डिजिटल खुफियागिरी का नया दांव

Continue Reading डिजिटल खुफियागिरी का नया दांव

भारत सरकार ने चीनी मोबाइल कंपनियों को कारोबार के नाम पर जासूसी करने के सिलसिले में बाहर का रास्ता दिखाया है। उम्मीद करें कि इससे जासूसी के जरिए जो अहम सूचनाएं देश से बाहर जा रही थीं, उन पर प्रभावी रोक लग सकेगी।

डिजिटल रनवे से एक नई उड़ान

Continue Reading डिजिटल रनवे से एक नई उड़ान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने जिस तरह से डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को आगे बढ़ाया है और पोर्ट ब्लेयर ही नहीं, देश की ढाई लाख ग्राम पंचायतों को इंटरनेट के ब्रॉडबैंड कनेक्शन से जोड़ने के लक्ष्य के मद्देनजर काम हो रहा है, उससे उम्मीद है कि देश के समग्र विकास की राह निश्चित ही खुलेगी।

तकनीकें, जो बदल देंगी जिंदगी

Continue Reading तकनीकें, जो बदल देंगी जिंदगी

तकनीक की दुनिया बहुत तेजी से बदल रही है। वाईफाई से कई गुना तेज लाईफाई, सूर्य प्रकाश को ऊर्जा में बदलने वाले सेंसर, बिग डाटा का चमत्कार, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, आईओटी जैसी प्रौद्योगिकी ऐसी बाजीगरी दिखाएंगी कि जिसकी सपनों में भी हमने कल्पना नहीं की थी।

देश की थाली में उतरता चांद

Continue Reading देश की थाली में उतरता चांद

भारत बेशक अभी इंसान को सिर्फ अंतरिक्ष में भेजने का ख्वाब देख रहा है, उसकी आंखों से चंद्रमा पर इंसान को उतारने का सपना अभी दूर है, लेकिन उसका दूसरा चंद्रयान पृथ्वी के इकलौते प्राकृतिक उपग्रह यानी चंद्रमा की नई खोज के मिशन पर 22 जुलाई, 2019 को रवाना हो चुका है। एक दशक बाद ही दूसरा चंद्रयान भेजने के लिए भी कलेजा चाहिए। खास तौर से तब, जबकि हर कोई गरीबी का हवाला देकर हमारे स्पेस प्रोग्राम पर सवाल उठाता हो और खुद अमेरिका चांद पर दोबारा जाने की योजनाओं को लंबे अरसे तक स्थगित रख चुका हो।

देश को नई ताकत देता मिशन शक्ति

Continue Reading देश को नई ताकत देता मिशन शक्ति

आने वाले समय में जरूरी नहीं कि कोई जंग धरती पर लड़ी जाए, बल्कि उसका मैदान स्पेस (अंतरिक्ष) भी हो सकता है। इस लिहाज से भारत को अंतरिक्ष में भी सैन्य या युद्धक क्षमता से लैस होना होगा, जिसकी एक ठोस शुरुआत मिशन शक्ति से हो गई है। आने वाले वक्त में अंतरिक्ष में चुनौतियां कितनी बढ़ने वाली हैं,

विज्ञान-तकनीक के नए आसमान पर भारत

Continue Reading विज्ञान-तकनीक के नए आसमान पर भारत

   वर्तमान केंद्र सरकार के कार्यकाल में खास तौर से विज्ञान और तकनीक के मामले में देश ने जो कुछ हासिल किया है, वह उल्लेखनीय है। अंतरिक्ष बाजार में देश ने अपनी ताकत दिखा दी है। कैशलेस लेनदेन में भारी इजाफा हुआ है। अब देश आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से हथियारों के विकास में भी कदम रख रहा है।

End of content

No more pages to load