हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में क्रांतिकारियों के प्रेरणास्रोत स्वामी दयानन्द सरस्वती द्वारा स्थापित आर्य समाज ने सत्य सनातन वैदिक धर्म की पुनर्स्थापना करने के साथ ही कुरीतियों को ध्वस्त किया और देव,देश एवं धर्म की रक्षा में उल्लेखनीय योगदान दिया.धर्म और राष्ट्र चेतना की ललकार सुनने हेतु हिंदी विवेक द्वारा प्रकाशित यह विशेषांक पठनीय व संग्रहणीय है.

This Post Has One Comment

  1. आपने अंक प्रकाशित करके बहुत ही अच्छा कार्य किया है । इतिहास के पन्नों छीपे तथ्य को वर्तमान जगत के समक्ष रखना बहुत ही जरूरी था । मेरा वंदन स्वीकार करें । कमलेशकुमार शास्त्री संस्कृत विभाग गुजरात विवि अहमदाबाद

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: