नारों से आगे नहीं बढ़ा स्वच्छता अभियान

Continue Reading नारों से आगे नहीं बढ़ा स्वच्छता अभियान

हम भारतीय केवल उत्साह, उन्माद और अतिरेक में स्वच्छता के नारे तो लगाते हैं, लेकिन जब व्यावहारिकता की बात आती है तो हमारे सामने दिल्ली के कूड़े के ढेर जैसे हालात होते हैं जहां गंदगी से ज्यादा सियासत प्रबल होती है। तीन साल से जारी स्वच्छ भारत अभियान का यही हाल फिलहाल दिख रहा है।

पर्यावरण के लिए संकल्पित ‘सीईटीपी’

Continue Reading पर्यावरण के लिए संकल्पित ‘सीईटीपी’

इस सीईटीपी की कुल क्षमता २७ एमएलडी है (१२ एमएलडी क्षमता का प्लांट १९९७ में स्थापित किया गया है और १५ एमएलडी प्लांट की अतिरिक्त क्षमता २००६ में परिचालित की गई।) यह केंद्र लगातार सभी निर्धारित मानदंडों को लगातार पूरा कर रहा है

स्वच्छता का महत्व तब और अब

Continue Reading स्वच्छता का महत्व तब और अब

बात चाहे नदियों के संरक्षण की हो, पर्यावरण की हो अथवा बरसात के पानी से अशुद्धियां निकाल कर जल आपूर्ति की, इन सब में आधुनिक भारत प्राचीन भारत से बहुत कुछ सीख सकता है।

हिंदू संस्कृति और पर्यावरण

Continue Reading हिंदू संस्कृति और पर्यावरण

हिंदुत्व में हर व्याधि का समाधान दे सकने वाली शक्ति और क्षमता है परंतु इसके लिए पहले हम हिंदुओं को उस जीवन दर्शन के अनुसार जीना होगा। दुनिया का पथ प्रदर्शन करना अतीत में भी हमारा पावन कर्तव्य रहा है और हर परिस्थिति में हमें वही कार्य करना है ताकि निकट भविष्य में विश्‍व पर्यावरण का संकट टाला जा सके।

आधुनिक ऋषि -श्री भिडे गुरुजी

Continue Reading आधुनिक ऋषि -श्री भिडे गुरुजी

भिडे गुरुजी महाराष्ट्र में निर्माण हुआ एक अजब रसायन है। अत्यंत तीव्र स्मरण शक्ति, अचंभित करने वाली बुद्धिमत्ता, शरीर में रोमांच पैदा करने वाली वक्तृत्व शक्ति, बला की सादगी एवं ८५ वर्ष की उम्र में भी बारहों माह चौबीसों घंटे चलने वाला अथक प्रवास- इसे क्या नाम दें? केवल आधुनिक ॠषि! राष्ट्रभक्ति, धर्मभक्ति, मातृभक्ति ये आदर्श आने वाली पीढ़ियों में उत्पन्न हो इसलिए ‘श्री शिवप्रतिष्ठान हिंदुस्थान’ के जरिए उनका समाज प्रबोधन-कार्य अतुल्य है।

प्लास्टिक और ई-कचरे का संकट

Continue Reading प्लास्टिक और ई-कचरे का संकट

नई-नई खोजों के साथ हमने प्लास्टिक और ई-उपकरणों की शृंखला खड़ी कर दी है; लेकिन इनसे उत्पन्न होने वाले कचरे के संकट का समाधान नहीं खोजा। यदि सृष्टि को बचाना है तो हमें इसका जवाब खोजना ही होगा।

सभी मावल्यांग से सबक लें

Continue Reading सभी मावल्यांग से सबक लें

: भारत-बांग्लादेश की सीमा के करीब बसा मेघालय का मावल्यांग गांव भारत ही नहीं, एशिया का सब से स्वच्छ गांव माना जाता है। देश के अन्य गांव भी इससे सबक लें तो गांवों में गंदगी का वर्तमान साम्राज्य ही खत्म होगा और तब भारत स्वच्छ होने में देर नहीं लगेगी।

गृहस्थी

Continue Reading गृहस्थी

आज तनुज की बेरुखी हार गई थी और घरवालों का प्यार जीत गया था... आखिर जैसा भी है लेकिन मेरे बच्चों का पिता है वो, और गृहस्थी में तो छोटे-मोटे झगड़े चलते ही रहते हैं। इसका मतलब ये तो नहीं न कि हम रिश्तों से पलायन ही कर जाए..

स्वच्छ भारत: अभियान नहीं, आदत बने

Continue Reading स्वच्छ भारत: अभियान नहीं, आदत बने

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी भारत स्वच्छ चाहते हैं। आप और हमें भी चाहिए। लेकिन घर के सामने आने वाली कचरा गाड़ी में कचरे की थैली डालने के अलावा और कुछ करने की हमारी इच्छा नहीं होती, न हम कुछ करने को तैयार होते हैं। यदि ऐसा ही रहे तो कैसा होगा भारत स्वच्छ? जनता जब तक आंतरिक मन से कार्योन्मुख नहीं होती तब तक यह सपना अधूरा ही रहेगा।

भटकाव की राह पर दलित राजनीति

Continue Reading भटकाव की राह पर दलित राजनीति

दलित राजनीति की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण प्रश्न है कि दलित आंदोलन जिस आंबेडकरवादी विचारधारा को लेकर चला क्या दलित राजनीति डॉ.आंबेडकर के उन्हीं विचारों और सिद्धांतों के रास्ते पर चली या उसकी दिशा में भटकाव दिखाई देता है? कहीं यह २०१९ के लोकसभा चुनाव में भाजपा को घेरने की रणनीति तो नहीं?

मोदी युग में पर्यावरण संरक्षण

Continue Reading मोदी युग में पर्यावरण संरक्षण

मोदी सरकार ग्रीन क्लीयरेंस, वनारोपण, स्वछता अभियान एवं गंगा सफाई पर पिछली सरकारों से काफी बेहतर काम कर रही है। औद्योगिकी प्रदूषण का मानकीकरण व उसकी निगरानी पहले से बेहतर हुई है। वर्ष २०१९ तक हर गांव, शहर, कस्बे को साफ रखना, टॉयलेट बनवाना, पीने के पानी की व्यवस्था तथा कचरा निस्तारण की व्यवस्था करना आदि का लक्ष्य रखा है।

शुचिता चिंतन

Continue Reading शुचिता चिंतन

अंतरात्मा की प्रेरणा का सबब कही जा सकने वाली स्वच्छ जीवन पद्धतियों का अनुसरण व मार्गदर्शन प्राप्त करने की दिशा में निरंतर प्रयासरत रहना ही सफल मानव जीवन का भाव है। जीवन के हर क्षेत्र में शुचिता के बिना यह संभव नहीं है।

End of content

No more pages to load