योग का कोई धर्म नहीं, फिर सूर्य नमस्कार का विरोध कैसा?

Continue Readingयोग का कोई धर्म नहीं, फिर सूर्य नमस्कार का विरोध कैसा?

  सनातन धर्म में सूर्य को भगवान की उपमा दी गयी है और उनकी पूजा भी की जाती है लेकिन ऐसा सिर्फ सनातन धर्म में ही नहीं होता बल्कि और भी धर्मों में सूर्य की पूजा की जाती है। सूर्य पूरी दुनिया को धूप देता है लेकिन वह किसी एक धर्म…

आज के युग में “अहं ब्रह्मास्मि” की अनिवार्यता

Continue Readingआज के युग में “अहं ब्रह्मास्मि” की अनिवार्यता

हजारों वर्षों से भारत अपनी महान विरासत और ऋषियों के लिए जाना जाता है।  विभिन्न समयों पर, ऋषियों ने मानव जीवन के सबसे महत्वपूर्ण पहलुओं का अध्ययन किया, जैसे कि मन, बुद्धि, स्मृति, अहंकार और आत्मन। इन पहलुओं की संतों के विस्तृत अध्ययन और ज्ञान का व्यापक रूप से वैश्विक विचारकों और दार्शनिकों द्वारा अपने स्वयं के…

ब्रह्म मुहूर्त का महत्त्व

Continue Readingब्रह्म मुहूर्त का महत्त्व

सूर्योदय से चार घड़ी पूर्व यानी करीब डेढ़ घंटे पहले का समय ब्रह्म मुहूर्त होता है और हिन्दू धर्म में नींद त्यागने के लिए यह समय सबसे उपयुक्त समय बताया गया है। ब्रह्म मुहूर्त यानी सुबह करीब 4 से 5.30 तक का समय जब सभी को नींद त्यागनी चाहिए और…

मजबूत रोग प्रतिरोधक शक्ति बनाने पर ध्यान केंद्रित करें

Read more about the article मजबूत रोग प्रतिरोधक शक्ति बनाने पर ध्यान केंद्रित करें
Healthy products for Immunity boosting and cold remedies, top view.
Continue Readingमजबूत रोग प्रतिरोधक शक्ति बनाने पर ध्यान केंद्रित करें

 जैसा आप सभी जानते हैं कि कोरोना समाप्ति की ओर अग्रसर है। इसके साथ ही विशेषज्ञ यह भी  आशंका जता रहे हैं कि तीसरी लहर निकट भविष्य में कभी भी दस्तक दे सकती है।इसी बीच भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट के कुछ मामले सामने आये हैं जिसने विशेषज्ञों को चिंता में डाल दिया है। हालाँकि विशेषज्ञ यह…

आध्यात्मिक चेतना का केन्द्र

Continue Readingआध्यात्मिक चेतना का केन्द्र

भारत विश्व का प्राचीनतम राष्ट्र है। वैदिक चिन्तन राष्ट्र को एक सजीव सत्ता स्वीकार करता है। सिर्फ मानचित्र पर उभरी रेखा में ही राष्ट्र नहीं होता बल्कि राष्ट्र एक भावना है, विचार है, एक प्राण शक्ति है जो मानव सोच और व्यवहार को प्रभावित करती है।

कमर दर्द के लिए खास 5 योगासन

Continue Readingकमर दर्द के लिए खास 5 योगासन

भारत एक कृषि प्रधान देश है लेकिन यह अब धीरे धीरे व्यवसाय प्रधान होता जा रहा है। कृषि भूमि पर तेजी से कंपनी और मॉल बनने लगे हैं। देश के युवाओं का सपना अब ऑफिस में जाकर लैपटॉप पर काम करने का होने लगा है लेकिन इन सब के बीच…

केसरिया झंडे को ही संघ ने सर्वोच्च स्थान क्यों दिया?

Continue Readingकेसरिया झंडे को ही संघ ने सर्वोच्च स्थान क्यों दिया?

