2023 आर्थिक दृष्टि से एक सुनहरा वर्ष साबित होगा

Continue Reading2023 आर्थिक दृष्टि से एक सुनहरा वर्ष साबित होगा

अब तो वैश्विक स्तर पर विभिन्न वित्तीय संस्थानों जैसे विश्व बैंक, अंतरराष्ट्रीय मॉनेटरी फंड, यूरोपीयन यूनियन, एशियाई विकास बैंक, आदि ने वर्ष 2023 में भारत को पूरे विश्व में सबसे तेज गति से आर्थिक प्रगति करने वाला देश बने रहने की सम्भावना पूर्व में ही व्यक्त कर दी है और…

उत्तर प्रदेश में बहेगी विकास और निवेश की गंगा 

Continue Readingउत्तर प्रदेश में बहेगी विकास और निवेश की गंगा 

वर्ष -2023 उत्तर प्रदेश के विकास और निवेश के लिए एक मील का पत्थर साबित होने जा रहा है । फरवरी में आयोजित होने जा रही  इन्वेस्टर्स समिट के माध्यम से इस वर्ष आने वाले अभूतपूर्व निवेश से जहाँ प्रदेश के युवाओं को विविध क्षेत्रों में रोजगार के नये अवसर …

प्रवासी भारतीय देश के आर्थिक विकास को दे रहे गति

Continue Readingप्रवासी भारतीय देश के आर्थिक विकास को दे रहे गति

अभी हाल ही में विश्व बैंक ने एक प्रतिवेदन जारी कर बताया है कि विदेशों में रह रहे भारतीयों द्वारा वर्ष 2022 में 10,000 करोड़ अमेरिकी डॉलर की राशि का  विप्रेषण  भारत में किए जाने की सम्भावना है जो पिछले वर्ष 2021 में किए गए 8,940 करोड़ अमेरिकी डॉलर के विप्रेषण की तुलना…

भारत की भूमिका के विस्तार का समय

Continue Readingभारत की भूमिका के विस्तार का समय

वर्ष 2022 कैसा था, उसे हम भुगत चुके है। परंतु नया साल भारत और शेष विश्व के लिए कैसा होगा? कुछ माह पहले तक विश्व कोविड-19 के प्रकोप से लगभग मुक्ति पा चुका था, किंतु इस महामारी के उद्गमस्थल चीन में पुन: कोरोना विस्फोट ने नववर्ष में दुनिया को फिर…

उत्तर प्रदेश : वैश्विक निवेशकों की पहली पसंद

Continue Readingउत्तर प्रदेश : वैश्विक निवेशकों की पहली पसंद

प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए रखा एक ट्रिलियन डॉलर का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। फरवरी -2023 में लखनऊ में आयोजित होने जा रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले ही प्रदेश को निवेश के प्रस्ताव मिलने प्रारंभ हो गए हैं। निवेशकों को आकर्षित करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री व कैबिनेट के अनेक मंत्री विदेशों का दौरा करने जा रहे हैं। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पूर्व अभी दिल्ली में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व भर के निवेशकों से यूपी की बदलती परिस्थितियों का लाभ उठाने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में विभिन्न देशों  के राजदूतों, उच्चायुक्तों, उद्यमियों और निवेशकों की उपस्थिति में प्रदेश के बदलते परिवेश को प्रस्तुत किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए नीतिगत बदलाव के साथ ढांचागत सुविधाओं में व्यापक सुधार किया जा रहा है। 

चुनौतियों के बीच जी-20 का नेतृत्व 

Continue Readingचुनौतियों के बीच जी-20 का नेतृत्व 

निरंतर गहराते भू-राजनीतिक तनाव, आर्थिक मंदी की आहट तथा बढ़ती ऊर्जा की कीमतें व ऊर्जा सप्लाई पर प्रतिबंधों जैसी चुनौतियों के बीच एक दिसंबर 2022 से भारत जी-20 की मेजबानी करने जा रहा है। वर्तमान में संपूर्ण विश्व दो ध्रुवों में बटकर संघर्षों की ओर अग्रसर है, परन्तु भारत किसी पक्ष में न होकर शांतिपूर्ण समाधान के लिये कूटनीतिक प्रयास व संवाद का पक्षधर रहा है।

ग्रामीण विकास के सहारे ही बनेगी ५ ट्रिलियन इकोनॉमी

Continue Readingग्रामीण विकास के सहारे ही बनेगी ५ ट्रिलियन इकोनॉमी

आज विश्व के लगभग सभी विकसित एवं विकासशील देश आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हैं। इन समस्त अर्थव्यवस्थाओं के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था को वैश्विक स्तर पर एक चमकते सितारे के रूप में देखा जा रहा है। भारतीय अर्थव्यवस्था में लगातार तेज गति से हो रहे सुधार के चलते आज भारत का नाम पूरे विश्व में बड़े ही आदर और विश्वास के साथ लिया जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक फण्ड एवं विश्व बैंक जैसी वित्तीय संस्थाएं भी भारतीय अर्थव्यवस्था में अपनी अपार श्रद्धा जता चुकी हैं। इन वित्तीय संस्थानों का कहना है कि भारत की ग्रामीण अर्थव्यवस्था का विकास बहुत ही मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है।

