‘उत्तराखंड देवभूमि से विकास भूमि’-दीपावली विशेषांक -२०२१


हिंदी विवेक द्वारा प्रकाशित वर्ष २०२१ का दीपावली विशेषांक ‘उत्तराखंड देवभूमि से विकास भूमि’ विशेष तौर पर राज्य के विकास यात्रा पर आधारित है. साथ ही इसमें उत्तराखंड की धर्म, संस्कृति, समाज, अध्यात्म, भाषा, वेशभूषा, साहित्य, कला, गढ़वाली एवं कुमाउनी लोक संस्कृति और ऐतिहासिक विरासतों सहित शिक्षा, राजनीति, पर्यटन, विकास आदि विषयों पर विस्तार से प्रकाश डाला गया है.
संन्यास आश्रम के महामंडलेश्वर आचार्य स्वामी विश्वेश्वरानंद गिरि महाराज, महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी, उत्तराखंड के युवा मुख्य मंत्री पुष्कर सिंह धामी, कृषि मंत्री सुबोध उनियाल एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के साक्षात्कार ने हिंदी विवेक के दीपावली विशेषांक को समृद्धि प्रदान की है.
जीतेन्द्र अंथवाल, अर्णव नैथानी, डॉ. अंबिका प्रसाद गौड़, डॉ. शंकर सिंह काला एवं भीष्म कुकरेती सहित अनेक लेखकों ने उत्तराखंड के विविध विषयों और आयामों से पाठकों को परिचित कराया.
इसके अलावा कोरोनाकाल में भारत विकास परिषद, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, सांसद गोपाल शेट्टी, विधायक श्वेता महाले पाटिल के सेवाकार्यों एवं उनके उल्लेखनीय योगदान को रेखांकित किया गया है.
समसामयिक विषयों में ‘तालिबान पर भारत की कारगर नीति’, ‘भारत में आतंकवाद का पुनर्प्रवेश’, भारत बोध का अभ्युदय और वामपंथ का उखड़ता कुनबा’, ‘संघ प्रवाही है, अत: प्रासंगिक है’, ‘कोरोना के लाभ-हानि’, प्राचीन मंदिरों में विज्ञान, ‘मानव कल्याण के विचारों के संवाहक महर्षि अरविन्द’, ‘दान से बनी विद्या की राजधानी: काशी हिन्दू विश्वविद्यालय’, ‘गाय: भारतीय संस्कृति का प्रतीक’ जैसे अनेक प्रेरणादायी आलेख पाठकों को अपनी ओर आकर्षित करते हुए प्रतीत होते है. साहित्य जगत, बाल जगत, व्यंग्य, कहानी, कार्टून आदि विषय वस्तु इस विशेषांक की प्रमुख विशेषता है.

Loading...

आपकी प्रतिक्रिया...