बाबरी विध्वंस से पड़ी भव्य श्रीराम मंदिर की नींव

Continue Reading बाबरी विध्वंस से पड़ी भव्य श्रीराम मंदिर की नींव

“इसका मुझे बहुत आनंद है कि मैं उस समय कार सेवा में गया था। वह मेरे जीवन का अविस्मरणीय गौरवमय दिन था। मैं स्वयं को सौभाग्यशाली मानता हूं कि मुझे राम काज करने का मौका मिला। उस स्वर्णिम दिन को स्मरण कर गर्व की अनुभूति होती है।”

भारतीय संस्कृति का विजयनाद

Continue Reading भारतीय संस्कृति का विजयनाद

अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर के भूमिपूजन स्वर्णिम दिवस है भाद्रपद कृष्ण द्वितीय सवंत 2077 तदनुसार 5 अगस्त 2020। मध्याह्न 12 बजकर 15 मिनट 15 सेकण्ड के बाद ’32 सेकण्ड’ के अभिजित मुहूर्त में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के करकमलों द्वारा भूमिपूजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

धारावी: संघशक्ति से काबू में आया कोरोना

Continue Reading धारावी: संघशक्ति से काबू में आया कोरोना

एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी (मुंबई) में कोरोना महामारी को नियंत्रित करने वाला मॉडल अब पूरे विश्व में अब चर्चित है और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अन्य देशों को इसे अपनाने की सलाह दी है। इस सफलता का श्रेय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल, निरामय फाउंडेशन, हिन्दू युवा वाहिनी आदि संघ प्रेरित संगठनों व अन्य स्थानीय सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक संस्थाओं के संयुक्त प्रयासों को है। कर्तव्य की भावना से की गई हजारों स्वयंसेवकों की मेहनत रंग लाई है।

चल रे कावंरिया शिव के धाम…

Continue Reading चल रे कावंरिया शिव के धाम…

सावन मास में उत्तरी राज्यों में शिवभक्तों की कावड़ यात्रा अपूर्व पर्व है। इसमें भक्त गंगा जल कावर में भरकर उसे शिव मंदिर में जाकर चढ़ाते हैं। चारों ओर कावर कंधे पर धरकर पैदल जाते इन भक्तों के काफिले शिव के नारों से आकाश को गुंजायमान कर देते हैं।

वेब सीरीज पर सेंसर जरूरी

Continue Reading वेब सीरीज पर सेंसर जरूरी

विदेशी फंडिंग से बनाई जाने वाली वेब सीरिज में मनोरंजन के नाम पर केवल सेक्स ही नहीं परोसा जा रहा बल्कि हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुुंचाई जा रही है तथा भारतीय सैनिकों को भी अपमानित किया जा रहा है। किसी एजेंडे के तहत यह सब हो रहा है। इस पर अंकुश लगाने की आवश्यकता है।

कोरोना: डर के आगे जीत है

Continue Reading कोरोना: डर के आगे जीत है

हाल में कई अनुभवों से साबित हो गया है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति का मनोबल टूटने से ही कई बार उसकी मौत हो जाती है। इसलिए दोस्त-नाते-रिश्तेदार और स्वयं मरीज को भी मनोबल टूटने नहीं देना चाहिए, बल्कि साहस के साथ मुकाबला करना चाहिए। लोग अवश्य ठीक हो रहे हैं। याद रहे डर के आगे जीत है।

युद्धस्तर पर हो मजदूरों की वापसी

Continue Reading युद्धस्तर पर हो मजदूरों की वापसी

अभी हाल ही में कांग्रेस की प्रियंका राबर्ट वाड्रा द्वारा 1000 बसों का इंतजाम करने का फर्जी मामला सामने आया था। इसी से कांग्रेस पार्टी की संवेदनहीनता के साथ मानसिक दीवालियेपन एवं निर्लज्जता का परिचय हो जाता है। इस घटना के प्रकाश में आने के बाद संभावना जताई जा रही है कि आगे भी मजदूरों को बलि का बकरा बनाकर राजनीतिक खेल खेला जा सकता है। बहरहाल हम बात करते हैं उन प्रवासी मजदूरों के दर्दनाक सफ़र की, जिन्होंने ट्रेन, टेम्पो, ट्रक और पैदल यात्रा की है।

र्मिशनरियों और नक्सलियों का खतरनाक गठजोड़

Continue Reading र्मिशनरियों और नक्सलियों का खतरनाक गठजोड़

पालघर में संतों की पीट-पीट कर की गई हत्या ईसाइयों और वामपंथियों के गठजोड़ का ही परिणाम है। इस गहरी साजिश का पता लगाकर उन पर अंकुश के लिए सरकार को त्वरित कदम उठाने चाहिए।

नर पिशाचों की बलि ही इंसाफ ?

Continue Reading नर पिशाचों की बलि ही इंसाफ ?

महाराष्ट्र के पालघर जिला में साधुओं की मॉब लॉन्चिंग मामले में पूरे देश भर में आक्रोश की लहर फैलती जा रही है और सोशल मीडिया पर इस पर तीखी प्रतिक्रिया देखी जा रही है। सभी अपनी मनोभावना साझा करते हुए दोषियों को तत्काल फांसी की सजा देने की मांग कर रहे है। 

“वैश्विक आतंकवाद का केंद्र तब्लीगी जमात”

Continue Reading “वैश्विक आतंकवाद का केंद्र तब्लीगी जमात”

तब्लीगी जमात जेहाद द्वारा मज़हब विशेष की अपेक्षाकृत कम कट्टर अथवा उदारवादी कही जाने वाली शांतिदूत जमात को चरणबद्ध तरीके से 4 चरणों में बेहद कट्टर और उग्र वहाबी और सलाफी विचारधारा वाली वहाबी जमात में परिवर्तित किया जाता है।

समाज, संस्था और सरकार मिल कर करें नए भारत का निर्माण – गिरीश भाई शाह

Continue Reading समाज, संस्था और सरकार मिल कर करें नए भारत का निर्माण – गिरीश भाई शाह

केवल सरकार देश की सारी समस्याओं का समाधान नहीं कर सकती। उसमें समाज को भी अपना योगदान देना होगा। इसलिए सरकार और सामाजिक संस्थाओं का समन्वय जरूरी है। इसके लिए गिरीश भाई लगातार प्रयासरत हैं।

सीएए विरोध की वास्तविकता?

Continue Reading सीएए विरोध की वास्तविकता?

भारत के अलावा दुनिया में कौन सा देश ऐसा है जो इन्हें शरण देगा? मुसलमानों के लिए तो घोषित रूप से दुनिया में 50 से अधिक देश है, जहाँ उन्हें शरण मिल जाएगी। लेकिन इन हिन्दू, सिख, बौद्ध, और जैनों के लिए तो एकमात्र भारत ही आखिरी उम्मीद है।

End of content

No more pages to load