आर्थिक विकास : अगली पूरी सदी ही भारत की होगी

Continue Readingआर्थिक विकास : अगली पूरी सदी ही भारत की होगी

भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार वर्तमान स्तर 3.50 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर से बढ़कर वर्ष 2031 तक 7.5 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर के स्तर पर पहुंच जाएगा और इस प्रकार भारतीय अर्थव्यवस्था अमेरिका एवं चीन के बाद  विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होगी। इसी प्रकार, भारत का पूंजी बाजार भी अपने वर्तमान स्तर 3.5 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर पर 11 प्रतिशत की, चक्रवृद्धि की दर से, वार्षिक वृद्धि दर्ज करते हुए अगले 10 वर्षों में 10 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर के स्तर पर पहुंच जाएगा। भारत में घरेलू मांग के लगातार मजबूत होने से एवं भारत में डिजिटल  क्रांति के कारण भारतीय नागरिकों की आय में बहुत अधिक वृद्धि होने की सम्भावना के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास का पांचवा हिस्सा भारत से निकलेगा, ऐसी सम्भावना व्यक्त की जा रही है।

जनजाति समाज के लिए आर्थिक विकास की योजनाएं

Continue Readingजनजाति समाज के लिए आर्थिक विकास की योजनाएं

केंद्र सरकार द्वारा जनजाति समाज को केंद्र में रखकर उनके लाभार्थ चलाई जा रही विभिन योजनाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से एक विशेष पोर्टल का निर्माण किया है। जिसकी लिंक है - भारत सरकार का राष्ट्रीय पोर्टल https://www.इंडिया.सरकार.भारत/ - इस लिंक को क्लिक करने के बाद “खोजें” के बॉक्स में जनजाति समाज को दी जाने वाली सुविधाएं टाइप करने से, भारत सरकार द्वारा प्रदान की जा रही विभिन्न सुविधाओं की सूची निकल आएगी एवं इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए उपयोग किए जाने वाले प्रपत्रों की सूची भी डाउनलोड की जा सकती है।

मार्केट और मार्केटिंग में बदलाव

Continue Readingमार्केट और मार्केटिंग में बदलाव

दुनिया बदली तो दुनियादार भी बदल गए। पहले बगैर प्रचार के भी दुनिया चल ही रही थी। लोग मजे से खा, पी, घूम फिर रहे थे। लोगबाग भी सीधे सादे थे न उन्हें खाने पीने के लिए प्रचार की जरूरत थी न जाने आने के लिए। घर के खाने या फिर घर लाकर खाने में ही विश्वास करता था तब का व्यक्ति। दो जोड़ी कपड़ों में साल भर निकाल देता था।

नव-निर्माण के मंत्रद्रष्टा योगी आदित्यनाथ 

Continue Readingनव-निर्माण के मंत्रद्रष्टा योगी आदित्यनाथ 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में हर क्षेत्र में 'नए भारत का नया उत्तर प्रदेश' नव-निर्माण की स्वर्णिम पटकथा लिख रहा रहा है। वह यह भी कहते हैं कि 'सबका साथ-सबका विकास' का ध्येय लिए यह डबल इंजन की भाजपा सरकार है, जो कहेगी, वह करेगी। वह कहते हैं कि मातृशक्ति को 'अपने सदन' से 'संवैधानिक सदन' तक सम्मान, सुरक्षा, सहयोग व पूर्ण अवसर प्रदान करती उत्तर प्रदेश सरकार के युगांतरकारी 180 दिन 'सुशासन' के उत्कृष्ट मानक हैं। प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में 'नया उत्तर प्रदेश' देश की 'आधी आबादी' का 'ड्रीम डेस्टिनेशन' बनने की ओर बढ़ चला है। नि:संदेह उत्तर प्रदेश में योगी श्री आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री का पदभार ग्रहण करने के पश्चात राज्य में विकास कार्यों की गंगा बहा दी है।

पीताम्बरी के प्रभुदेसाई को ‘उद्योगरत्न’ पुरस्कार

Continue Readingपीताम्बरी के प्रभुदेसाई को ‘उद्योगरत्न’ पुरस्कार

पुणे. पीताम्बरी प्रोडक्ट्स प्रा. लि. के व्यवस्थापकीय संचालक रविन्द्र प्रभुदेसाई को ब्राह्मण जागृति सेवा संघ द्वारा ‘दाजीकाका गाडगील उद्योगरत्न’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. हाल ही में हुए एक समारोह के दौरान राज्यसभा के सांसद एवं भारतीय सांस्कृतिक परिषद् के अध्यक्ष डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे के हाथों उन्हें गौरवान्वित किया गया.

End of content

No more pages to load