राजनीतिक शुचिता के पुरोधा पं. दीनदयाल उपाध्याय

Continue Reading राजनीतिक शुचिता के पुरोधा पं. दीनदयाल उपाध्याय

पं. दीनदयाल के लिए राजनीतिक अस्तित्व से अधिक राजनीतिक शुचिता और अस्मिता की चिंता जीवन पर्यन्त रही और उन्होंने सीना ठोंककर उसे सफलीभूत किया, क्योंकि उनके लिए सिद्धांत अमूल्य थे, राजनीति उनके लिए सफलता-विफलता का दर्पण नहीं थी। पंडितजी के इस जन्मशती वर्ष पर

नई संभावनाओं की ओर नई विदेश नीति

Continue Reading नई संभावनाओं की ओर नई विदेश नीति

  मोदी सरकार की व्यापक नीतियों, विश्व का राजनीतिक माहौल, वाशिंगटन की वर्तमान नीतिगत अस्पष्टता और बीजिंग के बढ़ते कद के बीच नई दिल्ली ने अपनी क्षेत्रीय और वैश्विक ताकत को भरपूर धार दी है। समान सोच वाले देशों की सहयोगी भावना भारत को विश्वसनीय क्षेत्र

कृषि को भी समुचित महत्व दें

Continue Reading कृषि को भी समुचित महत्व दें

सम्पूर्ण व्यावसायिक निर्यात की वैश्विक रैंकिंग में बुरी तरह से पिछड़ते हुए भारत का १९ वां स्थान है वहीं कृषि उत्पाद के निर्यात के मामले में आश्चर्यजनक रूप से छठा स्थान है। वित्तीय साक्षरता की ही भांति हर भारतीय के लिए कृषि का ज्ञान होना भी आवश्यक है।विगत व

कृषि विकास दर ४.१% रहने का अनुमान- राधामोहन सिंह

Continue Reading कृषि विकास दर ४.१% रहने का अनुमान- राधामोहन सिंह

२०१६ में अच्छे मानसून और सरकार की नीतिगत पहल के कारण देश में खाद्यान्न का रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है। वर्ष २०१६-१७ के लिए दूसरे अग्रिम आकलन के अनुसार देश में कुल २७१.९८ मिलियन टन खाद्यान्न उत्पादन का अनुमान लगाया गया है। केंद्र की भाजपानीत राजग सरकार पांच

कृषि क्षेत्र वृद्धि की ओर

Continue Reading कृषि क्षेत्र वृद्धि की ओर

बेहतर सड़क निर्माण, २००० किलोमीटर की तटीय संपर्क सड़क और भारत नेट के अंतर्गत १३०,००० पंचायतों को उच्च गति के ब्राडबैंड प्राप्त होने से निश्चित रूप से कृषि उत्पादों की मार्केटिंग में सुधार और बेहतर कीमतें मिलेंगी।   राज्य सरकार का कृषि क्षेत्र पर नए

गाड़ी बुला रही है…

Continue Reading गाड़ी बुला रही है…

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु के नेतृत्व में रेल मंत्रालय में तीन वर्ष की अल्पावधि में इतने सुधार किए हैं कि एक सुखद आश्चर्य होता है। इससे रेल सेवा कितनी लोकाभिमुख बन चुकी है, इस बात का भरोसा हो जाता है। देश तभी तरक्की कर सकता है जब वहां की जीवन रेखाएं-

धूएं से आजादी

Continue Reading धूएं से आजादी

हर घर को एलपीजी कनेक्शन देने वाली उज्ज्वला योजना महिलाओं को स्वच्छ तथा स्वस्थ पहचान देने के साथ ही धुआं रहित वातावरण, प्रदूषण में कमी और स्वच्छ जीवन देने में भी मील का पत्थर साबित हो रही है।     धुआं- धुआं होती रही जिंदगी.धुआं-धुआं उड़ती रह

पांच साल में राष्ट्रीय राजमार्ग दो लाख किमी होंगे

Continue Reading पांच साल में राष्ट्रीय राजमार्ग दो लाख किमी होंगे

एक्सप्रेस-वे बनने से देश का आर्थिक विकास गतिशील होगा। क्योंकि इन एक्सप्रेस-वे के कारण दूर का सफर जल्द तय होगा, इससे ईंधन और समय की बचत होगी। केन्द्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने तीन साल में सड़क को एक नई दिशा दी है। २०१४ मे

रोशन हो उत्तर प्रदेश

Continue Reading रोशन हो उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में अभी-अभी भाजपा की सरकार आयी है। प्रदेश शासन ने अपने अल्पकालीन शासन में ही विद्युत वितरण, उत्पादन तथा प्रबन्धन हेतु कारगर कदम उठाया है। जो बिजली की रोशनी से घर-घर जगमगाने की ओर बढ़ रही है। वर्तमान समय में हर क्षेत्र का कार्य बिजली पर आश्

निःशक्त व्यक्ति अधिकार विधेयक, २०१६ पारित

Continue Reading निःशक्त व्यक्ति अधिकार विधेयक, २०१६ पारित

दिव्यांग जनों के साथ भेदभाव को दंडनीय बनाने और संयुक्त राष्ट्र समझौते के अनुरूप ‘निःशक्त व्यक्ति अधिकार विधेयक, २०१६’ को संसद ने १६ दिसंबर को पारित कर दिया। इससे दिव्यांग जनों के लिए समाज में सम्माननीय स्थान बनाने में मदद मिलेगी। यही

विश्वगुरु हो भारतअपना

Continue Reading विश्वगुरु हो भारतअपना

भारत ईश्वर की प्रिय भारतभूमि है । इसलिए भारत का जीवितकार्य संभ्रमित विश्व का मार्गदर्शक अर्थात् गुरुहै। जहां स्वार्थ, स्पर्धा एवं लोभ का निर्माण होता है, अति भौतिकता प्रभावी होती है तो वहां ईश्वर प्रकट नहीं होता है। वर्तमान विश्व का परिदृश्य ऐसा है कि

End of content

No more pages to load