चीन के कर्जजाल से हलकान श्रीलंका

Continue Readingचीन के कर्जजाल से हलकान श्रीलंका

श्रीलंका बुरे दौर से गुजर रहा हैं। कितना बुरा ? पूरे देश के पास सिर्फ आज के लिये पेट्रोल - डीजल हैं। आज १७ मई से देश मे ८०% से ज्यादा निजी बसे चलना बंद हो जाएंगी। श्रीलंका के समुद्री क्षेत्र मे पिछले चालीस दिनों से ३ बडे जहाज, जिनमे…

चीन से दोस्ती, जी का जंजाल

Continue Readingचीन से दोस्ती, जी का जंजाल

रूस और यूक्रेन युद्ध के बीच भी चीन ने ताइवान पर हमले की बात कहकर विश्व को दो खेमों में बांटने की योजना बनाई थी परंतु वह उसे आगे नहीं ले जा सका क्योंकि वह चाहता था कि चूंकि चीन रूस के साथ है तो रूस भी ताइवान मुद्दे पर उसके साथ खड़ा रहेगा, परंतु यह बात अधिक आगे नहीं बढ़ी।

भारत के पड़ौसी देशों को कैसे बर्बाद कर रहा है चीन

Continue Readingभारत के पड़ौसी देशों को कैसे बर्बाद कर रहा है चीन

चीन की एक विशेष आदत है, पहिले तो वह आर्थिक सहायता के नाम पर भारी भरकम राशि कर्ज के रूप में उपलब्ध कराता है और फिर उस कर्ज की किश्त समय पर अदा न किए जाने पर उस किश्त की राशि और ब्याज को अदा करने के लिए एक नया…

आगामी संघर्ष का केंद्र होगा ताइवान?

Continue Readingआगामी संघर्ष का केंद्र होगा ताइवान?

ताइवान में अमेरिका की रूचि बहुत अधिक है, क्योंकि वह इसे एक ऐसे क्षेत्र के रूप में मानता है जहां से चीनी आधिपत्यवादी योजना का प्रतिवाद हो सकता है। ताइवान का एक प्रमुख सेमी-कंडक्टर चिप निर्माता होना इस मित्रता को बड़े लाभ की ओर ले जाता है। इसलिए यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि ताइवान पर ख़तरे की स्थिति में यही समझौता अमेरिकी हस्तक्षेप को आवश्यक करेगा।

दलाई लामा तिब्बत छोड़कर भारत आ गए – 31 मार्च 1959

Continue Readingदलाई लामा तिब्बत छोड़कर भारत आ गए – 31 मार्च 1959

1950 के दशक में चीन और तिब्बत के बीच कड़वाहट शूरु हो गयी थी जब गर्मियों ने तिब्बत में उत्सव मनाया जा रहा था तब चीन ने तिब्बत पर आक्रमण कर दिया और प्रसाशन अपने हाथो में ले लिया।दलाई लामा उस समय मात्र 15 वर्ष के थे इसलिए रीजेंट ही…

चीन में भयानक विमान हादसा, 132 यात्री थे सवार

Continue Readingचीन में भयानक विमान हादसा, 132 यात्री थे सवार

चीन में एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया इस विमान में कुल 123 यात्री और 9 क्रू मेंबर सवार थे। प्राथमिक जानकारी के मुताबिक चीन का बोइंग 737 विमान जो चाइना ईस्टर्न एयरलाइंस का था वह दुर्घटना का शिकार हो गया और इसकी पुष्टि भी चीनी मीडिया के द्वारा की जा…

रूस ने अघोषित युद्ध आरंभ कर दिया है

Continue Readingरूस ने अघोषित युद्ध आरंभ कर दिया है

व्लादीमीर पुतिन द्वारा पूर्वी युक्रेन में रूस समर्थित अलगाववादी क्षेत्रों डोनेत्स्क और लुहान्स्क की स्वतंत्रता को मान्यता देने पर हैरत जताने का कोई कारण नहीं है। पुतिन के नेतृत्व में रूस की आक्रामकता लंबे समय से इसका संकेत दे रहा था। जब टेलीविजन के माध्यम से यूक्रेन के पृथकतावादी विद्रोही…

शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में भी राजनीति से बाज नहीं आया चीन

Continue Readingशीतकालीन ओलम्पिक खेलों में भी राजनीति से बाज नहीं आया चीन

चीन ने एक बार फिर भारत के सामने अपनी कुटिल राजनीति का उदाहरण पेश किया है और आश्चर्य की बात यह है कि इस बार उसने अपनी कुटिल  राजनीति के लिए खेलकूद का क्षेत्र चुना है  लेकिन उसे शायद यह याद नहीं रहा कि अपने पड़ोसी देशों के साथ हमेशा…

चीन की हार कैसे होगी संभव?

Continue Readingचीन की हार कैसे होगी संभव?

भारत और चीन के बीच मई 2020 से शुरु हुआ तनाव अभी तक कम होने का नाम नहीं ले रहा है करीब डेढ़ साल से अधिक का समय बीत चुका है। दोनों देशों के बीच कई बैठकें भी हो चुकी है लेकिन तनाव अभी तक कम नहीं हुआ है।

UNSC में भारत ने पाक व चीन को आतंकवाद पर घेरा

Continue ReadingUNSC में भारत ने पाक व चीन को आतंकवाद पर घेरा

अफगानिस्तान में तालिबान का कब्जा भारत सहित तमाम देशों के लिए खतरा है और तालिबान आतंकवाद का एक नया अड्डा बन सकता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस बात का जिक्र पूरे विश्व के सामने किया और कहा कि तालिबान के…

वैश्विक महाशक्ति बनने की चीन की चालाकी

Continue Readingवैश्विक महाशक्ति बनने की चीन की चालाकी

 वैश्विक महाशक्ति बनने की चीन की चालाकी को पूरी दुनिया विशेषकर विकासशील देशों को भारी कीमत चुकानी पड़ रही है।  चीन अपने क्षेत्र का विस्तार करने, ऋण जाल नीति के साथ वैश्विक बाजार पर कब्जा करने, नक्सलवाद और आतंकवाद का उपयोग उन देशों में अशांति पैदा करने के लिए कर रहा…

चीन के मोतियों की माला का जवाब है हीरों का हार

Continue Readingचीन के मोतियों की माला का जवाब है हीरों का हार

चीन ने अपनी साम्राज्यवादी महत्वाकांक्षा को अमली जामा पहनाने के लिए 2005 में मोतियों की माला ( Strings of pearls) नीति का शुभारंभ किया। इसका उद्देश्य विश्व में अपना दबदबा कायम करना और अपने उद्योगों के लिए अकूत संसाधनों का इंतजाम करना था।चूंकि चीन यह मानता है कि 21 वीं…

End of content

No more pages to load