भगवा ध्वज हिंदुओं को त्याग, बलिदान, शौर्य, देशभक्ति आदि की प्रेरणा देने में सदैव सक्षम रहा है। यह ध्वज हिंदू समाज के सतत संघर्षों और विजयश्री का साक्षी रहा है। ‘भगवा ध्वज’ के बिना हम हिंदू संस्कृति, हिंदू राष्ट्र और हिंदू धर्म की कल्पना नहीं कर सकते। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के…

योग से ठीक करें आधे सिर का दर्द (Migraine)

Continue Readingयोग से ठीक करें आधे सिर का दर्द (Migraine)

'माइग्रेन या अधकपारी' यह आधुनिक युग की एक समस्या है और देश की एक बड़ी जनसंख्या इससे प्रभावित भी है। इससे ऑफिस जाने वाले या कहें कि खास कर वह लोग ज्यादा प्रभावित है जो कम्पयूटर या फिर लैपटॉप का इस्तेमाल ज्यादा करते है हालांकि कुछ ऐसे भी लोग इससे…

घर पर योग करने के लिए क्या करें?

Read more about the article घर पर योग करने के लिए क्या करें?
Portrait of calm woman sitting in pose of lotus in natural environment
Continue Readingघर पर योग करने के लिए क्या करें?

वैसे तो योग की ख़ूबियाँ विश्व विख्यात है। यह सभी को भली-भांति पता है कि योग करने के लाखों फायदे हैं। योग ना सिर्फ आपको स्वस्थ्य बनाता है बल्कि सृजनशील, शांत और प्रसन्न भी बनाता है। योग के निरंतर अभ्यास से सौंदर्य में भी निखार आता है। लगातार योग करने से आप रोग मुक्त भी रहते हैं लेकिन योग करने से पहले तमाम सावधानियों का ध्यान रखना जरूरी होता है जिनका ध्यान रखने से योग करना और आसान होता है और इसमें आनंद भी मिलता है। 
 
हमारा शरीर हमारा अपना मंदिर है जिसकी देखभाल करना हमारी अपनी ज़िम्मेदारी है। जिस प्रकार हम अपने घर और कार की देखभाल करते हैं और उसे खराब होने से बचाते हैं उसी प्रकार हमें अपने शरीर की भी देखभाल करनी चाहिए और इससे उन चीजों से दूर रखना चाहिए जिससे हमारे शरीर को नुकसान पहुँचता है। योगाभ्यास को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाने की कोशिश करें। हर दिन कम से कम 20 मिनट योग जरूर करें। अगर आपको योग करने के दौरान आलस्य का अनुभव होता है तो इस दौरान आप परिवार के अन्य सदस्यों और दोस्तों को भी साथ में ले सकते हैं। इससे ना सिर्फ योग करने के दौरान आपकी रूचि बढ़ जाएगी बल्कि पूरे घर में एक सकारात्मक शक्ति भी पैदा होगी।  

(more…)

बालों की समस्याएं दूर करने के लिए करें शीर्षासन

Continue Readingबालों की समस्याएं दूर करने के लिए करें शीर्षासन

शीर्षासन करने का सही तरीका, सावधानियां और लाभ योग की शुरुआत भारत से हुई है लेकिन आज यह पूरी दुनिया में फेमस हो चुका है। दवाओं के साथ साथ अब हर कोई योग के द्वारा फिट रहने की कोशिश कर रहा है क्योंकि यह सभी को पता है कि योग से…

तस्मै श्री गुरवे नमः

Continue Readingतस्मै श्री गुरवे नमः

भारतीय जीवन परंपरावादी है। हमारे ऋषि-मुनियों ने बहुत सोच-विचार कर, ज्ञान-विज्ञान और समय की कसौटी पर सौ प्रतिशत कस कर कुछ परंपराओं का निर्माण किया।

दीर्घायु एवं उत्तम स्वास्थ्य के लिए भी अनिवार्य है अभिवादनशीलता

Continue Readingदीर्घायु एवं उत्तम स्वास्थ्य के लिए भी अनिवार्य है अभिवादनशीलता

भारतीय संस्कृति में अतिथि को भगवान का रूप माना गया है। तैत्रीय उपनिषद् में कहा गया है ‘अतिथि देवो भव’। कथासरितसागर कार सोमदेव भट्ट के अनुसार ‘यथाशक्त्यतिथै: पूजा धर्मो हि गृहमोधिनाम्’ अर्थात् अपनी शक्ति के अनुसार अतिथि का सत्कार करना गृहस्थ का धर्म है।

End of content

No more pages to load