैसले के बाद यह निश्चित है कि अब इसमें बदलाव तेजी से होंगे। 
 
MH60R हेलीकॉप्टर में उड़ान भरेंगी महिला अधिकारी

नौसेना के युद्धपोत पर तैनात इन दोनों युवा महिला अधिकारियों को मल्टीरोल हेलीकॉप्टर में लगे सेंसरों को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग दी जा रही है इसके साथ ही दोनों महिला अधिकारी MH60R हेलीकॉप्टर में उड़ान भर सकती हैं। इस हेलिकॉप्टर को दुनिया का सबसे अत्याधुनिक मल्टीरोल हेलीकॉप्टर माना जाता है जो दुश्मन के जहाज़ों और पनडुब्बियों को आसानी से तलाश कर उनकी जानकारी दे सकता है। वर्ष 2018 में तत्कालीन रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉकहीड मार्टिन द्वारा निर्मित इस हेलीकॉप्टर को खरीदने की मंजूरी दी थी जिसका मूल्य लगभग 2.6 अमेरिकी डॉलर था।

नौसेना में शामिल दोनों युवा महिला अधिकारियों को नौसेना के 17 अधिकारियों की टीम में शामिल किया गया था जहां यह महिला अधिकारी आब्जर्वर के तौर पर टीम का हिस्सा थी। इन्हे एयर नेवीगेशन, फ्लाइंग प्रोसीजर, हवाई युद्ध के दौरान आज़माए जाने वाली तरकीब और एंटी सबमरीन वार फेयर के अलावा एवियॉनिक सिस्टम का प्रशिक्षण दिया गया है।

इससे पहले हाल ही में भारतीय वायुसेना ने भी महिला लड़ाकू पायलट को राफेल विमानों की फ्लीट को ऑपरेट करने के लिए शॉर्टलिस्ट किया है ऐसे में नौसेना की तरफ से भी महिलाओं को आगे लाने का काम सराहनीय तौर पर देखा जा रहा है यानी कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि अब देश की रक्षा के लिए देश की बेटियां भी पूरी तरह से तैयार है।

आपकी प्रतिक्रिया...