कुशल प्रबंधन की मिसाल बना मध्य प्रदेश

Continue Readingकुशल प्रबंधन की मिसाल बना मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता और जन प्रतिनिधियों के बीच सामंजस्य और समन्वय का ऐसा तालमेल स्थापित किया कि प्रदेश के हर व्यक्ति के सहयोग और सुरक्षा के लिए जनभागीदारी का मॉडल बनाया, जिसमें उन्होंने दलगत राजनीतिक प्रतिद्वंदता से ऊपर उठकर समाज कल्याण हेतु समाज प्रमुखों, राजनीतिक दलों और धर्म गुरुओं सहित समाजिक संस्थाओं को एक मंच पर लाकर खड़ा किया और संकट के समय प्रदेश की जनता की सुरक्षा को प्रमुख धर्म बताया।

जयंती: यादवराव कृष्ण जोशी ने दक्षिण भारत में संघ को दी थी नई उड़ान

Continue Readingजयंती: यादवराव कृष्ण जोशी ने दक्षिण भारत में संघ को दी थी नई उड़ान

यादवराव कृष्ण जोशी का जीवन बहुत ही साधारण रहा है और उन्होंने पूरा जीवन देश के लिए समर्पित किया था। 3 सितंबर 1914 को महाराष्ट्र के नागपुर में कृष्ण जोशी जी का जन्म एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था उनके पिता जी एक पुजारी थे जिससे उनका जीवन शुरू से…

युवाओं को क्यों पड़ रहा दिल का दौरा (Heart attack)

Continue Readingयुवाओं को क्यों पड़ रहा दिल का दौरा (Heart attack)

आप ने अक्सर देखा होगा कि एक युवा जो पूरी तरह से फिट नजर आता है जिम कर के उसकी बॉडी भी शानदार नजर आती है फिर अचानक से एक दिन पता चलता है कि उसे दिल का दौरा पड़ा और उसकी मौत हो गयी जबकि हमारी पहले से यह…

क्या शुरु हो गयी कोरोना की तीसरी लहर?

Continue Readingक्या शुरु हो गयी कोरोना की तीसरी लहर?

कोरोना को लेकर आंकड़े अब डराने वाले आने लगे है, शुक्रवार को कोरोना संक्रमित लोगों का नंबर अचानक से बढ़ा हुआ नजर आया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किये गये आंकड़ों में करीब 45 हजार नए लोग संक्रमित पाए गए और इसी के साथ कुल संक्रमित लोगों की…

काबुल हमले का संदेश समझे विश्व समुदाय

Continue Readingकाबुल हमले का संदेश समझे विश्व समुदाय

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर हुए बम धमाकों ने पूरी दुनिया को कुछ स्पष्ट संदेश दिया है। आरंभ में केवल दो धमाकों और 13 -14 लोगों के मारे जाने की खबरें आ रही थीं। हालांकी यह अंदेशा था कि धमाके भी ज्यादा हो सकते हैं और मृतकों की संख्या भी।…

दीपावली

Continue Readingदीपावली

दिवाली दे सुषमा निराली विश्व को नव ज्ञान दे। शांति दे इस विश्व को गौरवमयी पहचान दे। चिर पुरातन हिंद से विद्वानता का मान दे। प्रीति, वैभव, चेतना,यश हर हृदय को दान दे॥ दिवाली पर मानव हृदय में प्रकृति के प्रति प्यार हो। कष्ट का होवे निवारण आरोग्यमय संसार हो। प्रात: स्वागत गान गाए सांझ गाए आरती- दीप की शुभ रश्मियों का विश्व को उपहार हो। आओ एक इतिहास रचाएं। इस दुनिया में तम ही तम है दीवाली पर दीप जलाएं। नेहन्नीति की सुंदर सरगम मिल कर हम तुम सारे गाएं॥ विश्व गुरु भारत का सपना, आओ! हम साकार बनाएं दी

End of content

No more pages to load