चुनौतियों से भरा जीवन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जीवन बहुत ही संघर्षों के बीच गुजरा है और अब भी शायद कुछ ऐसा ही बीत रहा है हालांकि उन्होने जो मुकाम हासिल किया है वह आम लोगों के बस की बात नहीं है उसके लिए एक विशेष संघर्ष की ही जरूरत होती है। बेहद साधारण परिवार से आने वाले मोदी जी बचपन में ही संघ से जुड़े और यहीं से उनके जीवन में परिवर्तन शुरू हो गया। संघ के रास्ते वह बीजेपी तक पहुंचे और आज एक सच्चे राष्ट्रभक्त की भूमिका अदा कर रहे है।   
 
17 सितंबर 1950 को जन्में मोदी जी आज 71 साल के हो गये, वैसे तो कहने के लिए यह वृद्धा अवस्था है लेकिन योग और व्यायाम की वजह से उनका शरीर अभी भी किसी जवान से कम नहीं है उनका तेज, उनके काम करने का तरीका और सोचना की क्षमता अभी भी बहुत तेज है शायद इसलिए वह इस अवस्था में भी दुनिया को अपना लोहा मनवा रहे है। पीएम मोदी ने अपने पीएम कार्यकाल के दौरान कई रिकॉर्ड अपने नाम किया। वह आजाद भारत में जन्मे पहले प्रधानमंत्री है जबकि इससे पहले जितने लोग भी प्रधानमंत्री बने उन सभी का जन्म गुलामी के दौरान हुआ था। 
 
राजनीति का सफर कभी भी आसान नहीं रहा है क्योंकि एक समय में सभी को खुश रखना मुश्किल है। जनता के दर्द और काम को समझना आसान नहीं होता लेकिन नरेंद्र मोदी शायद यह समझने में सफल थे इसलिए गुजरात की जनता ने उन्हें 2001 से 2014 तक अपना मुखिया बनाए रखा। मोदी 7 अक्टूबर 2001 से 22 मई 2014 तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे और इस दौरान गुजरात का जो विकास किया उसका लोहा पूरी दुनिया मानती है। सन 2001 गुजरात में भयानक भूकंप आया था जिससे बहुत तबाही हुई थी लेकिन मोदी सरकार ने उसका सामना किया और बहुत की कम समय में सब कुठ ठीक कर लिया। सन 2002 का गुजरात दंगा सभी को याद होगा इस दौरान मोदी प्रशासन ने काफी कठोरता से काम लिया था जिसकी कहीं कहीं पर आलोचना भी हुई थी लेकिन कोर्ट द्वारा गठित कमेटी में मोदी दोषमुक्त पाए गये। 
‘चुनौती’ यह शब्द नरेंद्र मोदी के जीवन में हमेशा से रहा है वह चाहे उनका निजी जीवन रहा हो या फिर राजनीतिक जीवन। हालांकि उन्होने कभी हार नहीं मानी और एक के बाद एक चुनौती का सामना करते गये इसलिए आज उनके नाम पर ना जाने कितने किर्तिमान हो चुके है। गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद भूकंप का सामना करने से लेकर पीएम रहने के दौरान राम मंदिर और धारा 370 को हटाने तक की चुनौती को पीएम मोदी ने स्वीकार किया और उस पर विजय भी कायम की। राम मंदिर व धारा 370 वह मुद्दे थे जिसके बारे में बाकी दल सोचने से भी बचते थे क्योंकि उसे छेड़ने मात्र से सियासी भूचाल आ सकता था। 
नरेंद्र मोदी जी 2014 से देश के प्रधानमंत्री पद पर आसीन है और वर्तमान में दूसरा कार्यकाल पूरा कर रहे है। कोई गैर कांग्रेसी पीएम पहली बार अपना दूसरा कार्यकाल पूरा करने  जा रहा है और यह भी अपने आप में एक रिकॉर्ड है। गुजरात में पैदा हुए पीएम मोदी ने अपना दोनों चुनाव उत्तर प्रदेश के वाराणसी से लड़ा और जनता ने पूरा प्यार देते हुए उन्हें दोनो बार भारी मतो से विजयी बनाया। 
 

आपकी प्रतिक्रिया...