एक कहानी के नोट्स

Continue Reading एक कहानी के नोट्स

;कदाचित प्यार, पेन की स्याही और दिए के तेल के समान होता है जो समय आने पर शनै: शनै: समाप्त हो जाता है। मनोहर अब तक इस बात से अनभिज्ञ था और जब उसे इस भूल का अहसास हुआ तो स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गई थी।’’ वह मुझे आज रास्ते में

राष्ट्रीय संत नामदेव

Continue Reading राष्ट्रीय संत नामदेव

नामदेव महाराष्ट्र के पहले ऐसे संत हैं जिन्होंने विट्ठल नाम भक्ति का परचम महाराष्ट्र से बाहर भी फहराया। गुजरात, राजस्थान होते हुए पंजाब तक पहुंच कर संत नामदेव ने जो भी कार्य किया उसे महान राष्ट्रीय कार्य ही कहा जा सकता है। सिक्खों के धर्मग्रंथ गुरु ग्रंथ स

शिक्षा का व्यवसायीकरण

Continue Reading शिक्षा का व्यवसायीकरण

कुकुरमुत्ते की तरह उग रहे सी.बी.एस.ई, आई. सी. एस ई, आई.बी. समेत तमाम माध्यमों के विद्यालयों और गैर सरकारी महाविद्यालयों की खेती के बीच एक यक्ष प्रश्न देश भर के बुद्धिजीवियों के दिल में लगातार बना हुआ है कि वर्तमान शिक्षा पद्धति देश समाज और नौनिहालों के लि

समाज में बढ़ता दुराचार

Continue Reading समाज में बढ़ता दुराचार

बलात्कार केवल पुरुष की अतृप्त यौन इच्छा की संतुष्टि ही नहीं है बल्कि यह स्त्री को बलहीन, मर्यादाहीन, शीलहीन और नेतृत्वहीन बनाकर पूरे स्त्री समाज को कमजोर दिखाने की कवायत है। ...इस अपराध से समाज को मुक्त करने के लिए राजनीतिक और सामाजिक दोनों तरह की इच्छाशक

उलटफेर भरी रही चैंपियंस ट्राफी

Continue Reading उलटफेर भरी रही चैंपियंस ट्राफी

ग्रुप ए में कई मजबूत टीमें थी और ऐसा माना जा रहा था कि यह ग्रुप ऑफ़ डेथ साबित होगा और अच्छा मुकाबला देखने को मिलेगा। इस ग्रुप से ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के सेमीफइनल में जाने के मौके ज्यादा दिख रहे थे। लेकिन जिस तरह से इस ग्रुप में उलटफेर हुआ,उसने सभी को आश

नमामि देवि नर्मदे

Continue Reading नमामि देवि नर्मदे

मध्यप्रदेश के १६ जिलों तथा ५१ विकास खण्डों से होती हुई १०७७ कि.मी. की नर्मदा सेवा यात्रा का १५ जून को अमरकंटक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में समापन हुआ। लगभग १५० दिनों तक नर्मदा तट पर चली यह यात्रा विश्व का सबसे बड़ा नदी संरक्षण अभियान था, ज

जनसंख्या वृद्धि एक हाइड्रोजन बम

Continue Reading जनसंख्या वृद्धि एक हाइड्रोजन बम

भारत में जनसंख्या वृद्धि की दर इतनी अधिक है कि अगले कुछ सालों में हम चीन को भी मात दे देंगे। मुस्लिम आबादी तो भारत समेत विश्वभर में बेहिसाब बढ़ रही है। इससे सम्पूर्ण देश के विकास और खुशहाली को ग्रहण लग गया है। अतः जनसंख्या नियंत्रण के लिए कड़े और कानूनी कदम

ऋतुओं की रानी बारिश

Continue Reading ऋतुओं की रानी बारिश

सूर्यदेवता के कोप से धरती जली जा रही थी। सूर्यदेवता आसमान में चढ़ते ही जा रहे थे। घरों और सड़कों पर मानो आग बरस रही थी। बिजली भी चली गई थी। पंखा झलने वाले हाथ थकने लगे थे। दोपहर की झपकी आखों से कोसों दूर थी। लू चल रही थीं। सडकें तवे के समान तप रही

खाड़ी में एक और गंभीर संकट

Continue Reading खाड़ी में एक और गंभीर संकट

  सऊदी अरब के नेतृत्व में कई अरब देशों ने कतर के साथ राजनीतिक सम्बंध तोड़ दिए हैं। ये पूरे देश अमेरिकी समर्थक रहे हैं। अतः इसे अमेरिकी लॉबी में फूट माना जा रहा है। इससे मध्यपूर्व में नए समीकरण बनेंगे। इसके परिणाम घातक ही होंगे। अप्रवासी भारतीयों के

सरकार की नीतियां और किसान आंदोलन

Continue Reading सरकार की नीतियां और किसान आंदोलन

अगर किसानों का आक्रोश शांत नहीं हुआ तो इसका असर अगले साल होने वाले विधान सभा चुनावों पर भी पड़ने के संकेत हैं। भाजपा सरकार को इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करने के साथ ही किसानों के हितों की चिंता करनी होगी तभी किसान खुश होगा और उसके सत्तासीन होने की भी उम

किसान आंदोलन के पीछे की राजनीति

Continue Reading किसान आंदोलन के पीछे की राजनीति

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने किसानों के सब से बड़े संगठन भारतीय किसान संघ से हुई बातचीत में किसानों की अधिकांश मांगों को मंजूर कर लिया था। इस पर संघ ने आंदोलन वापस ले लिया। फिर भी अपनी रोटियां सेंकने में लगे राजनीतिक तबकों ने बेवजह आंदोलन को हि

राजनीति में ‘विपक्ष’

Continue Reading राजनीति में ‘विपक्ष’

‘विपक्ष’ ने व्यक्ति विरोध से लेकर राष्ट्र विरोध तक का लंबा सफर तय कर लिया है। विरोध शब्द छोडकर शायद अब उनके शब्दकोश में कुछ भी बाकी नहीं रहा। ‘पक्ष’ चाहे जो भी करे, ‘विपक्ष’ को उसका विरोध ही करना है। राजनीति एक शतरं

End of content

No more pages to load