दिग्भ्रमित ना हो भाजपा

Continue Readingदिग्भ्रमित ना हो भाजपा

भाजपा ने उन सारे वादों को पूरा किया या पूरा करने की दिशा में अग्रसर है, जिनका उल्लेख उनके नेताओं ने अपने भाषणों या घोषणापत्र में किया था। परंतु देश विरोधी ताकतें और विपक्ष के नेता हमेशा अफवाह फैलाते रहते हैं कि भाजपा अपने लक्ष्य से दूर हो गई है, जबकि वास्तविकता यह है कि विपक्षियों की सत्ता लोलुपता ने ही उन्हें कहीं का नहीं छोड़ा है।

दल की कलह और गांधी परिवार का दखल करेगा , कांग्रेस का कबाड़ा

Continue Readingदल की कलह और गांधी परिवार का दखल करेगा , कांग्रेस का कबाड़ा

कांग्रेस बजाय इसके कि आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर मुद्दे तलाशे, अपने को तैयार करे, कैडर को मजबूत करे, सरकार को संसद व बाहर घेरने की रणनीति बनाए, चीन के साथ विवाद व कोरोना के संकट में देश व सरकार को साथ देने का भरोसा दिलाये, बेवजह की नुक्ताचीनी बंद करे, वह राहुल को अध्यक्ष बनाने की मुहिम छेड़कर शुतुरमुर्ग की तरह रेत में गर्दन डाल देने जैसा उपक्रम कर रही है।

हठतंत्र पर भारी गणतंत्र

Continue Readingहठतंत्र पर भारी गणतंत्र

गणतंत्र दिवस को दिल्ली में मचे उत्पात के बाद देश की नहीं दुनिया के सामने उजागर हो गया। इस समूचे घटनाक्रम के मद्देनजर यह कहना पड़ रहा है कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी और मौलिक नागरिक अधिकारों का चरम दुरुपयोग हमारी महान परंपरा और संवैधानिक ढांचे को कमजोर कर रहा है।

राजग की बगिया में फिर बहार

Continue Readingराजग की बगिया में फिर बहार

मनुष्य का स्वभाव है कि वह एक समय के बाद परिवर्तन चाहता है। यूं देखा जाये तो नीतीश सरकार के हिस्से में बढ़ी खामी, आलोचना या कमी नहीं थी, फिर भी एकरसता को वजह माना जा रहा था।

फिल्मी वेशभूषा भानुमति का पिटारा

Continue Readingफिल्मी वेशभूषा भानुमति का पिटारा

काफी लंंबे अरसे तक फिल्म निर्माण में वस्त्रों के चयन की जिम्मेदारी निर्देशक की हुआ करती थी, किंतु समय के साथ इसमें भी बदलाव आया और सत्तर के दशक में बाकायदा वस्त्र विशेषज्ञ का प्रवेश हुआ। इसे कास्ट्यूम डिजाइनर के तौर पर जाना गया।

ग्रामीण भारत को वास्तविक भारत में बदलने की जरूरत

Continue Readingग्रामीण भारत को वास्तविक भारत में बदलने की जरूरत

हमारा नेतृत्व दुनिया को दिशा देने में सक्षम है और हमारे आत्मसम्मान और आत्मनिर्भरता को स्थायित्व देने में भी। पहल तो हमें ही करनी होगी। ग्रामों को रोजगार अनुकूल बनाकर ही देश को उन्नत किया जा सकता है।

सचिन के सामने हिट विकेट का खतरा

Continue Readingसचिन के सामने हिट विकेट का खतरा

आने वाले समय में राजस्थान की राजनीति के ऊंट की करवट का इंतजार सबको रहेगा। यह देखना दिलचस्प होगा कि सचिन शतकवीर साबित होते हैं, हिट विकेट होते हैं, रन आउट होते हैं या विकेट के पीछे कैच थमाते हैं।

कारोबारी जगत को सीधी मदद समय का तकाजा

Continue Readingकारोबारी जगत को सीधी मदद समय का तकाजा

सरकार को तत्काल ऐसे उपाय करने चाहिए जिससे कारोबारी को ‘तरल’ धन सीधे व आसानी से उपलब्ध हो, ताकि वह देश को वर्तमान संकट से उबारने में जी-जान लगा दे। इससे सरकार को करों के रूप में राजस्व बढ़कर मिलेगा ही, रोजगार मिलने से लोगों में हताशा भी नहीं आएगी।

वनवासी बालाएं भी सजने-संवरने में अव्वल

Continue Readingवनवासी बालाएं भी सजने-संवरने में अव्वल

शहरी जनजीवन में नित-नए प्रयोग के चलते फैशन के जो अलग-अलग रंग दिखने लगे, उसमें इन वनवासियों के जीवन से जुड़े परिधान व गहने भी शरीक कर लिए गए हैं। वनवासी बालाएं भी संजने-संवरने में उतनी ही उत्सुक होती हैं, जितनी की शहरी बालाएं।

End of content

No more pages to load