परिवर्तन के बाद भारत- अमेरिका रिश्ते ..!-  दिसंबर २०२०

  भारत-अमेरिका लोकतांत्रिक मूल्यों के चलते नैचरल पार्टनर है तथा अमेरिका में हुए सत्ता परिवर्तन के बाद भारत-अमेरिका रिश्ते कितने बदलेंगे और भारतहित में अमेरिकी नीतियां क्या हो सकती है, इस संबंध में विशेषज्ञ लेखकों द्वारा सटीक आंकलन किया गया है. साथ ही हिंदी विवेक के इस अंक में इस्लामिक कट्टरपंथी विश्व-मानवता के लिए खतरा, मदरसे: आतंकवाद की नर्सरी, चीन के हस्तक्षेप से कमजोर होता नेपाल, भारत की राजनीति में बदलाव, राजग की बगिया में फिर बहार, जनता का मोदी-नितीश पर भरोसा कायम, लोकल फॉर वोकल हेतु आत्मनिर्भर भारत संकल्प सिद्धि का मूलमंत्र आदि आलेखों का गहराई से विश्लेषण किया गया है. इसके अलावा ‘गीता’ जीवन के उच्च उद्देश्यों की प्रेरणा, पयुर्षण पर्व और हमारा कर्तव्य, स्वर्ग से सुंदर देवभूमि उत्तराखंड नामक शीर्षक से प्रकाशित आलेख आकर्षण के केंन्द्र है. हिंदी विवेक का यह अंक आपको कैसा लगा, इस पर हिंदी विवेक के सुधि पाठक अपनी राय अवश्य दे.

आपकी प्रतिक्रिया...