वन्य जीवों के नष्ट होते पर्यावास

Continue Reading वन्य जीवों के नष्ट होते पर्यावास

वन्य जीवों का विलोपन पृथ्वी पर जीवन के लिए एक आपातकाल जैसी स्थिति के समान है और इस प्रक्रिया पर लगाम नहीं लगने से मानव सभ्यता और अस्तित्व को खतरा है, क्योंकि मनुष्य सहित सभी जीवों से बना पारितंत्र पृथ्वी पर जीवन को संचालित करता है। मानव सभ्यता के विस्तार…

वन और जैवविविधता

Continue Reading वन और जैवविविधता

जैवविविधता के आसन्न खतरों के समाधान का सीधा सम्बंध वनों की सेहत से है। यदि वन स्वस्थ होंगे तो जैवविविधता भी संकट मुक्त रहेगी। जैवविविधता के आसन्न खतरों के समाधान के लिए और अधिक सकारात्मक कदम उठाने की जरूरत है। वनों की सेहत हकीकत में इस धरती पर जीवन के…

  वन्य जीवों को भी जीने का अधिकार

Continue Reading   वन्य जीवों को भी जीने का अधिकार

वन्य जीवों के बारे में उत्तराखंड न्यायालय ने एक बड़ा अनूठा और अहम फैसला दिया है। न्यायालय ने इन प्राणियों को व्यक्ति का दर्जा देकर मनुष्य को उनका अभिभावक घोषित किया है। न्यायालय का आशय यह है कि मानव अपने स्वार्थ के लिए पशुओं के साथ ज्यादति न करें।  आधुनिकता…

End of content

No more pages to load